ताज़ा खबर
 

रफाल सौदे पर बचाव में केंद्रीय मंत्री का गलत दावा? 2013 में संसद में लगे थे ‘प्रधानमंत्री चोर है’ के नारे

कानून मंत्री शायद 2013 का वह दौर भूल गए जब संसद ने तत्‍कालीन प्रधानमंत्री मनमोहन सिंह को 'चोर' कहा गया था। 30 अगस्‍त 2013 को सदन में मनमोहन ने विपक्ष से 'थोड़ा सम्‍मान' देने की बात कही थी।

rafale, ravishankar prasadप्रेस कॉन्‍फ्रेंस के बाद कानून मंत्री रविशंकर प्रसाद। (Photo : PTI)

राफेल मामले पर राहुल गांधी द्वारा प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी पर निशाना साधे जाने के बाद कानून मंत्री रविशंकर प्रसाद ने शनिवार (22 सितंबर) को प्रेस कॉन्‍फ्रेंस की। राहुल ने कहा था कि फ्रांस के पूर्व राष्ट्रपति फ्रांस्वा ओलांद ने राफेल सौदे के संदर्भ में मोदी को ‘चोर’ कहा है। इसका प्रधानमंत्री को जवाब देना चाहिए। कांग्रेस अध्‍यक्ष के जवाब में प्रसाद ने कहा कि गैर जिम्मेदाराना, आधारहीन और लापरवाही वाला बयान उस (गांधी-नेहरू) परिवार की ओर से आया है, जो नेशनल हेराल्ड मामले में जमानत पर बाहर हैं और देश में सारे भ्रष्टाचार की जड़ हैं। प्रसाद ने दावा किया कि ‘आजाद भारत के इतिहास में पहले ऐसा कभी नहीं हुआ कि किसी पार्टी के अध्‍यक्ष ने प्रधानमंत्री के लिए ऐसे शब्‍दों का प्रयोग किया हो। हम राहुल गांधी से और कोई उम्‍मीद नहीं कर सकते।’

देश के कानून मंत्री शायद 2013 का वह दौर भूल गए जब संसद ने तत्‍कालीन प्रधानमंत्री मनमोहन सिंह को ‘चोर’ कहा गया था। 30 अगस्‍त 2013 को सदन में मनमोहन ने विपक्ष से ‘थोड़ा सम्‍मान’ देने की बात कही थी। मनमोहन ने कहा था, ”क्‍या आपने किसी ऐसे देश के बारे में सुना है जहां सांसद सदन के वेल तक आकर चिल्‍लाकर कहते हों ‘प्रधानमंत्री चोर है’। भले ही कुछ सदस्‍य कुछ भी कहें, मैं मंत्रिपरिषद में थोड़े सम्‍मान का अधिकारी हूं।” 2013 में तत्‍कालीन यूपीए सरकार घोटालों और खरीद-फरोख्‍त के आरोपों में घिरी थी और भाजपा के नेतृत्‍व में तब का विपक्ष संसद से लेकर सड़क तक लगातार मनमोहन पर हमले कर रहा था।

संसद में मनमोहन का भाषण:

राहुल गांधी ने रफाल सौदे की जांच संसद की संयुक्‍त समिति (जेपीसी) से कराने की मांग रखी थी जिसे कानून मंत्री ने खारिज कर दिया। प्रसाद ने कहा, ‘जेपीसी जांच एक अज्ञानी और घमंडी नेता के अहंकार को संतुष्ट नहीं करेगी’ उन्होंने कहा, “जिन्होंने देश में भ्रष्टाचार का उन्मूलन किया है, ऐसे प्रधानमंत्री के खिलाफ बयान देकर, राहुल ने अपने चेहरे पर कालिख पोती है।”

प्रसाद ने कहा, “राहुल गांधी का बयान पूरी तरह से गैर जिम्मेदाराना है। वह राफेल की कीमत और अन्य चीजों का खुलासा कर पाकिस्तान और चीन के हाथों में खेल रहे हैं। इससे हमारे दुश्मनों को मदद मिलेगी। राहुल गांधी पाकिस्तान की मदद करने की कोशिश कर रहे हैं।”

Hindi News के लिए हमारे साथ फेसबुक, ट्विटर, लिंक्डइन, टेलीग्राम पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News AppOnline game में रुचि है तो यहां क्‍लिक कर सकते हैं।

Next Stories
1 कश्‍मीर: गांव के इकलौते हिन्‍दू परिवार के बेटे को आतंकियों ने मारा, अंतिम संस्‍कार में उमड़ आया पूरा गांव
2 ओलोंद के बयान पर सरकार ने कहा- राफेल डील के लिए साझेदार के चयन में नहीं कोई भूमिका
3 राफेल सौदे में रिलायंस की साझेदारी पर भारत ने दबाव डाला था? ओलांद बोले- मुझे नहीं पता
IPL 2020
X