ताज़ा खबर
 

कोर्ट गया तो क‍ितना ठहर पाएगा 10 फीसदी कोटा?

Reservation Quota Latest Video in Hindi, EWS Reservation Bill Video: ऊंची जात‍ियों के गरीब लोगों को आरक्षण का कानून संसद से पार‍ित हो गया है। अब राष्‍ट्रपत‍ि के दस्‍तखत के बाद यह अमल में आ जाएगा। पर, अभी इसके अदालती पचड़े में फंसने की आशंका बनी हुई है।

Author Updated: January 10, 2019 7:22 PM
आरक्षण को लेकर मोदी सरकार की क्या है नीयत और नीति? जानिए इस लेख में।

आज नेता आरक्षण को वोट की फसल काटने के ल‍िए बीज के तौर पर इस्‍तेमाल कर रहे हैं। मोदी सरकार की पहल का भी असल मकसद यही है। ब‍िल लाने के अगले ही द‍िन अपनी सभाओं में प्रधानमंत्री ने इसका प्रमुखता से ज‍िक्र कर यह साब‍ित कर द‍िया है क‍ि सरकार ने अपनी पार्टी को चुनाव में भुनाने के ल‍िए एक बड़ा मुद्दा दे द‍िया है। चुनावी मलाई पाने के खयाल से ही कोई नेता 90 फीसदी तक आरक्षण की मांग कर रहा है तो कोई कह रहा है क‍ि प्राइवेट सेक्‍टर की नौकर‍ियों में भी 60 फीसदी आरक्षण हो। लेक‍िन, सच यह है क‍ि आज समस्‍या उस स्‍तर से आगेे न‍िकल गई है, जहां आरक्षण से समाधान न‍िकल सके।

हल तब न‍िकलेगा जब ज्‍यादा से ज्‍यादा रोजगार के अवसर या नौकर‍ियां पैदा हों और युवाओं को वे अवसर पाने लायक बनाया जाए। आरक्षण के बजाय हम जरूरतमंदों को ऐसी सुव‍िधाएं दे सकते हैं, ज‍िनसे वह योग्‍यता के आधार पर नौकरी ले सके। उन्‍हें पढ़ाई में आर्थि‍क मदद दी जा सकती है। सरकारी श‍िक्षण संस्‍थानों में पुख्‍ता पढ़ाई की व्‍यवस्‍था की जाए। अगर ऐसा नहीं हुआ तो गरीब पढ़ ही नहीं पाएगा। फ‍िर आरक्षण का फायदा कहांं से ले पाएगा? क‍िसी तरह फायदा पाने लायक बन भी गया तो नौकर‍ियां ही नहीं होंगी।

नीयत: सरकार कह रही क‍ि आर्थ‍िक रूप से प‍िछड़े सवर्ण लोगों को मुख्‍यधारा में लाने की नीयत है। पर व‍िपक्ष कह रहा क‍ि चुनावी फायदा पाना मकसद है।

नीत‍ि: पूर्व जस्‍ट‍िस अहमदी ने भी कहा है क‍ि मोदी सरकार का फैसला सुप्रीम कोर्ट के न‍िर्णय की भावनाओं के ह‍िसाब से नहीं है। संवैधान‍िक व्‍यवस्‍था के मुताब‍िक आरक्षण दो बातों पर न‍िर्भर है- समानता का स‍िद्धांत और प‍िछड़ापन।

Hindi News से जुड़े अपडेट और व्‍यूज लगातार हासिल करने के लिए हमारे साथ फेसबुक पेज और ट्विटर हैंडल के साथ लिंक्डइन पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News App

Next Stories
1 CBI प्रमुख का पद संभालने के बाद आलोक वर्मा ने पहले ट्रांसफर रोके और अब किए तबादले
2 CBI मुख्‍यालय जाकर आलोक वर्मा से मिले बीजेपी सांसद, पीएम नरेंद्र मोदी को दी यह सलाह
3 शिवसेना ने मोदी सरकार से पूछा- आरक्षण तो दे दिया, नौकरियां कहां हैं?