ताज़ा खबर
 

‘RIL के कहने पर PM ने बनाए ये कानून’, किसान आंदोलन में पहुंचीं ऐक्ट्रेस सोनिया मान ने कहा- नोटिसों से डर नहीं लगता

उन्होंने कहा, "यहां तो लोगों को यह नहीं पता है कि लाल मिर्च और हरी मिर्च एक ही पेड़ से निकलती हैं, वे लोग हमें बताएंगे कि कानून हमारे लिए सही है कि नहीं है। यह कानून सही नहीं है और हमें इसे रद्द करवाकर ही जाएंगे।"

Farmer's Movementपंजाबी अभिनेत्री सोनिया मान मंगलवार को किसानों के आंदोलन को समर्थन देने के लिए दिल्ली पहुंचीं। (फोटो- पीटीआई)

केंद्र के तीन कृषि कानूनों को लेकर पिछले करीब पौने दो महीने से दिल्ली की सीमाओं पर आंदोलन कर रहे किसानों के बीच कई बड़े सेलीब्रिटी भी समर्थन देने के लिए पहुंच रही हैं। मंगलवार को पंजाबी अभिनेत्री सोनिया मान भी किसानों के बीच पहुंची और कहा कि वे इन कानूनों को वापस कराकर ही जाएंगी।

इस दौरान वहां पर न्यूज 24 के एंकर राजीव रंजन से बात करते हुए सोनिया मान ने कहा कि “हमें नोटिसों से डर नहीं लगता है, जब तक हमारा किसान आंदोलन चलेगा, हम साथ देंगे और बिल वापस कराकर ही जाएंगे। यह कानून मोदी जी ने रिलायंस के कहने पर बनाया था, उनका जो जियो रिटेलर बना था 2009 में उसके लिए बनाया था।”

जब उनसे कहा गया है कि ऐसा आपका मानना है तो उन्होंने कहा, “यह सभी का मानना है। कहा कि पीछे पेरिस में जो मीटिंग हुई थी, उससे जुड़ा है। यह कानून हमारे लिए नहीं सही है और न ही हमें कांट्रैक्ट फार्मिंग करनी है। किसानों से ज्यादा कौन जान सकता है कि उनके लिए क्या सही है और क्या गलत है।”

उन्होंने कहा, “यहां तो लोगों को यह नहीं पता है कि लाल मिर्च और हरी मिर्च एक ही पेड़ से निकलती हैं, वे लोग हमें बताएंगे कि कानून हमारे लिए सही है कि नहीं है। यह कानून सही नहीं है और हमें इसे रद्द करवाकर ही जाएंगे। जिस तरह से इंडिया में पहले से किसानी चल रही है और काम हो रहा है, हमें वही चाहिए। हमें नहीं चाहिए कॉरपोरेट सेक्टर के कानून आरएसएस वाले, आरएसएस वाले अंग्रेजों से कम नहीं हैं। बहुत समय पहले जब लाला लाजपत राय थे, तब भी ऐसे कानून बने थे कॉट्रैक्ट खेती वाले कानून, तब भी आंदोलन हुए थे और अंग्रेजों को वापस लेने पड़े ऐसे कानून।”

यह पूछने पर कि आप बीजेपी और आरएसएस वालों से नाराज हैं, इसलिए विरोध कर रही हैं, उन्होंने कहा, “बीजेपी और आरएसएस वाले हमें कभी टेररिस्ट कहते हैं और कभी खालिस्तानी, जबकि ये लोग तो स्वयं हमारे साथ टेररिस्ट जैसे व्यवहार करते हैं। कभी हमारे बुजुर्गों के ऊपर आंसू गैस के गोले छोड़ देते हैं तो कभी ठंडा पानी डालते हैं और कभी सड़क पर गड्ढे खोद देते हैं।”

जब उन्हें बताया गया कि पंजाब के किसानों के ट्रैक्टर पर म्युजिक सिस्टम लगे होते हैं, तो उन्होंने कहा, “किसान कमाते हैं तो अपने ट्रैक्टर पर म्युजिक सिस्टम लगाते हैं।” कहा कि “क्या हमने पूछा कि अंबानी के पास इतने पैसे कहां से आए, मोदी जी इतने बड़े प्लेन ले रहे हैं, वे पैसे कहां से आए?”

Next Stories
1 बंगाल में कांग्रेस का कद बहुत कम, हम क्यों जाएं उनके साथ? अपने दम पर BJP से लें लोहा- बोले TMC नेता
2 PM का पुराना VIDEO शेयर कर बोले प्रशांत भूषण- मानना पड़ेगा नरेंद्र मोदी और अर्नब गोस्वामी में सेटिंग जबरदस्त है…
3 आंदोलनरत किसानों को India TV के रजत शर्मा ने दी ये सलाह, ट्रोल
ये पढ़ा क्या?
X