ताज़ा खबर
 

पंजाब के अबोहर में मिले 8 गायों के अवशेष, इलाके में तनाव

सूचना पर गोशाला से एक दस्ता मौके पर पहुंचा, जहां उन्हें गायों के अवशेष गंभीर हालत में मिले। बाद में इस बारे में पुलिस को जानकारी दी गई।

प्रतीकात्मक चित्र

पंजाब के फाजिल्का जिला स्थित अबोहर में आठ गायों के अवशेष मिले हैं। रविवार (12 अगस्त) को मलौत इलाके के नजदीक ये अवशेष पाए गए, जिसके बाद वहां तनाव का माहौल पनप गया। मीडिया रिपोर्ट्स के मुताबिक, शनिवार (11 अगस्त) रात एक अज्ञात ट्रक ड्राइवर ने इन अवशेष को यहां फेंका था। अगली सुबह स्थानीय लोगों की उस पर नजर पड़ी, तो उन्होंने इस बारे में दौलतपुरा स्थित कृष्ण गौ सेवा को बताया।

अवशेष का होगा पोस्टमार्टमः सूचना पर गोशाला से एक दस्ता मौके पर पहुंचा, जहां उन्हें गायों के अवशेष गंभीर हालत में मिले। बाद में इस बारे में पुलिस को जानकारी दी गई। फाजिल्का एसएसपी गुरलीन सिंह खुराना के नेतृत्व में पुलिस के वरिष्ठ अधिकारियों की एक टीम आगे घटनास्थल पर गई, जहां जांच-पड़ताल शुरू की गई। वहीं, गायों के अवशेष पोस्टमार्टम के लिए भेजे गए हैं।

हिंदू संगठनों ने उठाई ये मांगः गोविंदगढ़ लिंक रोड पर पड़े गायों के अवशेष पर कुछ लोगों की निगाह पड़ी थी। गड़बड़ी का शक होने के बाद फौरन उन्होंने इस बारे में पुलिस व अन्य लोगों को बताया था, जिसके बाद यह खबर इलाके में आग की तरह फैल गई। आसपास रहने वाले लोग और हिंदू संगठनों के कार्यकर्ता मामले की सूचना पर घटनास्थल पर पहुंचे। वे गायों के साथ ऐसा करने वालों की गिरफ्तारी की मांग कर रहे थे।

HOT DEALS
  • Apple iPhone 6 32 GB Gold
    ₹ 25900 MRP ₹ 29500 -12%
    ₹0 Cashback
  • Moto G6 Deep Indigo (64 GB)
    ₹ 15803 MRP ₹ 19999 -21%
    ₹1500 Cashback

दम घुटने से हुई मौत?: गायों के अवशेष इसके बाद दौलतपुरा गोशाला ले जाए गए, जबकि पशुपालन विभाग के उप निदेशक डॉ.राजेंद्र बंसल की अगुवाई में एक टीम को अवशेषों की पोस्टमार्टम के बाद होने वाली जांच के लिए गठित किया गया है। एसएसपी ने बताया, “शुरुआती स्तर पर ऐसा लगता है कि पशुओं की मौत घुटन के कारण हुई, लेकिन शव परीक्षण रिपोर्ट के जरिए ही उनकी मृत्यु का असल कारण सामने आ सकेगा।” पुलिस ने इसके साथ ही अज्ञात के खिलाफ मामला दर्ज कर लिया और जांच शुरू कर दी है।

Hindi News से जुड़े अपडेट और व्‍यूज लगातार हासिल करने के लिए हमारे साथ फेसबुक पेज और ट्विटर हैंडल के साथ गूगल प्लस पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News App