ताज़ा खबर
 

पंजाबः अपने ही सांसदों के खिलाफ Congress, ऐक्शन के लिए सोनिया के पास खत; जहरीली शराब से मौतों पर दिए थे बयान

बकौल दूलो, "सरकार को चाहिए कि जिन गरीब लोगों की ज़हरीली शराब पीने से मौत हुई है उन्हें करीब 10-15 लाख रुपए मुआवजा दे। 2 लाख रुपए से इन गरीब लोगों का क्या होगा?" उनके मुताबिक, सरकार ने जिस SIT का गठन किया है उसका हेड तो खुद शराब बेचता रहा है।

Author Edited By अभिषेक गुप्ता अमृतसर/नई दिल्ली | Updated: August 4, 2020 8:58 PM
Punjab Hooch Tragedy, Hooch Tragedy, Congressपंजाब में जहरीली शराब पीने से 100 से अधिक लोगों की जान चली गई थी, जिस पर अब सियासत तेज हो गई है। (फाइल फोटोः एजेंसी)

पंजाब में शराब त्रासदी पर बयान देने को लेकर पंजाब Congress ने अपने ही दो सांसदों के खिलाफ मोर्चा खोल दिया है। मंगलवार को सूबे में कांग्रेस कमेटी अध्यक्ष सुनील जाखड़ ने समाचार एजेंसी ANI को बताया, “मेरा मानना है कि कांग्रेस ऐसे सदस्यों को नहीं स्वीकार सकती, जो पोषित किए जाने के बाद भी पालन-पोषण करने वाले का हाथ काटने का प्रयास कर रहे हों। उन्होंने अपनी ही सरकार के खिलाफ राज्यपाल के पास जाकर सीबीआई और ईडी के पास जांच कराने की मांग उठाकर ‘लक्ष्मण रेखा’ पार कर दी है।”

उनके अनुसार, “मैंने कांग्रेस अध्यक्ष सोनिया को इस बारे में खत लिखा है। कहा है कि इस तरह की घटना दोहराई नहीं जानी चाहिए और इनके (राज्यसभा सांसद प्रताप सिंह बाजवा और शमशेर सिंह दूलो) खिलाफ उपयुक्त कार्रवाई की जानी चाहिए।”

जाखड़ ने यह भी कहा, “पंजाब में नकली शराब पीने से जो 110 मौतें हुई हैं, वह बेहद निंदनीय है। मैं मृतकों के परिवारों के प्रति सहानुभूति रखता हूं। उन परिवारों को आश्वासन देता हूं कि अपराधियों को सख़्त से सख़्त सजा दी जाएगी।”

दरअसल, दूलो ने कहा था, “पंजाब में जब 6 डिस्टिलरीज पकड़ी गई थीं, तब मैंने कार्रवाई के लिए CM को पत्र लिखा था। सोनिया गांधी, राहुल गांधी और मनमोहन सिंह को भी पत्र लिखकर पंजाब में नकली शराब के बारे में सूचना दी थी पर कोई कार्रवाई नहीं की गई।”

बकौल दूलो, “सरकार को चाहिए कि जिन गरीब लोगों की ज़हरीली शराब पीने से मौत हुई है उन्हें करीब 10-15 लाख रुपए मुआवजा दे। 2 लाख रुपए से इन गरीब लोगों का क्या होगा?” उनके मुताबिक, सरकार ने जिस SIT का गठन किया है उसका हेड तो खुद शराब बेचता रहा है।

जहरीली शराब कांड में 12 और गिरफ्तारः पंजाब में 100 से अधिक लोगों की जान ले चुकी जहरीली शराब त्रासदी के सिलसिले में पुलिस ने दो उद्योगपतियों सहित 12 और लोगों को गिरफ्तार किया है। लुधियाना के पेंट कारोबारी राजेश जोशी की तलाश जारी है। जोशी ने ही शुरुआत में शराब के तीन ड्रम की आपूर्ति की थी, जिसे पीकर लोगों की मौत का यह त्रासद सिलसिला शुरू हुआ।

CM बोले- किसी को बख्शा नहीं जाना चाहिएः एक बयान के अनुसार, मुख्यमंत्री अमरिंदर सिंह ने पुलिस महानिदेशक दिनकर गुप्ता को निर्देश दिया है कि वह इस मामले से जुड़े प्रत्येक व्यक्ति को गिरफ्तार करें और सुनिश्चित करें कि उन्हें कड़ी से कड़ी सजा मिले। सिंह ने कहा, ‘‘किसी को बख्शा नहीं जाना चाहिए।’’ पुलिस ने इस सिलसिले में अभी तक राज्य में अवैध शराब का धंधा करने वाले पांच माफिया सहित 37 लोगों को गिरफ्तार किया है। पुलिस प्रमुख ने बताया कि जोशी सहित आठ अन्य आरोपियों की गिरफ्तारी के भी प्रयास जारी हैं। उन सभी की पहचान हो गई है।

सनी देओल ने उठाई निष्पक्ष जांच की मांग: इस बीच, गुरदासपुर से भाजपा सांसद और अभिनेता सनी देओल ने सोमवार को जहरीली शराब त्रासदी मामले में निष्पक्ष जांच की मांग की। मुख्यमंत्री अमरिंदर सिंह को लिखे पत्र में देओल ने कहा कि देश का प्रत्येक व्यक्ति इस त्रासदी को लेकर उदास एवं चिंतित है। मीडिया में आई खबरों का हवाला देते हुए उन्होंने दावा किया कि त्रासदी का माफिया लंबे समय से बटाला में अवैध कारोबार कर रहा है। देओल ने कहा, ” यह मानना काफी मुश्किल है कि बिना जिला प्रशासन की जानकारी अथवा ताकतवर नेताओं के संरक्षण के बिना संचालन किया जा रहा था।”

Hindi News के लिए हमारे साथ फेसबुक, ट्विटर, लिंक्डइन, टेलीग्राम पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News AppOnline game में रुचि है तो यहां क्‍लिक कर सकते हैं।

Next Stories
1 नेपाल के बाद अब PAK ने जारी किया नया नक्शा, लद्दाख-सियाचिन और जूनागढ़ को बताया अपना हिस्सा
2 बनने के बाद कुछ ऐसा दिखेगा अयोध्या का Ram Mandir, प्रस्तावित मॉडल की तस्वीरें जारी, क्या कुछ होगा खास? जानें
3 COVID-19 से हुई कुल मौतों में से 68% पुरुषों और 32% महिलाओं की मौत, 50% मृत्यु 60 या उससे अधिक से उम्र वालों की
ये पढ़ा क्या?
X