कैप्टन पर नवजोत सिंह सिद्धू का पलटवार, बताया सबसे खराब CM; याद दिलाया- पिछली बार जब बनाई थी पार्टी तो मिले थे मात्र 856 वोट

सिद्धू ने कैप्टन पर निशाना साधते हुए कहा कि पंजाब के राजनीतिक इतिहास में आपको एक जयचंद के रूप में याद किया जाएगा। आप वास्तव में एक दगा हुआ कारतूस हैं।

Navjot Singh Sidhu
सिद्धू ने ट्वीट कर कहा कि आप मेरे लिए दरवाजे बंद करना चाहते थे, क्योंकि मैं लोगों की आवाज उठा रहा था, सत्ता से सच बोल रहा था! (Express Photos)

पंजाब की सियासत में इस समय सबसे ज्यादा चर्चा पूर्व सीएम कैप्टन अमरिंदर सिंह और पंजाब कांग्रेस के अध्यक्ष नवजोत सिंह सिद्धू की जुबानी जंग की है। ताजा मामला सिद्धू के पलटवार का है, जिसमें उन्होंने कैप्टन को सबसे खराब सीएम बताया है।

सिद्धू ने ट्वीट कर कहा कि आप मेरे लिए दरवाजे बंद करना चाहते थे, क्योंकि मैं लोगों की आवाज उठा रहा था, सत्ता से सच बोल रहा था! पिछली बार जब आपने पार्टी बनाई थी, तो आप अपना बैलेट हार गए थे, केवल 856 वोट मिले थे। पंजाब के लोग फिर से पंजाब के हितों से समझौता करने के लिए आपको सजा देने का इंतजार कर रहे हैं।

सिद्धू ने कैप्टन पर निशाना साधते हुए ये भी कहा कि पंजाब के राजनीतिक इतिहास में आपको एक जयचंद के रूप में याद किया जाएगा। आप वास्तव में एक दगा हुआ कारतूस हैं।

सिद्धू ने कहा कि विधायक आपके खिलाफ क्यों थे? आप बस मुझे हराना चाहते हो, क्या आपने कभी पंजाब को जीतना चाहा है? बादल और भाजपा के साथ आपके 75/25 सौदे बिल्कुल स्पष्ट हैं। आपने खुद को बचाने के लिए पंजाब के हितों को बेच दिया। आप पंजाब के न्याय और विकास को रोकने वाली नकारात्मक शक्ति थे।

इससे पहले सिद्धू ने कहा कि हम कांग्रेस के 78 विधायक, कभी सोच भी नहीं सकते थे कि हमें क्या मिला। ईडी ने पंजाब के भाजपा के वफादार मुख्यमंत्री को नियंत्रित किया, जिसने अपनी चमड़ी बचाने के लिए पंजाब के हितों को बेच दिया! आप पंजाब के न्याय और विकास को रोकने वाली नकारात्मक शक्ति थे।

वहीं खुद के खिलाफ सिद्धू के ट्वीट पर कैप्टन अमरिंदर सिंह ने कहा, ‘वह (सिद्धू) ज्यादा बोलते हैं, उन्हें कुछ पता नहीं है, उनके पास दिमाग नहीं है। मैंने कभी अमित शाह और ढिंढसा से इन मुद्दों पर बात नहीं की, लेकिन अब करूंगा। मैं कांग्रेस, एसएडी और आप के खिलाफ मजबूत होना चाहता हूं। मैं इनसे बात करूंगा। हम मिलकर इन्हें हराने के लिए यूनाइटेड फ्रंट बनाएंगे।

पढें राष्ट्रीय समाचार (National News). हिंदी समाचार (Hindi News) के लिए डाउनलोड करें Hindi News App. ताजा खबरों (Latest News) के लिए फेसबुक ट्विटर टेलीग्राम पर जुड़ें।

Next Story
आरटीआइ के तहत सूचना मांगने की वजह बताएं: मद्रास हाई कोर्ट1975 LN Mishra Murder Case