ताज़ा खबर
 

पंजाब सीएम ने मोदी सरकार से कहा- नदियों का पानी पाकिस्‍तान जाने से रोकिए

सिंह ने कहा कि उन्होंने केंद्रीय जल संसाधन मंत्री नितिन गडकरी को खत लिखकर सुझाव दिया है कि पाकिस्तान की तरफ पानी के बहाव पर लगाम लगाने के लिये अतिरिक्त पानी का हिमाचल के बांधों में भंडारण किया जाए।

पंजाब के मुख्‍यमंत्री कैप्‍टन अमरिंदर सिंह। (Express Photo by Kamleshwar Singh)

पंजाब के मुख्यमंत्री कैप्टन अमरिंदर सिंह ने केंद्र से अनुरोध किया कि वह रावी और ब्यास नदियों के पानी का अधिकतम इस्तेमाल सुनिश्चित करे और सुझाव दिया कि विशेषज्ञों का ऐसा समूह बनाया जाए जो राज्य का पानी पाकिस्तान जाने से रोकने के उपाय बताए। यहां मीडिया के सवालों का जवाब देते हुये मुख्यमंत्री ने कहा कि उन्हें इस मुद्दे पर अब तक कथित तौर पर अपने हरियाणा के समकक्ष मनोहर लाल खट्टर द्वारा लिखा खत नहीं मिला है लेकिन सरकार राज्य के लिये ज्यादा पानी सुरक्षित करने को हर संभव कदम उठाएगी।

पिघलती बर्फ की वजह से रावी, ब्यास और सतलुज नदियों का जलस्तर बढ़ने से उनका पानी पाकिस्तान जाने का जिक्र करते हुए सिंह ने कहा कि उन्होंने केंद्रीय जल संसाधन मंत्री नितिन गडकरी को खत लिखकर सुझाव दिया है कि पाकिस्तान की तरफ पानी के बहाव पर लगाम लगाने के लिये अतिरिक्त पानी का हिमाचल के बांधों में भंडारण किया जाए। उन्होंने कहा कि इस मामले में केंद्र सरकार की तरफ से पहल किये जाने की जरूरत है।

पंजाब की जेलों की सुरक्षा के लिए सीआईएसएफ के 200 कमांडो भेजेगी केंद्र सरकार

केंद्र सरकार ने पंजाब की छह से ज्यादा उच्च सुरक्षा वाली जेलों की निगरानी के लिए केंद्रीय अर्धसैनिक बल के 200 कमांडो को भेजने का निर्णय किया है। इन जेलों में खालिस्तान आतंकवादी सहित कई खतरनाक अपराधी हैं। ऐसी खबरें हैं कि राज्य में फिर से आतंकवाद सिर उठा रहा है। अधिकारियों ने बताया कि गृह मंत्रालय ने पटियाला, लुधियाना, कपूरथला, होशियारपुर, फिरोजपुर, बंठिंडा, अमृतसर और नाभा जेलों की सुरक्षा में तैनाती के लिए सीआईएसएफ के 200 कर्मियों को वहां भेजने का फैसला किया है। उन्होंने बताया कि पिछले महीने पंजाब के मुख्यमंत्री अमरिंदर सिंह ने गृह मंत्री राजनाथ सिंह से मुलाकात करके पंजाब के लिए विशेष अर्धसैनिक टुकड़ी देने का आग्रह किया था।

अधिकारियों ने बताया कि सीआईएसएफ की दो कंपनी (करीब 200 कर्मियों) को जल्द ही पंजाब भेजा जाएगा और वहां राज्य अपनी जरूरत के हिसाब से चुनिंदा जेलों में इन्हें तैनात करेगा। पंजाब के मुख्यमंत्री ने राजनाथ सिंह के साथ अपनी बैठक के दौरान राज्य में ‘आतंकवाद के दोबारा सिर उठाने’ की निगरानी के लिए एक विस्तृत रणनीति तैयार करने की अपील की है। ऐसी खबरें हैं कि सिख युवाओं को पाकिस्तान में आईएसआई के प्रतिष्ठानों में प्रशिक्षण दिया जा रहा है।

Hindi News से जुड़े अपडेट और व्‍यूज लगातार हासिल करने के लिए हमारे साथ फेसबुक पेज और ट्विटर हैंडल के साथ गूगल प्लस पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News App