ताज़ा खबर
 

कृषि कानूनों का विरोध: किसानों से तुरंत बात करे केंद्र : अमरिंदर सिंह

पंजाब के मुख्यमंत्री ने कहा, ‘केंद्र सरकार को सुनिश्चित एमएसपी के लिए किसानों की मांग को स्वीकार करने की जरूरत है, जो हर किसान का मूल अधिकार है। अगर वे मौखिक आश्वासन दे सकते हैं तो मैं यह नहीं समझ पा रहा हूं कि वे इसे कानूनी रूप से लागू क्यों नहीं कर सकते।’

Author चंडीगढ़ | Updated: November 28, 2020 6:20 AM
कैप्टन अमरिंदर सिंह ने मनोहर लाल खट्टर को ट्विटर पर अपना जवाब लिखा।

कृषि कानूनों के खिलाफ किसानों के ‘दिल्ली चलो’ मार्च को लेकर किसानों और पुलिस के बीच हो रहे संघर्षों के बीच पंजाब के मुख्यमंत्री अमरिंदर सिंह ने शुक्रवार को केंद्र सरकार को संबोधित करते हुए कहा कि किसानों की आवाज को दबाया नहीं जा सकता और केंद्र स्थिति को सामान्य करने के लिए किसानों के साथ तुरंत बातचीत करे। सिंह ने सवाल किया कि स्थिति जब नियंत्रण से बाहर हो रही है, तो केंद्र किसानों के साथ बातचीत करने के लिए तीन दिसंबर का इंतजार क्यों कर रहा है।

सिंह ने ट्वीट कर कहा, ‘किसानों की आवाज दबाई नहीं जा सकती। केंद्र को दिल्ली की सीमाओं पर तनावपूर्ण स्थिति को शांत करने के लिए किसान संघ के नेताओं के साथ तुरंत बातचीत शुरू करनी चाहिए। अब जब स्थिति हाथ से निकल रही है तो तीन दिसंबर तक इंतजार क्यों करें?’ सिंह ने केंद्र से कहा कि वह राष्ट्रहित में किसानों की सुनिश्चित न्यूनतम समर्थन मूल्य की मांग को स्वीकार करे।

पंजाब के मुख्यमंत्री ने कहा, ‘केंद्र सरकार को सुनिश्चित एमएसपी के लिए किसानों की मांग को स्वीकार करने की जरूरत है, जो हर किसान का मूल अधिकार है। अगर वे मौखिक आश्वासन दे सकते हैं तो मैं यह नहीं समझ पा रहा हूं कि वे इसे कानूनी रूप से लागू क्यों नहीं कर सकते।’ सिंह ने उन लोगों पर भी निशाना साधा जिन्होंने आरोप लगाया था कि कांग्रेस किसानों को ‘अंधा’ बताकर भड़का रही है और कहा कि किसान ‘जीवन और आजीविका’ के लिए लड़ रहे हैं।

केंद्र हमेशा बातचीत के लिए तैयार : खट्टर
हरियाणा के मुख्यमंत्री मनोहर लाल खट्टर ने शुक्रवार को आंदोलनकारी किसानों को आश्वासन दिया कि केंद्र सरकार उनसे बातचीत के लिए हमेशा तैयार है और बातचीत के जरिए ही कोई समाधान निकल सकता है। पंजाब और हरियाणा के किसानों द्वारा केंद्र के कृषि कानूनों के विरोध में ‘दिल्ली चलो’ मार्च के आह्वान के बीच खट्टर ने यह आश्वासन दिया। खट्टर ने किसानों से अपने जायज मुद्दों के बारे में सीधे केंद्र से बात करने की अपील की।
खट्टर ने एक ट्वीट में कहा, ‘केंद्र सरकार बातचीत के लिए हमेशा तैयार है।’ उन्होंने कहा, ‘मेरी सभी किसान भाइयों से अपील है कि अपने सभी जायज मुद्दों के लिए केंद्र से सीधे बातचीत करें।’ खट्टर ने किसानों से कहा कि समस्याओं के समाधान के लिए आंदोलन जरिया नहीं है और इसका हल बातचीत से ही निकलेगा।

Hindi News के लिए हमारे साथ फेसबुक, ट्विटर, लिंक्डइन, टेलीग्राम पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News AppOnline game में रुचि है तो यहां क्‍लिक कर सकते हैं।

Next Stories
1 कृषि कानूनों का विरोध: झुकी सरकार, आगे बढ़े किसान; दिल्ली आने की मिली इजाजत
2 किसान आंदोलन: BJP नेता बोले- सबने भांग मिला पानी पी लिया, एंकर ने पूछा ‘सड़क पर सब भांग पीकर आए हैं?’ कांग्रेस प्रवक्ता बोले- गलत बात मत करीये
3 एंकर ने पूछा – किसानों को कितना MSP मिलता है? BJP नेता कांग्रेस पर लगाने लगे राजनीति करने का आऱोप
ये पढ़ा क्या?
X