पंजाबः केजरीवाल की पार्टी ने जारी की अपनी पहली चुनावी लिस्ट, दस उम्मीदवारों के नाम पर लगी मुहर

2017 के विधानसभा चुनाव में आम आदमी पार्टी के कुल 20 विधायक जीते थे। हालांकि इनमें से 6 विधायकों ने पार्टी का दामन छोड़ दिया और 4 विधायकों की टिकट काट दी गई।

Punjab Assembly Elections 2022
लिस्ट में 10 लोगों के नाम हैं, जिसमें पार्टी के नेता प्रतिपक्ष हरपाल सिंह चीमा सहित सभी 10 मौजूदा विधायकों के नाम शामिल हैं। (फाइल फोटो)

आम आदमी पार्टी ने पंजाब विधानसभा चुनाव 2022 के लिए अपने उम्मीदवारों की पहली सूची की घोषणा कर दी है। इस लिस्ट में 10 लोगों के नाम हैं, जिसमें पार्टी के नेता प्रतिपक्ष हरपाल सिंह चीमा सहित सभी 10 मौजूदा विधायकों के नाम शामिल हैं। 

बता दें कि 2017 के विधानसभा चुनाव में आम आदमी पार्टी के कुल 20 विधायक जीते थे। हालांकि इनमें से 6 विधायकों ने पार्टी का दामन छोड़ दिया और 4 विधायकों की टिकट काट दी गई।

आप की इस लिस्ट में गढ़शंकर से जयकिशन रोड़ी, जगरांव से सरबजीत कौर मानुके, निहाल सिंह वाला से मनजीत सिंह बिलासपुर ,कोटकपूरा से कुलतार सिंह संधवां, तलवंडी साबो से बलजिंदर कौर, बुढलाडा से प्रिंसिपल बुधराम, दिबड़ा से हरपाल सिंह चीमा, सुनाम से अमन अरोड़ा, बरनाला से गुरमीत सिंह मीत हेयर और महिल कलां से कुलवंत पंडोरी का नाम है।

गौरतलब है कि पंजाब में साल 2017 में हुए विधानसभा चुनावों में कांग्रेस को 117 में से 77 सीटें मिली थी, जिसके बाद वहां कांग्रेस की सरकार बनी थी। इस दौरान आम आदमी पार्टी को यहां 20 सीटें मिली थीं।

बता दें कि विधानसभा चुनावों को ध्यान में रखते हुए आप पूरी तरह से पंजाब में सक्रिय है। हालही में कांग्रेस के वरिष्ठ नेता रमन बहल ने आम आदमी पार्टी ज्वाइन की थी। वह माझा क्षेत्र से संबंधित हैं।

रमन बहल पंजाब स्टेट सब ऑर्डिनेट सर्विसेज सिलेक्शन बोर्ड (PSSSSB) के अध्यक्ष रह चुके हैं। उनसे पहले आईजी कुंवर प्रताप भी आम आदमी पार्टी को ज्वाइन कर चुके हैं।

पंजाब चुनाव पर आप बहुत फोकस भी कर रही है। हालही में सीएम केजरीवाल ने जालंधर में व्यापारियों से मुलाकात की थी। इस दौरान उन्होंने कहा था कि पुराने सभी कानून ठीक हो जाएंगे। इस दौरान उन्होंने एक बात और कही थी कि उन्हें उद्योगपतियों से पैसे नहीं चाहिए। उद्योगपति रोजगार की गारंटी दें तो हम उनकी समस्याओं का समाधान करेंगे।

केजरीवाल ने पंजाब के किसानों और मजदूरों से भी अपील की थी कि वह किसी भी कारण से खराब हुई फसल से निराश ना हों और आत्महत्या न करें। इस दौरान उन्होंने कहा था कि एक अप्रैल, 2022 के बाद पंजाब के किसान और मजदूर आत्महत्या करने के लिए मजबूर नहीं होंगे।

पढें राष्ट्रीय समाचार (National News). हिंदी समाचार (Hindi News) के लिए डाउनलोड करें Hindi News App. ताजा खबरों (Latest News) के लिए फेसबुक ट्विटर टेलीग्राम पर जुड़ें।

Next Story
पश्चिम बंगाल में सियासी बदलाव के संकेतRajasthan BJP Government
अपडेट