ताज़ा खबर
 

ट्रैक्टर जुलूस : आज दिल्ली कूच करेंगे पंजाब व हरियाणा के किसान, 30,000 से अधिक ट्रैक्टर बनेंगे परेड का हिस्सा

भारती किसान यूनियन (एकता-उग्राहां) के महासचिव सुखदेव सिंह कोकरीकलां ने कहा, ‘ट्रैक्टरों पर यूनियन के झंडों के साथ पोस्टर होंगे जिन पर ‘किसान एकता जिंदाबाद’, ‘किसान नहीं तो भोजन नहीं’ आदि नारे होंगे।’

Farmer movement26 जनवरी की ट्रैक्टर रैली के लिए महिलाओं ने भी कमर कस ली हैं। (फोटो- इंडियन एक्सप्रेस)

पंजाब और हरियाणा के किसानों के कई जत्थे कुछ दिनों के पूर्वाभ्यास और तैयारियों के बाद 26 जनवरी को दिल्ली में प्रस्तावित ट्रैक्टर परेड में हिस्सा लेने के लिए शनिवार को निकलेंगे। केंद्र के तीन कृषि कानूनों का विरोध करने वाले किसान यूनियनों ने कहा है कि वे गणतंत्र दिवस पर दिल्ली में ट्रैक्टर जुलूस निकालेंगे।

यूनियनों ने दिल्ली के आउटर रिंग रोड पर ट्रैक्टर परेड निकालने की घोषणा की है। भारती किसान यूनियन (एकता-उग्राहां) के महासचिव सुखदेव सिंह कोकरीकलां ने कहा, ‘हम सभी ट्रैक्टर परेड में भाग लेने के लिए तैयार हैं। हमारा पहला जत्था खनौरी (संगरूर में) से और दूसरा डबवाली (हरियाणा के सिरसा जिले में) से रवाना होगा।’ उन्होंने कहा कि लोगों के उत्साह को देखते हुए हमारी यूनियन से जुड़े 30,000 से अधिक ट्रैक्टर परेड का हिस्सा होंगे।

कोकरीकलां ने कहा, ‘ट्रैक्टरों पर यूनियन के झंडों के साथ पोस्टर होंगे जिन पर ‘किसान एकता जिंदाबाद’, ‘किसान नहीं तो भोजन नहीं’ आदि नारे होंगे।’ कोकरीकलां ने कहा कि ट्रैक्टर कुछ ट्रॉली भी लेकर जाएंगे ताकि परेड के दौरान महिलाओं को समायोजित किया जा सके। परेड में कई महिलाएं ट्रैक्टर चलाएंगी।

किसान नेताओं ने कहा कि हरियाणा में करनाल, अंबाला, रोहतक, भिवानी और कुरुक्षेत्र के किसान दिल्ली रवाना होंगे। प्रस्तावित ट्रैक्टर परेड से पहले विभिन्न किसान यूनियनों के झंडों की मांग भी बढ़ गई है। पंजाब और हरियाणा में ऐसे झंडे लगे कई वाहन देखे जा सकते हैं। किसान आंदोलन और गणतंत्र दिवस पर ट्रैक्टर परेड आयोजित करने की उनकी योजना के मद्देनजर हरियाणा पुलिस ने अगले आदेश तक अपने कर्मियों की छुट्टी रद्द करने का फैसला किया।

Next Stories
1 गांधी-गोडसे का जिक्र कर दिग्विजय सिंह ने बताया धार्मिकता और धर्मांधता में फर्क, ट्रोल
2 नेताजी की जयंतीः महानायक में देशभक्ति कूट-कूट कर भरी थी- रजत शर्मा का ट्वीट, लोग लेने लगे मजे
3 नरेंद्र मोदी के दौरे से पहले CAA के खिलाफ AASU ने असम में निकाला मशाल जुलूस
यह पढ़ा क्या?
X