scorecardresearch

Coronavirus: पुणे में आईसीयू वार्ड में लगी थी लाइन, वेटिंलेटर नहीं मिलने से गई रिटायर्ड साइंटिस्ट की जान

आईसीयू वार्ड के लिए पहले से तीन मरीज लाइन में लगे थे। अस्पताल की वेबसाइट पर जांच की गई तो वहां पता चला कि आईसीयू बेड खाली नहीं है।

Coronavirus: पुणे में आईसीयू वार्ड में लगी थी लाइन, वेटिंलेटर नहीं मिलने से गई रिटायर्ड साइंटिस्ट की जान
पुणे में एक कोरोना पॉजिटिव वैज्ञानिक ने वेंटिलेटर के अभाव में दम तोड़ दिया।

महाराष्ट्र के पुणे में कोरोना वायरस पॉजिटिव एक वैज्ञानिक ने दम तोड़ दिया। कोरोना काल में इलाज और स्वास्थ्य सेवाओं के अभाव के चलते कई लोगों को अपनी जान गंवानी पड़ी है। ऐसा ही मामला महाराष्ट्र के पुणे से सामने आया है। यहां बॉटैनिकल सर्वे ऑफ इंडिया के 61 वर्षीय रिटायर्ड वैज्ञानिक डॉ लक्ष्मी नरसिम्हन को सांस लेने में तकलीफ के चलते सहयाद्री अस्पताल में भर्ती कराया गया था।

पुणे के सिटी कांग्रेस कमेटी के जनरल सेक्रेटरी ने बताया कि वह पूर्व वैज्ञानिक के परिवार के संपर्क में लगातार थे। उनकी तबियत बिगड़ने के बाद उन्हें सहयाद्री अस्पताल में भर्ती कराया गया। जहां उनकी तबियत और बिगड़ने पर अस्पताल ने उन्हें वेंटिलेटर पर शिफ्ट करने की बात कही। इसके बाद उन्हें सैसून अस्पताल ले जाया गया जहां उनकी मृत्यु हो गई। सैसून अस्पताल में पहले से ही मरीजों की लंबी कतार थी। आईसीयू वार्ड के लिए पहले से तीन मरीज लाइन में लगे थे।

अस्पताल की वेबसाइट पर जांच की गई तो वहां पता चला कि आईसीयू बेड खाली नहीं है। कांग्रेस कमेटी के जनरल सेक्रेटरी ने कहा कि वह इस मामले की शिकायत दर्ज कराएंगे। सैसून अस्पताल के महाप्रबंधक डॉ सुनील राव ने कहा, “हमारे पास कोई बेड नहीं था। हमने अन्य अस्पतालों में भी कोशिश की लेकिन आईसीयू बेड नहीं थे। रोगी को एक आईसीयू वार्ड की जरूरत थी जो हमारे पास नहीं था और इसलिए हमें उसे दूसरे अस्पताल में स्थानांतरित करना पड़ा। हमने मरीज को बाहर भेजने से पहले उसकी ऑक्सीजन सैचुरेसन में वृद्धि करके उन्हें स्थिर करने की कोशिश की थी।

बता दें कि पिछले 24 घंटे में देश में पहली बार कोरोना वायरस के 32,000 से अधिक मामले सामने आए हैं और 606 लोगों की मौत हो गई है। स्वास्थ्य मंत्रालय के आंकड़ों के मुताबिक गुरुवार को देश में संक्रमितों की कुल संख्या बढ़कर 9,68,876 पर पहुंच गई। मृतकों का आंकड़ा 24,915 हो गया।

पढें अपडेट (Newsupdate News) खबरें, ताजा हिंदी समाचार (Latest Hindi News)के लिए डाउनलोड करें Hindi News App.

अपडेट