ताज़ा खबर
 

‘लोग कर रहे थे दुकानें बंद, हो रहा था पथराव, तभी हुआ धमाका, 40 साथी हो गए शहीद’, सालभर पहले पुलवामा अटैक पर जवानों की जुबानी

जवान से जब पूछा गया कि क्या वह हमले से डरे थे? इस पर जवान ने कहा कि 'डरे तो बिल्कुल नहीं हैं, लेकिन गुस्सा बहुत है।' एक अन्य जवान ने बताया कि 'हमले का मंजर अभी भी उनकी आंखों के सामने है।'

पुलवामा आतंकी हमले की जिम्मेदारी आंतकी संगठन जैश ए मुहम्मद ने ली थी। (फाइल फोटो)

जम्मू कश्मीर के पुलवामा में हुए आतंकी हमले में देश ने अपने 40 वीर जवानों को खोया था, आज उस हमले को एक साल बीत गए हैं। देश अभी भी अपने 40 जवानों की शहादत को भूला नहीं है। बीते साल सीआरपीएफ के काफिले पर पुलवामा में हुआ हमला इतना भीषण था कि किसी भी इंसान को झकझोरने के लिए काफी है, लेकिन सीआरपीएफ के वीर जवान उस हमले को लेकर गमजदा हैं पर डरे बिल्कुल भी नहीं है।

पुलवामा हमले के कुछ दिन बाद ही आज तक न्यूज चैनल ने सीआरपीएफ के जवानों से पुलवामा हमले को लेकर बात की। जिसमें जवानों ने हमले से पहले का आंखो-देखा हाल सुनाया था। बातचीत के दौरान एक जवान ने बताया कि “हम (सीआरपीएफ काफिला) सुबह करीब पौने चार बजे जम्मू से चले थे और शाम में करीब 3 बजे के आसपास यहां पहुंचे थे। जवान ने बताया कि उस वक्त लोग दुकानें बंद कर रहे थे और कुछ लोग काफिले के ऊपर पथराव भी कर रहे थे।”

जवान ने बताया कि “इसके 10 मिनट बाद ही एक अचानक से धमाका हुआ, जिससे हम चौंक गए। इसके बाद पता चला कि हमले में हमने अपने 40 जवान खो दिए हैं।”

जवान से जब पूछा गया कि क्या वह हमले से डरे थे? इस पर जवान ने कहा कि ‘डरे तो बिल्कुल नहीं हैं, लेकिन गुस्सा बहुत है।’ एक अन्य जवान ने बताया कि ‘हमले का मंजर अभी भी उनकी आंखों के सामने है।’

CRPF ने भी पुलवामा आतंकी हमले में शहीद हुए अपने जवानों को याद किया है। सीआरपीएफ ने एक ट्वीट किया है, जिसमें लिखा है कि “तुम्हारे शौर्य के गीत, कर्कश शोर में खोये नहीं। गर्व इतना था कि हम देर तक रोये नहीं।”

सीआरपीएफ ने लिखा कि “ना हम भूलेंगे और ना ही माफ करेंगे। हम अपने उन भाइयों को सैल्यूट करते हैं, जिन्होंने पुलवामा में देश के लिए अपने जीवन का बलिदान दे दिया। हम उनके कर्जदार हैं। हम शहीद जवानों के परिजनों के साथ खड़े हैं।”

बता दें कि बीते साल 14 फरवरी को जम्मू कश्मीर के पुलवामा में हुए एक आतंकी हमले में सीआरपीएफ के 40 जवान शहीद हो गए थे। हमले में एक आतंकी ने विस्फोटकों से भरी कार को जवानों से भरी एक बस से टकरा दिया था। जिससे तेज धमाका हुआ और बस के चीथड़े उड़ गए। इस हमले में बस में सवार सभी जवान शहीद हो गए थे।

Hindi News से जुड़े अपडेट और व्‍यूज लगातार हासिल करने के लिए हमारे साथ फेसबुक पेज और ट्विटर हैंडल के साथ लिंक्डइन पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News App

Next Stories
1 पूर्व केंद्रीय मंत्री चिन्मयानंद स्वामी को रेप केस में जमानत देने वाले जज का होगा प्रमोशन? हाईकोर्ट में स्थाई जज बनाने की सिफारिश
2 चुनावी ड्यूटी से फ्री हो अब फैमिली फंक्शन में जुटे जेपी नड्डा, महीने के अंत में बेटे की शादी, तीन शहरों में भव्य आयोजन
3 वीडियो में है, फिर भी अमित शाह बोले- किसी ने नहीं कहा कि बहू-बेटियों का बलात्कार करेंगे
ये पढ़ा क्या?
X