ताज़ा खबर
 

जम्मू-कश्मीर: पुलवामा हमले में ढेर 16 साल का आतंकी पुलिसवाले का था बेटा, बुरहान वानी का पड़ोसी!

हमले से पहले फरदीन ने व्हाटसअप ग्रुप में एक वीडियो पोस्ट किया था जो वायरल हो गया।

फरदीन तीन महीने पहले ही आतंकी समूह में शामिल हुआ था। वो उसी गांव का रहने वाला है, जहां लश्कर आतंकी बुरहान वानी रहता था।

साल 2017 के आखिरी दिन रविवार (31 दिसंबर) को जम्मू-कश्मीर के पुलवामा जिले के लठपोरा कैम्प पर हुए आतंकी हमले में केंद्रीय रिजर्व पुलिस बल (सीआरपीएफ) के पांच जवान शहीद हो गए जबकि तीन जवान गंभीर रूप से जख्मी हो गए। सुरक्षा बलों के त्वरित कार्रवाई करते हुए हमले में शामिल तीन आतंकियों को ढेर कर दिया। इनमें से एक आतंकी जम्मू-कश्मीर पुलिस के एक जवान का बेटा है। उसका नाम फरदीन अहमद खांडे है। उसकी उम्र मात्र 16 साल थी और वह 10वीं का छात्र था। फरदीन राज्य के त्राल इलाके का निवासी था।

फरदीन तीन महीने पहले ही आतंकी समूह में शामिल हुआ था। वो उसी गांव का रहने वाला है, जहां लश्कर आतंकी बुरहान वानी रहता था। सीआरपीएफ की महानिदेशक एस एन श्रीवास्तव ने मीडिया को बताया कि रविवार और सोमवार को चले ऑपरेशन में कुल तीन आतंकियों को मार गिराया गया। इनमें से दो आतंकी जम्मू-कश्मीर का था जबकि एक विदेशी है। उन्होंने बताया कि ऑपरेशन अभी भी जारी है। बतौर डीजी सुरक्षाबल यह सुनिश्चित कर लेना चाहते हैं कि इलाके में कोई और आतंकी तो छिपा तो नहीं है।

बता दें कि हमले से पहले फरदीन ने व्हाटसअप ग्रुप में एक वीडियो पोस्ट किया था जो वायरल हो गया। वीडियो में तथाकथित रूप से फरदीन यह कहता हुआ दिख रहा था कि जब तक यह वीडियो लोग देख पाएंगे तब तक वह अपने खुदा के जन्नत में बतौर मेहमान पहुंच चुका होगा।

जम्मू एवं कश्मीर में सुरक्षा बलों ने 2017 में कुल 206 आतंकियों को मार गिराया, जबकि 75 अन्य को हिंसा छोड़कर मुख्यधारा में शामिल होने के लिए राजी किया गया। राज्य पुलिस प्रमुख एस.पी. वैद ने रविवार को इस बात की जानकारी दी। एक संवाददाता सम्मेलन को संबोधित करते हुए पुलिस महानिदेशक वैद ने कहा कि जम्मू एवं कश्मीर में 2017 के दौरान सुरक्षा बलों द्वारा शुरू किए गए ‘ऑपरेशन ऑल आउट’ को लेकर कई गलतफहमियां थीं।

Hindi News से जुड़े अपडेट और व्‍यूज लगातार हासिल करने के लिए हमारे साथ फेसबुक पेज और ट्विटर हैंडल के साथ गूगल प्लस पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News App