ताज़ा खबर
 

पुदुचेरी में दिल्ली जैसा घमासान, सीएम नारायणसामी और एलजी किरण बेदी में फिर जंग

नारायणसामी ने उप राज्यपाल किरण बेदी की कार्यशैली पर सवाल खड़े किए हैं और निशाना साधते हुए कहा है कि इस संघ शासित प्रदेश को एक बेहतरीन उप राज्यपाल मिली हैं जो शासन से जुड़ी सभी फाइलों पर कुंडली मारकर बैठ जाती हैं।

उप राज्यपाल किरण बेदी और मुख्यमंत्री वी नारायणसामी।

पुदुचेरी के मुख्यमंत्री नारायणसामी ने उप राज्यपाल किरण बेदी की कार्यशैली पर सवाल खड़े किए हैं और निशाना साधते हुए कहा है कि इस संघ शासित प्रदेश को एक बेहतरीन उप राज्यपाल मिली हैं जो शासन से जुड़ी सभी फाइलों पर कुंडली मारकर बैठ जाती हैं। नारायणसामी का यह बयान मंगलवार (10 अप्रैल) को आया है, जब वो पंद्रहवें वित्त आयोग द्वारा राज्यों को फंड बंटवारे और खर्च से जुड़ी दक्षिणी राज्यों के वित्त मंत्रियों की एक बैठक को संबोधित कर रहे थे। हालांकि, यह पहला मामला नहीं है जब पुदुचेरी के उप राज्यपाल और मुख्यमंत्री के बीच तनातनी रही हो। इससे पहले भी ऐसी खबरें आती रही हैं।

सीएम नारायणसामी ने कहा, हमारे पास किरण बेदी के रूप में एक बेहतरीन लेफ्टिनेंट गवर्नर हैं जो सभी फाइलों को रोक लेती हैं। लेकिन हम उनसे रोज लड़ते हैं क्योंकि हम एक ऐसा लोकतंत्र चाहते हैं जहां संघीय संरचना में सहयोग अपेक्षित हो। इसलिए राज्य के अधिकारों का संरक्षण जरूरी है। बता दें कि नारायणसामी के पास वित्त मंत्रालय का भी प्रभार है। इस लिहाज से नारायणसामी दक्षिणी राज्यों के वित्त मंत्रियों के एक दिवसीय सम्मेलन में हिस्सा लेने आए थे। किरण बेदी ने मई 2016 में ही पुदुचेरी के उप राज्यपाल का पदभार संभाला था, तब से कई मौकों पर नारायणसामी से उनकी भिड़ंत हो चुकी है। किरण बेदी खुद को पुदुचेरी संघ शासित प्रदेश का प्रशासकीय प्रमुख होने के नाते सभी प्रशासनिक फैसलों पर एलजी की अनुमति चाहती हैं।

बता दें कि किरण बेदी के पूर्व सहयोगी और दिल्ली के मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल और दिल्ली के एलजी के बीच अदावत की कहानी भी पुरानी है। पुराने एलजी नजीब जंग के साथ अक्सर हर मुद्दे पर केजरीवाल सरकार की तनातनी रही है। नए उप राज्यपाल अनिल बैजल के साथ भी अरविंद केजरीवाल के रिश्ते मधुर नहीं रहे हैं। उनसे भी कई मुद्दों पर टकराव हो चुका है।

Hindi News से जुड़े अपडेट और व्‍यूज लगातार हासिल करने के लिए हमारे साथ फेसबुक पेज और ट्विटर हैंडल के साथ गूगल प्लस पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News App