ताज़ा खबर
 

Jamia Millia Islamia में बवाल! छात्रों का ‘भाड़े के गुंडों’ से हमले का आरोप, ‘इजरायली कनेक्शन’ पर हो रहे प्रदर्शन

छात्रों ने बताया है कि उन पर 'किराए के गुंडों' ने तब हमला किया जब वे एक महीने पहले पांच छात्रों को जारी किए गए कारण बताओ नोटिस का विरोध कर रहे थे।

Author नई दिल्ली | Updated: October 23, 2019 11:39 AM
तस्वीर का इस्तेमाल सिर्फ प्रस्तुतिकरण के लिए किया गया है। (source: Indian express) तस्वीर का इस्तेमाल सिर्फ प्रस्तुतिकरण के लिए किया गया है। (source: Indian express)

Jamia Millia Islamia University, student protest: दिल्ली के जामिया मिलिया इस्लामिया विश्वविद्यालय में मंगलवार को छात्रों के साथ जमकर मारपीट और तोड़फोड़ की गई। छात्रों ने बताया है कि उन पर ‘किराए के गुंडों’ ने तब हमला किया जब वे एक महीने पहले पांच छात्रों को जारी किए गए कारण बताओ नोटिस का विरोध कर रहे थे। छात्रों का आरोप है कि यूनिवर्सिटी प्रशासन ने गुंडे भेजकर विरोध प्रदर्शन कर रहे छात्रों के साथ मारपीट की है।

विश्वविद्यालय के पांच छात्रों को लगभग एक महीने पहले कारण बताओ नोटिस जारी किया गया था। ये नोटिस एक इवैंट के खिलाफ विरोध प्रदर्शन करने पर प्रशासन द्वारा जारी किया गया था। उस इवैंट में इजरायली नागरिक भाग ले रहे थे जिसका विरोध विश्वविद्यालय के कुछ छात्र कर रहे थे। प्रशासन ने पांच छात्रों के खिलाफ नोटिस जारी करते हुए आरोप लगाया था कि वे विश्वविद्यालय के सामान्य कामकाज में वाधा डाल रहे हैं।

यह भी कहा गया है कि छात्र ऐसे गतिविधि में शामिल थे जिसके चलते विश्वविद्यालय की छवि धूमिल हुई है। प्रशासन द्वारा की गई कार्रवाई के बाद, छात्र अनिश्चितकालीन हड़ताल पर चले गए हैं। मंगलवार को इस हड़ताल का 9वां दिन था। मंगलवार को, कुछ छात्र कुलपति के कार्यालय के बाहर एकत्र हुए, जहां उन्होंने आरोप लगाया कि कुछ ‘किराए के गुंडों’ ने उन्हें विश्वविद्यालय के गार्ड के सामने मारा।

प्रदर्शनकारी छात्रों में से एक ने कहा, “शाम में, दर्जनों किराए के गुंडों ने प्रदर्शनकारी छात्रों पर हमला किया जिसमें कई छात्रों को गंभीर चोटें आईं, जबकि सुरक्षा गार्ड चुपचाप यह सब देखते रहे।” हालांकि, प्रशासन ने कहा कि छात्रों ने प्रॉक्टर ऑफिस के गेट का ताला तोड़ा और गार्ड्स और प्रॉक्टरियल टीम के साथ दुर्व्यवहार किया।

प्रशासन का कहना है कि यूनिवर्सिटी के इंग्लिश विभाग में महात्मा गांधी पर एक सेमिनार का आयोजन किया गया था, वहां पर आए लोग जब वापस जा रहे थे तो प्रदर्शन कर रहे छात्रों ने उनका रास्ता रोक दिया। प्रशासन का कहना है कि छात्रों के कुछ गुटों ने कुलपति ऑफिस का घेराव भी किया। छात्रों ने ऑफिस कॉम्प्लेक्स को घेरने के साथ-साथ सभी बाहर जाने वाले रास्तों को भी बंद कर दिया।

जब विश्वविद्यालय के अधिकारियों ने प्रदर्शनकारी छात्रों से प्रशासनिक कॉम्प्लेक्स का रास्ता खोलने की बात कही तो उन लोगों ने रास्ते में गमले रख दिये। तभी दूसरे ग्रुप के कुछ छात्र आए और उनकी आपस में मारपीट हो गई। प्रशासन का कहना है कि विश्वविद्यालय के गार्ड्स छात्रों के दो गुटों के बीच हुई मारपीट को रोकने की कोशिश कर रहे थे।

 

Hindi News से जुड़े अपडेट और व्‍यूज लगातार हासिल करने के लिए हमारे साथ फेसबुक पेज और ट्विटर हैंडल के साथ लिंक्डइन पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News App

Next Stories
1 अलीगढ़ मुस्लिम यूनिवर्सिटी प्रशासन ने BJP विधायक की गाड़ी से हटवाया पार्टी का झंडा, नाराज एमएलए ने की एसपी से शिकायत
2 कांग्रेस नेता अधीर रंजन चौधरी की टि्वटर पर जमकर फजीहत, लोग बोले- दादा, बंगाली में ही ट्वीट कर दो
3 बसों के टिकट पर केजरीवाल की फोटो से भड़की बीजेपी, एलजी से शिकायत, AAP ने पूछा- मोदी की तस्वीर पर आपत्ति क्यों नहीं