ताज़ा खबर
 

कोरोना वैक्सीन की कमी पर प्रियंका गांधी का तंज, कहा- प्रचारजीवी सरकार

कांग्रेस महासचिव प्रियंका गांधी वाड्रा ने देश में कोरोना वैक्सीनेशन की धीमी रफ्तार के लिए केंद्र सरकार पर तंज कसा है।

कांग्रेस महासचिव प्रियंका गांधी वाड्रा। (फोटो क्रेडिट- इंडियन एक्सप्रेस)

कांग्रेस महासचिव प्रियंका गांधी वाड्रा ने देश में कोरोना वैक्सीनेशन की धीमी रफ्तार के लिए केंद्र सरकार पर तंज कसा है। प्रियंका गांधी ने ‘प्रचारजीवी सरकार’ के हैशटैग के साथ ट्वीट किया, ‘प्रचार में कोई कमी नहीं होनी चाहिए, टीके की कमी हो जाए तो चलता है।’ दरअसल अपने ट्वीट के साथ प्रियंका गांधी ने अखबार की एक क्लिपिंग भी शेयर की जिसमें लिखा गया था कि इस महीने 7.5 करोड़ डोज मिलनी थी लेकिन सिर्फ 2 करोड़ मिलेंगी।

वहीं कांग्रेस ने देश में कोरोना रोधी टीकों की कथित तौर पर कमी होने को लेकर केंद्र सरकार पर निशाना साधा और आरोप लगाया कि इस संदर्भ में स्वास्थ्य मंत्री मनसुख मंडाविया भी अपने पूर्ववर्ती हर्षवर्षधन के रास्ते पर चल रहे हैं। विपक्षी पार्टी ने यह दावा भी किया कि टीकों की ‘कमी’ के मुद्दे पर देश की जनता को मूर्ख बनाया जा रहा है। कांग्रेस के पूर्व अध्यक्ष राहुल गांधी ने केंद्र पर निशाना साधते हुए ट्वीट किया, ‘‘सदियों का बनाया, पलों में मिटाया, देश जानता है कौन ये कठिन दौर लाया।’’

पार्टी के वरिष्ठ नेता और पूर्व वित्त मंत्री पी. चिदंबरम ने ट्वीट कर दावा किया, ‘‘ नए स्वास्थ्य मंत्री मनसुख मंडाविया अपने पूर्ववर्ती की तरह उसी रास्ते पर चल रहे हैं। यह दुख की बात है। राज्य दर राज्य टीके की कमी की शिकायत कर रहे हैं। टीकाकरण केंद्रों में “टीके नहीं हैं” के बोर्ड लगे होते हैं। टीकों की खुराक खत्म होने के बाद कतारों में खड़े लोगों को घर लौटना पड़ता है।’’


चिदंबरम ने कहा, ‘‘क्या टीके की कमी की शिकायत करने वाले सभी राज्यों के स्वास्थ्य मंत्री झूठ बोल रहे हैं? क्या अखबार और टीवी की खबरों से लोगों को इसलिए दूर किया जा रहा है, क्योंकि टीकों की कोई खुराक नहीं है? निष्कर्ष यह है कि केंद्र और राज्यों के बीच जनता को मूर्ख बनाया जा रहा है।’’

उधर, केंद्रीय स्वास्थ्य मंत्री मनसुख मंडाविया ने कुछ राज्यों द्वारा कोविड-19 टीकों की कमी के बारे में शिकायत किये जाने के बीच कहा कि लोगों में दहशत पैदा करने के लिए ”फिजूल” बयान दिए जा रहे हैं और राज्यों को अच्छी तरह से पता है कि उन्हें कब और कितनी मात्रा में खुराक मिलेगी। उन्होंने कहा कि केंद्र राज्यों को खुराक के आवंटन के बारे में पहले ही सूचित कर चुका है।

Next Stories
1 जब गुस्साई भीड़ ने भाजपा नेता को घेरा, जान बचा दीवार फांदकर भागे
2 मोदी ने किया रुद्राक्ष सेंटर का उद्घाटन, जापान-भारत की दोस्ती का नमूना, जानें क्या है ख़ासियत
3 जब सबका डीएनए एक तब क्या है ‘लव जिहाद’ कानून की क्या जरूरत, बोले दिग्विजय सिंह
ये पढ़ा क्या?
X