ताज़ा खबर
 

CAA: पुलिस ने मौलाना को बेरहमी से पीटा, मदरसा स्टूडेंट्स को बेवजह थाने खींच ले गई; मुजफ्फरनगर में बोलीं प्रियंका गांधी

Priyanka Gandhi, CAA Protesters: प्रियंका गांधी ने कहा, "मैं मौलाना असद हुसैनी से मिली, जिन्हें पुलिस ने बेरहमी से पीटा था। नाबालिगों सहित मदरसा के छात्रों को पुलिस ने बिना किसी कारण के उठा लिया।"

मुफ्फरनगर पहुंची प्रियंका गांधी फोटो- एएनआई

Priyanka Gandhi, CAA Protesters: कांग्रेस महासचिव प्रियंका गांधी वाड्रा शनिवार (4 जनवरी) को उत्तर प्रदेश के मुजफ्फरनगर पहुंची। जहां उन्होंने संशोधित नागरिकता कानून (CAA) के खिलाफ प्रदर्शन के बाद पुलिस कार्रवाई से प्रभावित लोगों से मुलाकात की। इस दौरान उन्होंने कहा कि जहां भी अन्याय होगा वहां कांग्रेस खड़ी होगी। प्रियंका ने बताया कि मैं मौलाना असद हुसैनी से मिली, जिन्हें पुलिस ने बेरहमी से पीटा था। नाबालिगों सहित मदरसा के छात्रों को पुलिस ने बिना किसी कारण के उठा लिया, हालांकि उनमें से कुछ को रिहा कर दिया लेकिन अब भी कुछ लोग हिरासत में हैं। बता दें कि इसके बाद प्रियंका का मेरठ जाने का प्रोग्राम था, लेकिन स्थानीय प्रशासन ने उन्हें इसकी अनुमति नहीं दी।

प्रियंका का आरोप: उन्होंने एक स्थानीय मदरसे के मौलाना से मुलाकात की। इसके बाद रुकैया परवीन नामक उस युवती से मुलाकात की जिसकी जल्द ही शादी तय है। रुकैया के परिवार का आरोप है कि पुलिस उनके घर में घुसी और उसने तोड़फोड़ की एवं वह बहुत सारा समान ले गयी। प्रियंका ने इस लड़की का उल्लेख करते हुए कहा, ”उसकी शादी होने वाली थी। पुलिस ने इसके घर में घुसकर समान तोड़फोड़ दिया। लड़की के सिर पर चोट लगी है।” उन्होंने कहा, ”जहां जहां अन्याय होगा वहां हम खड़े होंगे। हम हर संभव मदद करेंगे।”

National Hindi News Live Updates 4 January 2020: देश के खबरों के लिए यहां क्लिक करें

राज्यपाल को चिट्ठी लिखी: कांग्रेस महासचिव ने कहा, ”मैंने हाल ही में यूपी की राज्यपाल को चिट्ठी लिखी जिसमें कई मामलों का विवरण है। हमने उन्हें बताया कि पुलिस ने किस तरह लोगों को बेवजह मारा-पीटा है।” उन्होंने कहा, ”अगर किसी ने कुछ गलत किया है तो पुलिस कार्रवाई करे। इसमें किसी को कोई दिक्कत नहीं है लेकिन पुलिस घरों में घुसकर मारपीट कर रही है। पुलिस का काम न्याय दिलाना है, लेकिन यहां तो उलटा हुआ है।”

मेरठ में नहीं मिली एंट्री: बता दें कि मुजफ्फरनगर के बाद प्रियंका मेरठ भी जाने वाली थी। लेकिन लोकल प्रशासन ने उन्हें ऐसा करने की अनुमति नहीं दी। इसके पहले भी उन्हें और कांग्रेस के पूर्व अध्यक्ष राहुल गांधी को पिछले दिनों मेरठ जाने से रोक दिया गया था। प्रियंका ने इससे पहले बिजनौर में सीएए विरोधी प्रदर्शनों के दौरान मारे गए दो युवकों के परिवारों से मुलाकात की थी।

Hindi News से जुड़े अपडेट और व्‍यूज लगातार हासिल करने के लिए हमारे साथ फेसबुक पेज और ट्विटर हैंडल के साथ लिंक्डइन पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News App

Next Stories
1 बिहार में तेज हुआ पोस्टर वार, जेडीयू के हिसाब दो, हिसाब लो पर राजद का पलटवार- ‘झूठ की टोकरी, घोटालों का धंधा’
2 कोटा में मृतकों का आंकड़ा पहुंचा 107, बच्चों के मरने का सिलसिला जारी, 48 घंटे में 10 मौतें!
3 मोदी सरकार के मंत्री बोले- ‘CAA का विरोध कर रहे लोग दलित और गरीब विरोधी’
ये पढ़ा क्या?
X
Testing git commit