ताज़ा खबर
 

UP: 50 कांग्रेस नेताओं को प्र‍ियंका का फोन- आपका ट‍िकट पक्‍का, सिद्धू बोले- मेरे बॉस राहुल-सोनिया

यूपी की प्रभारी प्रियंका गांधी ने इसी जून के पहले सप्ताह में यूपी के करीब 50 नेताओं को फोन करके 2022 का चुनाव लड़ने के लिए बोल दिया है। इसी के साथ 2017 चुनाव में जीतने वाले 7 में से 5 विधायकों को भी चुनाव लड़ने की हरी झंडी मिल गई है।

कांग्रेस महासचिव प्रियंका गांधी और नवजोत सिंह सिद्धू।

उत्तर प्रदेश विधान सभा चुनाव को बस एक साल बाकी रेह गया है। सभी राजनीतिक दल तैयारियों में जुट गए हैं। इसी बीच कांग्रेस ने भी अपने उम्मीदवारों के चयन की प्रक्रिया शुरू कर दी है। ‘आज तक’ की एक रिपोर्ट के मुताबिक कांग्रेस महासचिव प्रियंका गांधी ने यूपी के तकरीबन 50 नेताओं को खुद फोन करके चुनाव लड़ने के लिए हरी झंडी दे दी है।

रिपोर्ट के मुताबिक यूपी की प्रभारी प्रियंका गांधी ने इसी जून के पहले सप्ताह में यूपी के करीब 50 नेताओं को फोन करके 2022 का चुनाव लड़ने के लिए बोल दिया है। इसी के साथ 2017 चुनाव में जीतने वाले 7 में से 5 विधायकों को भी चुनाव लड़ने की हरी झंडी मिल गई है।अगस्त तक कांग्रेस ने प्रदेश की 200 से ज्यादा सीटों पर उम्मीदवारों की लिस्ट फाइनल करने का टारगेट रखा है, जिसके तहत प्रदेश अध्यक्ष अजय कुमार लल्लू ने जोन वाइज मीटिंग कर प्रत्याशियों के चयन की प्रक्रिया शुरू कर दी है।

इन नेताओं को प्रियंका ने किया फोन-
कांग्रेस महासचिन ने जिन नेताओं को फोन किया है उनमें पंकज मालिक, पुरकाजी से दीपक कुमार, बेहट से नरेश सैनी, सहारनपुर से मसूद अख्तर, विलासपुर से संजय कपूर, चमरौआ से यूसुफ अली तुर्क, इलाहाबाद से अनुग्रह नारायण, पिंडरा से अजय राय, मड़िहान से ललितेश त्रिपाठी, जैदपुर से तनुज पुनिया, तमकुहीराज से अजय कुमार लल्लू, रामपुर खास से आराधना मिश्रा मोना, जौनपुर से नादीम जावेद, मथुरा से प्रदीप माथुर, कोल से विवेक बंसल, कानपुर कैंट से सुहेल अंसारी और फरेंदा से वीरेंद्र चौधरी सहित तमाम दिग्गज नेता शामिल हैं।

वहीं पार्टी के वरिष्ठ नेता नवजोत सिंह सिद्धू ने पंजाब कांग्रेस में मतभेद को लेकर मीडिया से बात की। नवजोत सिंह सिद्धू ने बिना नाम लिए मुख्यमंत्री अमरिंदर सिंह पर तंज कसते हुए कहा कि सिर्फ सोनिया गांधी, राहुल गांधी और प्रियंका गांधी मेरे बॉस हैं।

नवजोत सिंह सिद्धू ने कहा, ”मुझे लगता है कि ये विचारधारा की लड़ाई है। मैंने यह नहीं कहा कि पंजाब कांग्रेस में सबकुछ ठीक है। यहां सवाल किसी पद का नहीं है औऱ ना ही फलाना बनाम फलाना का है। मैंने कभी पार्टी का अनुशासन भंग नहीं किया है। बल्कि पार्टी फोरम में अपनी बात रखी है। ”

Next Stories
1 PK से चर्चा के बाद पवार ने भेजा विपक्षी दलों को न्यौता, कल मोदी के खिलाफ मोर्चे को लेकर करेंगे गुफ्तगू
2 हथियार किसलिए खरीदे थे…वो सिर्फ गणतंत्र दिवस परेड के लिए नहीं बने हैं- जब बोले जीडी बख्शी, हंसने लगे BJP के स्वामी
3 अपने केस वापस करा लिए और विरोधियों के पोस्टर लगवा रहे हैं? जब हुआ था योगी से सवाल, देखें- क्या आया था जवाब
आज का राशिफल
X