ताज़ा खबर
 

टि्वटर पर देवेंद्र फडणवीस की पत्नी से भिड़ीं प्रियंका चतुर्वेदी, कहा- झूठ बोलना बड़ी बीमारी, गेट वेल सून

पूर्व मुख्यमंत्री की पत्नी ने शिवसेना को ‘पाखंडी’ बताते हुए ट्वीट कर दावा किया कि इस स्मारक को बनाने के लिए करीब 1000 पेड़ों को गिराया जाएगा। इसपर शिवसेना नेता प्रियंका चतुर्वेदी उनपर पलट वार किया और दोनों में जुबानी जंग देखने को मिली।

Author नई दिल्ली | Updated: December 9, 2019 10:34 AM
देवेंद्र फडणवीस की पत्नी अमृता फडणवीस और शिवसेना नेता प्रियंका चतुर्वेदी।

भाजपा और शिवसेना का 30 साल पुराना गठबंधन महाराष्ट्र चुनाव के फैसले आने के बाद टूट गया। गठबंधन टूटने के बाद दोनों पार्टियों के नेता एक दूसरे पर निशाना साधने का कोई मौका नहीं छोड़ते। ऐसा ही कुछ रविवार को भी हुआ जब महाराष्ट्र के पूर्व मुख्यमंत्री देवेंद्र फडणवीस की पत्नी अमृता ने औरंगाबाद में शिवसेना द्वारा बनाए जा रहे क्षत्रप बाल ठाकरे के स्मारक को लेकर ट्वीट किया। पूर्व मुख्यमंत्री की पत्नी ने ट्वीट कर दावा किया कि इस स्मारक को बनाने के लिए करीब 1000 पेड़ों को गिराया जाएगा। इसपर शिवसेना नेता प्रियंका चतुर्वेदी उनपर पलट वार किया और दोनों में जुबानी जंग देखने को मिली।

अमृता ने शिवसेना को ‘पाखंडी’ बताते हुए अखबार की एक तस्वीर शेयर कर ट्वीट किया ‘पाखंड एक बीमारी है। जल्दी ठीक हो जाओ शिवसेना। पेड़ों की कटाई- अपनी सुविधा से या सिर्फ तब जब आपको कमीशन मिले तब इजाजत देना- माफी योग्य अपराध नहीं है।’ इसके साथ अखबार की जो तस्वीर अमृता ने शेयर की थी उसमें लिखा था कि औरंगाबाद में क्षत्रप बाल ठाकरे का स्मारक बनाने के लिये करीब 1000 पेड़ों को गिराने की जरूरत होगी।

अमृता के इस ट्वीट पर तीखा हमला करते हुए लिखा “‘आपको निराश करने के लिए खेद है, लेकिन सच्चाई यह है कि स्मारक के लिए एक भी पेड़ नहीं काटा जाएगा, मेयर ने भी इसकी पुष्टि की है। इसके अलावा मैं यह भी स्पष्ट कर दूं कि अनिवार्य रूप से झूठ बोलना बड़ी बीमारी है, जल्द ठीक हो जाइये, पेड़ों को काटने के लिए कमीशन महाराष्ट्र बीजेपी के नेताओं द्वारा प्रैक्टिस की जाने वाली नई पॉलिसी है।’

हालांकि मीडिया को जारी एक बयान में औरंगाबाद के महापौर नंदकुमार घोडेले ने दावा किया कि प्रशासन ठाकरे स्मारक के लिये पेड़ों को काटने की इजाजत नहीं देगा। उन्होंने कहा कि हम यह सुनिश्चित करने जा रहे हैं कि स्मारक के निर्माण के लिये कोई पेड़ न काटा जाए। उनका संदेश शिवसेना कम्युनिकेशन नाम के ट्विटर हैंडल से जारी किया है।

Hindi News से जुड़े अपडेट और व्‍यूज लगातार हासिल करने के लिए हमारे साथ फेसबुक पेज और ट्विटर हैंडल के साथ लिंक्डइन पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News App

Next Stories
1 Karnataka Hunasur, Yellapur, Shivaji Nagar, Hoskote Bypoll Results 2019: 15 में से 12 सीटों पर खिला कमल, कांग्रेस में लगी इस्तीफों की झड़ी
2 Citizenship Amendment Bill In Parliament: नागरिकता संशोधन बिल को लोकसभा ने दी मंजूरी, अमित शाह बोले- किसी धर्म के लोगों को डरने की जरूरत नहीं
3 EPFO: कर्मचारियों के लिए खुशखबरी, जल्द बढ़ सकती है आपकी TAKE HOME SALARY, सरकार उठा सकती है यह कदम
ये पढ़ा क्‍या!
X