ताज़ा खबर
 

कोरोना संक्रमण के भय से मां-बाप चिंतित : बच्चों को स्कूल भेजने में हिचकिचा रहे अभिभावक

एक सरकारी अधिकारी के अनुसार, निजी स्कूलों में मंगलवार को महज 14 फीसद बच्चे स्कूल आए। नोएडा और ग्रेटर नोएडा के सरकारी और वित्त पोषित स्कूलों में 39 फीसद छात्रों की उपस्थिति रही। एमिटी इंटरनेशनल स्कूल की प्राचार्य रेणु सिंह ने कहा कि अब तक अभिभावकों का रुख उत्साहजनक नहीं रहा है। उन्होंने कहा, ‘ज्यादातर लोगों को लगता है कि बच्चों को स्कूल भेजना फिलहाल सुरक्षित नहीं है।’

Author नोएडा | October 29, 2020 6:24 AM
स्‍कूल में अपनी कक्षा में पढ़़ते बच्‍चे। फाइल फोटो।

उत्तर प्रदेश के नोएडा में निजी स्कूल जहां एक ओर नौवीं कक्षा से 12वीं तक के छात्रों को स्कूलों में पढ़ने के लिए वापस बुलाने की जद्दोहद में लगे हुए हैं, वहीं दूसरी ओर अभिभावक कोरोना विषाणु संक्रमण के भय बच्चों को स्कूल भेजने में दिलचस्पी नहीं दिखा रहे हैं। एक सरकारी अधिकारी के अनुसार, निजी स्कूलों में मंगलवार को महज 14 फीसद बच्चे स्कूल आए, वहीं नोएडा और ग्रेटर नोएडा के सरकारी और वित्त पोषित स्कूलों में 39 फीसद छात्रों की उपस्थिति रही।

जिला विद्यालय निरीक्षक (डीआइओएस) नीरज कुमार पांडे ने बताया कि महामारी के कारण करीब सात माह तक स्कूल बंद रहने के बाद राज्य सरकार ने 19 अक्तूबर से नौवीं कक्षा से 12वीं तक के छात्रों के लिए स्कूल दोबारा खोलने की अनुमति दी थी।

उन्होंने कहा, ‘आॅनलाइन कक्षाओं में वो बात नहीं होती जो कक्षाओं में मौजूद रहने पर होती है। वक्त गुजर जाने पर शिक्षा में हुए नुकसान की भरपाई नहीं हो सकती।’ साथ ही उन्होंने कहा कि उनकी चिंताएं खास तौर पर 12वीं के छात्रों के लिए हैं, जिन्हें स्कूल के बाद कॉलेज में प्रवेश के लिए परीक्षाओं का सामना करना पड़ेगा।


दिल्ली में अगले आदेश तक बंद रहेंगे स्कूल

दिल्ली के उपमुख्यमंत्री मनीष सिसोदिया ने बुधवार को कहा कि कोविड-19 की स्थिति को देखते हुए राष्ट्रीय राजधानी में स्कूल अगले आदेश तक बंद रहेंगे। सिसोदिया ने आॅनलाइन प्रेस कांफ्रेंस में कहा कि अभिभावक भी स्कूलों को अभी खोलने के पक्ष में नहीं हैं। दिल्ली सरकार ने पहले घोषणा की थी कि स्कूल 31 अक्तूबर तक बंद रहेंगे। सिसोदिया ने कहा कि हम लगातार अभिभावकों की राय ले रहे हैं। वे इस बात को लेकर चिंतित हैं कि स्कूलों को अभी खोलना सुरक्षित होगा या नहीं। जहां भी स्कूल खोले गए हैं, वहां बच्चों में कोविड-19 के मामले बढ़े ही हैं। इसलिए हमने राष्ट्रीय राजधानी में अभी स्कूलों को नहीं खोलने का फैसला किया है। स्कूल अगले आदेश तक बंद रहेंगे।

Hindi News के लिए हमारे साथ फेसबुक, ट्विटर, लिंक्डइन, टेलीग्राम पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News AppOnline game में रुचि है तो यहां क्‍लिक कर सकते हैं।

Next Stories
1 लोक मान्यता: राम कथा और स्त्री विमर्श के यक्ष प्रश्न
2 संस्कृति: लीला अपरंपार
3 हम लोगों को डरा नहीं रहे सच दिखा रहे हैं…जंगलराज की बात पर बोले सुधांशु त्रिवेदी, राजद प्रवक्ता ने दिया ये जवाब
ये पढ़ा क्या?
X