scorecardresearch

PM संग्रहालय में अयोध्या पर क्लिप में ‘कारसेवक’ के बजाय ‘एक्टिविस्ट’ शब्द का प्रयोग, राजीव गांधी के सेक्शन में बोफोर्स घोटाले समेत इन चीजों का जिक्र

गौरतलब है कि इस संग्रहालय में राजीव गांधी के प्रधानमंत्री रहते उनके कार्यकाल के फैसलों को भी दर्शाया गया है। इसमें कंप्यूटर क्रांति के साथ-साथ बोफोर्स घोटाले का भी जिक्र हुआ है।

PM संग्रहालय में अयोध्या पर क्लिप में ‘कारसेवक’ के बजाय ‘एक्टिविस्ट’ शब्द का प्रयोग, राजीव गांधी के सेक्शन में बोफोर्स घोटाले समेत इन चीजों का जिक्र
प्रधानमंत्री संग्रहालय के उद्घाटन के अवसर पर प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी(फोटो सोर्स:PTI)।

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने 14 अप्रैल को दिल्ली के तीन मूर्ति भवन में प्रधानमंत्री संग्रहालय का उद्घाटन किया। इसको लेकर पीएम मोदी ने कहा कि इस संग्रहालय में जितना अतीत है, उतना ही भविष्य भी है। बता दें कि संग्रहालय अयोध्या को लेकर दिखाये गए एक वीडियो क्लिप में ‘कारसेवक’ की जगह ‘एक्टिविस्ट’ शब्द का प्रयोग किया गया है।

क्लिप में बताया गया है, “6 दिसंबर 1992 की सुबह ‘कार्यकर्ताओं’ ने अचानक अयोध्या में भगवान राम के जन्मस्थान के विवादित स्थल में प्रवेश किया और विवादित संरचना को नष्ट कर दिया। उस रात पी वी नरसिम्हा राव ने उत्तर प्रदेश, राजस्थान, मध्य प्रदेश और हिमाचल प्रदेश में राष्ट्रपति शासन लगाया था।” बता दें कि इस क्लिप में पूर्व पीएम राव के सामने आई चुनौतियों के बारे में बताया गया है।

प्रधानमंत्री संग्रहालय में इंदिरा गांधी सेक्शन

इस क्लिप को लेकर जिस चीज की सबसे अधिक चर्चा है वो ये कि “कारसेवकों” की जगह “एक्टिविस्ट” शब्द का प्रयोग किया गया है। क्लिप में बताया गया, “अयोध्या विवाद को आखिरकार 9 नवंबर 2019 को पांच-न्यायाधीशों की पीठ के सर्वसम्मत फैसले से सुलझाया गया। सुप्रीम कोर्ट से आये इस फैसले का सभी पक्षों ने सम्मान किया।”

प्रधानमंत्री संग्रहालय में पूर्व प्रधानमंत्रियों के सामने आई चुनौतियों के बारे में बताया गया है

बता दें कि इस संग्रहालय में लाल बहादुर शास्त्री से लेकर मनमोहन सिंह तक सभी प्रधानमंत्रियों की उपलब्धियों और उनकी चुनौतियों को अच्छी तरह से दर्शाया गया है। इसमें उनके कार्यकाल के माध्यम से देश के इतिहास में हासिल हुए ऐतिहासिक कार्यों का जिक्र किया गया है।

संग्रहालय में राजीव गांधी को लेकर..: गौरतलब है कि इस संग्रहालय में राजीव गांधी के प्रधानमंत्री रहते उनके कार्यकाल के फैसलों को भी दर्शाया गया है। इसमें कंप्यूटर क्रांति के साथ-साथ बोफोर्स घोटाले का भी जिक्र हुआ है। इसके अलावा गरीबों के जीवन स्तर में सुधार के लिए विज्ञान और टेक्नोलॉजी का उपयोग, आर्थिक सुधार और धीरे-धीरे निजीकरण के फैसले को दिखाया गया है।

राजीव गांधी के लिए बनाए गए ब्लॉक में शाह बानो कांड, भोपाल गैस त्रासदी और बोफोर्स कांड का जिक्र किया गया है। वहीं उनकी उपलब्धियों में दूरसंचार और कंप्यूटर क्रांति, मिजो शांति समझौते, असम समझौते, पंजाब समझौते और गंगा कार्य योजना को दर्शाया गया है। इसके अलावा मतदान की आयु को 21 से 18 वर्ष तक कम करने जैसे फैसले का भी जिक्र संग्रहालय में किया गया है।

पढें राष्ट्रीय (National News) खबरें, ताजा हिंदी समाचार (Latest Hindi News)के लिए डाउनलोड करें Hindi News App.

अपडेट