ताज़ा खबर
 

बढ़ते कोरोना संकट पर सरकार सचेत, पीएम ने की खिलाड़ियों से बात तो आननफानन में ग्रुप ऑफ मिनिस्टर्स ने बुलाई आपात बैठक

प्रधानमंत्री मोदी लगातार अलग-अलग क्षेत्रों के लीडर्स से वीडियो कॉन्फ्रेंसिंग के जरिए कोरोनावायरस संक्रमण को रोकने और जागरुकता को लेकर बात कर रहे हैं।

Author Edited By कीर्तिवर्धन मिश्र नई दिल्ली | Updated: April 3, 2020 1:30 PM
प्रधानमंत्री मोदी ने शुक्रवार को देशभर के 40 खिलाड़ियों से कोरोनावायरस संकट पर बातचीत की। (फोटो- ANI)

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने शुक्रवार को कोरोनावायरस के बढ़ते संकट के मद्देनजर जागरुकता फैलाने के लिए देश के 40 बड़े खिलाड़ियों से वीडियो कॉन्फ्रेंसिंग के जरिए बातचीत की। जिन स्पोर्ट्सपर्सन से मोदी ने कोरोना खतरे पर चर्चा की, उनमें बीसीसीआई अध्यक्ष सौरव गांगुली, सचिन तेंदुलकर, बैडमिंटन खिलाड़ी पीवी सिंधु और एथलीट हिमा दास शामिल रहीं। प्रधानमंत्री इससे पहले भी अलग-अलग क्षेत्रों के लीडर्स से वीडियो कॉन्फ्रेंसिंग के जरिए संक्रमण को रोकने और इसके बारे में जागरुकता फैलाने पर बात कर चुके हैं।

दूसरी तरफ देश में लगातार बढ़ते कोरोनावायरस मामलों को देखते हुए रक्षा मंत्री राजनाथ सिंह और गृह मंत्री अमित शाह के नेतृत्व में ग्रुप ऑफ मिनिस्टर्स (GoM) की बैठक हुई। दरअसल, तब्लीगी जमात के कार्यक्रम के बाद देशभर में संगठन से जुड़े लोगों में कोरोना संक्रमण के सबसे ज्यादा मामले देखे गए हैं। माना जा रहा है कि मंत्री समूह के बीच इसी सिलसिले पर चर्चा हुई।

प्रधानमंत्री मोदी के साथ इस बातचीत में खेल मंत्री किरन रिजिजू भी शामिल रहे। प्रधानमंत्री ने खिलाड़ियों से कहा, “आपकी सलाहों को गंभीरता से लिया जाएगा। हम इस महामारी से टीम इंडिया की तरह लड़ रहे हैं। मुझे विश्वास है कि भारत आपसे मिली प्रेरणा से तरोताजा महसूस करेगा।”


क्रिकेटरों में तेंदुलकर, गांगुली के अलावा विराट कोहली, रोहित शर्मा, पूर्व गेंदबाज जहीर खान और युवराज सिंह भी वीडियो कॉन्फ्रेंस में शामिल हुए। कॉन्फ्रेंस के लिए पूर्व कप्तान धोनी और केएल राहुला का नाम भी लिस्ट में था, लेकिन जानकारी के मुताबिक वे इसमें शामिल नहीं हो पाए। दूसरी तरफ जैवलिन थ्रोअर नीरज चोपड़ा, चेस खिलाड़ी विश्वनाथन आनंद, बॉक्सर मैरीकॉम और अमित पंघल, रेसल विनेश फोगाट और शूटिंग की दुनिया से मनु भाकर कॉन्फ्रेंस में शामिल हुए। न्यूज एजेंसी पीटीआई के सूत्रों के मुताबिक, इनमें से 12 को पीएम से बात करने के लिए 3-3 मिनट का समय दिया गया।

गौरतलब है कि कोरोनावायरस की वजह से दुनियाभर में कई बड़े स्पोर्टिंग इवेंट्स को रद्द किए जा चुके हैं। द्वितीय विश्वयुद्ध के बाद पहली बार टेनिस के सबसे बड़े टूर्नामेंट विंबलडन को रद्द किया गया है। इसके अलावा कई अन्य देशों में स्थानीय क्रिकेट और फुटबॉल टूर्नामेंट रोके गए हैं। भारत में भी इस साल आईपीएल के टलने या न होने के आसार हैं। हालांकि, इस पर बीसीसीआई का बयान आना अभी बाकी है।

Coronavirus से जुड़ी जानकारी के लिए यहां क्लिक करें: कोरोना वायरस से बचना है तो इन 5 फूड्स से तुरंत कर लें तौबा | जानिये- किसे मास्क लगाने की जरूरत नहीं और किसे लगाना ही चाहिए |इन तरीकों से संक्रमण से बचाएं | क्या गर्मी बढ़ते ही खत्म हो जाएगा कोरोना वायरस?

 एक दिन पहले (2 अप्रैल) ही प्रधानमंत्री ने सभी राज्यों के मुख्यमंत्रियों से भी कोरोना खतरे पर चर्चा की थी। इस मुलाकात में पीएम ने अपील की थी कि सभी राज्यों के मुख्यमंत्री अपने-अपने राज्यों में धर्मगुरुओं से बात करें और उन्हें सोशल डिस्टेंसिंग और लॉकडाउन के मसले पर जागरूक करें। वीडियो कॉन्फ्रेंसिंग के दौरान पीएम के साथ गृह मंत्री अमित शाह और रक्षा मंत्री राजनाथ सिंह भी मौजूद थे।

Hindi News के लिए हमारे साथ फेसबुक, ट्विटर, लिंक्डइन, टेलीग्राम पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News AppOnline game में रुचि है तो यहां क्‍लिक कर सकते हैं।

Next Stories