कैबिनेट विस्तार पर बोले कांग्रेस नेता, इस बार भाजपा और RSS को भी किया गया किनारे, नौकरशाहों पर भरोसा

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी द्वारा अपने मंत्रिमंडल का विस्तार और कई बड़े फेरबदल करने के एक दिन बाद कांग्रेस नेता मनीष तिवारी ने कहा कि भाजपा और आरएसएस के कार्यकर्ताओं की अनदेखी की गई है।

bjp, pm modi
पीएम मोदी ने अपने मंत्रिमंडल का विस्तार किया है। (फोटो-पीटीआई)।

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी द्वारा अपने मंत्रिमंडल का विस्तार और कई बड़े फेरबदल करने के एक दिन बाद कांग्रेस नेता मनीष तिवारी ने कहा कि भाजपा और आरएसएस के कार्यकर्ताओं की अनदेखी की गई है। उन्होंने कहा कि मंत्रिमंडल में फेरबदल एक बार फिर से पूर्व नौकरशाहों पर पीएम मोदी की जरूरत से ज्यादा निर्भरता को रेखांकित करता है, न कि भाजपा कार्यकर्ताओं पर। कांग्रेस सांसद ने राजीव प्रताप रूडी, सुधांशु त्रिवेदी, राकेश सिन्हा और सैयद शाहनवाज हुसैन को भी अपने ट्वीट में टैग किया।

सत्ता की लूट का बंटवारा और दलबदलुओं का समायोजन: तिवारी का यह बयान तब आया है जब कांग्रेस ने बुधवार को कहा था कि यह मंत्रिमंडल विस्तार “सत्ता की लूट के बंटवारे” और दलबदलुओं के “समायोजन” के लिए था। कांग्रेस के मुख्य प्रवक्ता रणदीप सुरजेवाला ने कहा कि यदि प्रदर्शन के आधार पर मंत्रिमंडल का विस्तार किया जाना है तो शासन में उनकी विफलताओं के लिए पीएम को सबसे पहले हटाया जाना चाहिए था। उन्होंने आगे कहा कि वित्त मंत्री, गृह मंत्री और रक्षा मंत्री को भी हटा दिया जाना चाहिए था क्योंकि वे अपनी-अपनी भूमिकाओं में विफल रहे। फेरबदल पर प्रतिक्रिया देते हुए, वरिष्ठ कांग्रेस नेता पी चिदंबरम ने कहा कि नए स्वास्थ्य मंत्री मनसुख मांडविया का पहला काम होना चाहिए। सभी राज्यों को टीकों की पर्याप्त और निर्बाध आपूर्ति सुनिश्चित करना।

उन्होंने आगे स्वास्थ्य मंत्री के हस्तक्षेप की मांग करते हुए कहा कि टीकों की कमी के कारण तमिलनाडु में कई केंद्रों पर टीकाकरण को निलंबित कर दिया गया है।

मोदी कैबिनेट 2.0 में दो और पूर्व आईएएस अधिकारी शामिल: दो रिटायर नौकरशाहों के शामिल होने से मोदी 2.0 में पूर्व आईएएस अधिकारियों की संख्या 5 हो गई है। पूर्व आईएएस अधिकारी अश्विनी वैष्णव को रेल मंत्री, संचार मंत्री और इलेक्ट्रॉनिक्स और सूचना प्रौद्योगिकी मंत्री नियुक्त किया गया है। नौकरशाह से राजनेता बने राज कुमार सिंह को राज्य मंत्री रैंक से कैबिनेट मंत्री के रूप में पदोन्नत किया गया है।

जद (यू) के राष्ट्रीय अध्यक्ष रामचंद्र प्रसाद सिंह को भी मंत्रिमंडल में शामिल किया गया। एक पूर्व आईएएस अधिकारी, सिंह, इस्पात मंत्रालय को संभाल रहे हैं। हरदीप सिंह पुरी और एस जयशंकर भी रिटायर नौकरशाह हैं। जबकि पुरी को पेट्रोलियम और प्राकृतिक गैस मंत्रालय का अतिरिक्त प्रभार मिला है और आवास और शहरी मामलों का मंत्रालय भी संभाल रहे हैं, जयशंकर विदेश मंत्रालय को संभाल रहे हैं।

अपडेट
X