ताज़ा खबर
 
  • छत्तीसगढ़

    Cong+ 40
    BJP+ 28
    JCC+ 4
    OTH+ 0
  • तेलांगना

    TRS-AIMIM+ 83
    TDP-Cong+ 23
    BJP+ 5
    OTH+ 5
  • मध्य प्रदेश

    Cong+ 71
    BJP+ 60
    BSP+ 5
    OTH+ 2
  • मिजोरम

    MNF+ 14
    Cong+ 6
    BJP+ 1
    OTH+ 1
  • राजस्थान

    Cong+ 86
    BJP+ 69
    RLM+ 0
    OTH+ 13

* Total Tally Reflects Leads + Wins

नीदरलैंड के प्रधानमंत्री से वार्ता के बाद साझा बयान में मोदी ने कहा- आर्थिक सुधारों के लिए प्रतिबद्ध

नीदरलैंड के प्रधानमंत्री मार्क रूटे ने कहा कि पानी को न केवल आर्थिक संपत्ति के तौर पर बल्कि इसके सामाजिक, सांस्कृतिक और पर्यावरण संबंधी महत्त्व के लिए अहमियत देने की जरूरत है।

समझौते पर दस्तखत करते नीदरलैंड के प्रधानमंत्री मार्क रूटे को देखते प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी।

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने गुरुवार को कहा कि देश में आर्थिक सुधारों को लेकर उनकी प्रतिबद्धता मजबूत बनी हुई है और आगे भी बनी रहेगी। राजधानी के हैदराबाद हाउस में नीदरलैंड के प्रधानमंत्री मार्क रूटे के साथ प्रतिनिधिमंडल स्तरीय वार्ता में हिस्सा लेने के बाद उन्होंने यह बात कही। हैदराबाद हाउस में हुई वार्ता में नीदरलैंड और भारत की 130 कंपनियों के 230 उद्योगपति-कारोबारी (सीईओ) शामिल हुए। इस वार्ता के बाद जारी भारत-नीदरलैंड संयुक्त घोषणापत्र में प्रधानमंत्री मोदी ने कहा, ‘आर्थिक सुधारों को लेकर आगे भी प्रतिबद्धता मजबूत बनी रहेगी।’ मुख्य कार्यकारियों की बैठक में भारत में निवेश बढ़ाने के नीदरलैंड की कंपनियों के विभिन्न कारोबारी प्रस्तावों पर सकारात्मक बातचीत हुई।

प्रतिनिधिमंडल स्तर की वार्ता के दौरान प्रधानमंत्री मोदी ने नीदरलैंड के अपने समकक्ष के साथ विभिन्न मुद्दों पर विस्तार से चर्चा की। इस दौरान दोनों पक्षों ने व्यापार, निवेश, ऊर्जा व कृषि सहित विभिन्न क्षेत्रों में आपसी संबंध और मजबूत बनाने का फैसला किया। दोनों प्रधानमंत्रियों की वार्ता में द्विपक्षीय मुद्दों के साथ-साथ साझा हित के क्षेत्रीय व वैश्विक मुद्दों पर भी चर्चा हुई। मोदी ने अंतरराष्ट्रीय सौर संगठन (आइएसए) का सदस्य बनने के लिए नीदरलैंड की सराहना की। संयुक्त घोषणापत्र में अपनी टिप्पणी में प्रधानमंत्री रूटे ने कहा कि दोनों देशों के लिए व्यापार व निवेश, स्वच्छ ऊर्जा, कृषि व स्मार्ट शहर जैसे क्षेत्रों में सहयोग की खूब गुंजाइश है। प्रधानमंत्री मोदी और रूटे की मौजूदगी में दोनों देशों के कारोबारियों व उद्योगपतियों (सीईओ) की राउंड टेबल कांफ्रेंस में कृषि, खाद्य प्रसंस्करण और तकनीक समेत 10 क्षेत्रों में निवेश प्रस्तावों पर विस्तृत वार्ता हुई। नीदरलैंड से भारत में निवेश बढ़ाने के लिए विभिन्न क्षेत्रों में करार पर सीईओ बातचीत कर रहे हैं। नीदरलैंड उन शीर्ष चार देशों में शुमार है, जहां की कंपनियों ने भारत में सबसे ज्यादा पूंजीनिवेश किया है। पिछले एक साल में सऊदी अरब के बाद सबसे से अधिक निवेश भारत में नीदरलैंड से आया है। नीदरलैंड ने 2000 से दिसंबर 2017 तक, 17 साल की अवधि में कुल 23 अरब डॉलर का निवेश भारत में किया है।

इससे पहले नई दिल्ली पहुंचने पर हवाई अड्डे पर केंद्रीय खाद्य प्रसंस्करण मंत्री हरसिमरत कौर बादल ने प्रधानमंत्री मार्क रूटे का स्वागत किया। वे दो दिन की यात्रा पर भारत आए हैं। प्रधानमंत्री के तौर पर रूटे का यह दूसरा भारत दौरा है। इससे पहले वे जून 2015 में भारत आए थे। प्रधानमंत्री मोदी के पिछले साल जून में नीदरलैंड के दौरे के एक साल के भीतर रूटे भारत के दौरे पर आए हैं। विदेश मंत्रालय के प्रवक्ता रवीश कुमार ने ट्वीट कर कहा, ‘वे हमारी प्रमुख पहलों में महत्त्वपूर्ण साझीदार हैं।’ भारत और नीदरलैंड के बीच 5.39 अरब डॉलर का द्विपक्षीय व्यापार होता है।

स्वच्छ गंगा अभियान की तारीफ
नीदरलैंड के प्रधानमंत्री मार्क रूटे ने कहा कि पानी को न केवल आर्थिक संपत्ति के तौर पर बल्कि इसके सामाजिक, सांस्कृतिक और पर्यावरण संबंधी महत्त्व के लिए अहमियत देने की जरूरत है। उन्होंने भारत-नीदरलैंड गंगा मंच द्वारा आयोजित एक कार्यक्रम में कहा, ‘मैं नमामि गंगे योजना के तहत प्रधानमंत्री मोदी द्वारा तय किए गए लक्ष्यों का सम्मान करता हूं।’
शेख हसीना से मुलाकात आज प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी शुक्रवार को अपनी बांग्लादेशी समकक्ष शेख हसीना की मौजूदगी में पश्चिम बंगाल के शांतिनिकेतन में विश्व भारती विश्वविद्यालय के दीक्षांत समारोह में शामिल होंगे। इस आयोजन में बंगाल की मुख्यमंत्री ममता बनर्जी भी शामिल होंगी।

Hindi News से जुड़े अपडेट और व्‍यूज लगातार हासिल करने के लिए हमारे साथ फेसबुक पेज और ट्विटर हैंडल के साथ गूगल प्लस पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News App