ताज़ा खबर
 

वीडियो कांफ्रेंसिंग के जरिए योग साधकों से मिले पीएम मोदी, कहा- व्यक्तियों को जोड़ता है योग

ऋषिकेश के परमार्थ निकेतन में चल रहे सात दिवसीय अंतरराष्ट्रीय योग महोत्सव के दूसरे दिन 100 देशों से आए 1200 प्रशिक्षुकों से प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी वीडियों कांफ्रेंसिंग के जरिए रू-ब-रू हुए।

Author देहरादून | March 3, 2017 12:29 AM
दिल्ली से 1200 प्रशिक्षुकों से प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी वीडियों कांफ्रेंसिंग के जरिए रू-ब-रू हुए।

ऋषिकेश के परमार्थ निकेतन में चल रहे सात दिवसीय अंतरराष्ट्रीय योग महोत्सव के दूसरे दिन 100 देशों से आए 1200 प्रशिक्षुकों से प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी वीडियों कांफ्रेंसिंग के जरिए रू-ब-रू हुए। जैसे ही प्रधानमंत्री मोदी परदे पर आए विदेशों से आए प्रशिक्षुकों को दिखाई दिए तो तालियों की गड़गड़ाहट के बीच इन विदेशी योग प्रशिक्षुकों ने ‘मोदी वी लव’ कह कर उनका हार्दिक स्वागत किया। जवाब में प्रधानमंत्री मोदी ने गंगा के पावन तट पर देवभूमि उत्तराखंड में पहुंचने वाले योग प्रशिक्षुकों का जोरदार शब्दों में हार्दिक अभिनंदन किया। प्रधानमंत्री ने करीब 20 मिनट तक इन विदेशी प्रशिक्षुकों को संबोधित किया।

प्रधानमंत्री ने महान विचारक मैक्समूलर का जिक्र कहा कि उन्होंने कहा था कि भारत ही दुनिया में एकमात्र ऐसा देश है जहां मनुष्य का सबसे ज्यादा मस्तिष्क का विकास हो सकता है और मानसिक समस्याओं का समाधान भी वहीं मिलता है। सबसे सफल व्यक्ति, जिन्हें आत्म साक्षात्कार हुआ है, वह भी सब भारत में ही संभव हो पाया। उन्होंने कहा कि योग व्यक्तियों को जोड़ने का विधान है। परिवार, समाज, अपने साथी के साथ एकता ही योग है। व्यक्ति से समष्टि तक, मैं से हम तक, अहं से वयं तक का भाव विस्तार ही योग है। यह शक्ति आत्मा एवं मन की भावना तक की यात्रा है। योग को मात्र, शरीर को चुस्त रखने तक सीमित रखना उचित नहीं है। योग से शांति, अत्मसंतोष एवं करुणा भी प्राप्त होती है। उन्होंने कहा कि आज विश्व दो मुख्य समस्याओं आंतकवाद एवं जलवायु परिवर्तन का सामना कर रहा है। इन दोनों समस्याओं के समाधान के लिए दुनियां भारत और उसकी योग पंरपरा की ओर बड़े ही उत्सुक्ता से देख रही है। प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी का स्वामी चिदानंद मुनि और सध्वी भगवती ने आभार जताया।

Hindi News से जुड़े अपडेट और व्‍यूज लगातार हासिल करने के लिए हमारे साथ फेसबुक पेज और ट्विटर हैंडल के साथ लिंक्डइन पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News App