ताज़ा खबर
 

VIDEO: जब नए चुने गए सांसदों से बोले प्रधानमंत्री- देश में बहुत सारे नरेंद्र मोदी पैदा हो गए हैं

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने संसद के केंद्रीय कक्ष में नव निर्वाचित सांसदों को संबोधित किया। पीएम ने उनसे बड़बोलेपन और मीडिया में छपने और दिखने की उत्कंठा से बचने की नसीहत दी।

संसद के केंद्रीय कक्ष में नव निर्वाचित सांसदों को संबोधित करते प्रधानमंत्री मोदी। (फोटोः पीटीआई)

प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी ने शनिवार को नव निर्वाचित सांसदों को बड़बोलेपन और मीडिया में छपने एवं दिखने की उत्कंठा से बचने की नसीहत दी । साथ ही कहा कि हमारे ऊपर बहुत बड़ी जिम्मेवारियां है, इन्हें हमें निभाना है, वरना देश माफ नहीं करेगा। संसद के केंद्रीय कक्ष में राजग एवं भाजपा नेताओं एवं सांसदों की मौजूदगी में पीएम मोदी ने कहा, ‘इस देश में बहुत से ऐसे नरेंद्र मोदी पैदा हो गए हैं जिन्होंने मंत्रिमंडल बना दिया है। और यदि सबका टोटल बनाएंगे तो सिर्फ 50 सांसद रह जाएंगे जो मंत्री की लिस्ट में नहीं आएंगे। और ये सबसे बड़ा संकट होता है जी फिर…हमको भी होता है कि उस अखबार में आया है जरूर मेरा नंबर लगेगा।

पीएम ने कहा, मैं इतना हैरान हूं आज लोग इतने झूठे फोन करते हैं…मैं पीएमओ से बोल रहा हूं, आपका नाम तय हो गया है…आप दिल्ली आ जाइये. अच्छा वो नया होता है वो आवाज भी पहचानता, मान लेता है। उन्होंने कहा, मैं कृपा करके कहते हैं, ये जो मीडिया वाले नाम चला रहे हैं सरासर भेद पैदा करने के लिए कर रहे हैं, भ्रमित पैदा करने के लिए कर रहे हैं, अफवाहें फैलाने के लिए पैदा कर रहे हैं।

पीएम ने कहा वे अपनी बदनीयती के लिए कर रहे हैं। प्रधानमंत्री ने कहा, आप इस भ्रम में कभी मत आइए। मैं लंबे समय तक सीएम रहा हूं… ऐसा कुछ नहीं होता है… कुछ होना नहीं है जी… नियम तय है… न कोई अपना है… न कोई पराया है… दायित्व बहुत कम लोगों को दे सकते हैं।

नरेंद्र मोदी ने कहा कहा कि हमारे ऊपर बहुत बड़ी जिम्मेवारियां है, इन्हें हमें निभाना है, वरना देश माफ नहीं करेगा। मोदी ने कहा, ‘‘ जनप्रतिनिधियों से मेरा आग्रह रहेगा कि मानवीय संवेदनाओं के साथ अब कोई भी हमारे लिए पराया नहीं रह सकता है। इसकी ताकत बहुत बड़ी होती है। दिलों को जीतने की कोशिश करेंगे ।’’

उन्होंने कहा, ‘‘ हमारा मोह हमें संकट में डालता है। मोदी ने किसी का नाम न लेते हुए कहा कि बड़बोलापन जो होता है, टीवी के सामने कुछ भी बोल देते हैं। जो बोल देते हैं तो 24-48 घंटे तक चलती है और अपनी परेशानी बढ़ती है। कुछ लोग सुबह उठकर जब तक राष्ट्र के नाम संदेश नहीं दे लेते हैं, उन्हें चैन नहीं पड़ता।

अटल-आडवाणी का किया जिक्रः प्रधानमंत्री ने कहा कि अटल-आडवाणी कहते थे कि छपास और दिखास से बचना चाहिए। इससे बचकर आप खुद को भी बचा सकते हैं और दूसरों को भी बचा सकते हैं। नये सांसदों को गुर देते हुए मोदी ने कहा कि कोई कुछ पूछे तो उसे कहें कि एक घंटा रुको, जांच करता हूं। अन्यथा मूल बात रह जाएगी और रात तक आपका बयान और ना जाने क्या-क्या बयान आ जाएंगे।

देश की जनता हमे जिताती हैः मोदी ने कहा कि जनप्रतिनिधि के लिए कोई भेद भाव की सीमा रेखा नहीं होती। जो हमारे साथ थे, हम उनके लिए भी हैं, जो भविष्य में हमारे साथ होंगे, हम उनके लिए भी हैं उन्होंने कहा कि हम न हमारी हैसियत से जीतकर आते हैं, न कोई वर्ग हमें जिताता है, न मोदी हमें जिताता है।

हमें सिर्फ देश की जनता जिताती है। वीआईपी संस्कृति के संदर्भ में मोदी ने कहा कि देश को बड़ी नफरत है। हम भी नागरिक हैं तो कतार में क्यों खड़े नहीं रह सकते। पीएम ने कहा कि लाल बत्ती हटाने से कोई आर्थिक फायदा भले ही न हो लेकिन जनता के बीच अच्छा मैसेज गया है।

(भाषा से इनपुट के साथ)

Hindi News से जुड़े अपडेट और व्‍यूज लगातार हासिल करने के लिए हमारे साथ फेसबुक पेज और ट्विटर हैंडल के साथ लिंक्डइन पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News App

X