पीएम नरेंद्र मोदी ने बालाकोट एयरस्ट्राइक से पहले की कहानी बताई, विपक्ष ने पीएम का उड़ाया मजाक

लोकसभा चुनाव के छठे दौर से पहले पीएम मोदी के इंटरव्यू को लेकर काफी चर्चा हो रही है। पीएम ने इस इंटरव्यू में बालाकोट एयर स्ट्राइक से पहले की स्थिति का खुलासा किया।

PM Modi, Narendra Modi, balakot airstrike, tv interview, lok sabha election 2019, pakistan, PMOindia, Hindi news, news in Hindi, latest news, today news in Hindiपीएम मोदी लोकसभा चुनाव के छठे चरण के मतदान से एक दिन पहले दिया इंटरव्यू। (फोटोः पीटीआई)

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के एक टीवी इंटरव्यू में बालाकोट एयरस्ट्राइक पर खुलासे के बाद उनका खूब मजाक उड़ाया जाने लगा। नेशनल टेक्नोलॉजी डे के दिन दिए इस इंटरव्यू में पीएम ने एयरस्ट्राइक से पहले बारिश और बादलों को मिशन के लिए फायदेमंद बताया था।

इस इंटरव्यू पर विपक्षी दलों ने पीएम को निशाने पर लिया। मार्क्सवादी कम्यूनिस्ट पार्टी के सीताराम येचुरी ने पीएम के बयान को शर्मनाक बताया। वहीं, एआईएमआईएम के प्रमुख असदउद्दीन औवैसी ने भी पीएम पर तंज किया। वहीं, पीएम के इस इंटरव्यू की संबंधित बाइट को भाजपा ने अपने ट्विटर अकाउंट पर पोस्ट किया।

हालांकि, पीएम के ट्वीट का मजाक उड़ने के बाद यह ट्वीट भाजपा के आधिकारिक ट्विटर हैंडल से हटा लिया गया। कांग्रेस के प्रवक्ता सलमान सोज ने भी पीएम को राडार की कार्यप्रणाली की जानकारी नहीं दिए जाने पर हैरानी जताई।

क्या बोले पीएमः पीएम ने कहा, ‘मैंने 9 बजे रिव्यू किया(एयर स्ट्राइक की तैयारियों के बारे में) मैंने… फिर 12 बजे रिव्यू किया। हमारे सामने समस्या थी की उस समय वेदर अचानक खराब हो गया… बहुत बारिश हुई… मैं हैरान हुआ अभी तक देश के इतने बड़े पंडित लोग मुझे गालियां देते हैं, उनका दिमाग यहां नहीं चलता। 12 बजे… ये भी मैं पहली बार बोल रहा हूं… एक पल हमारे मन में आया, इस वेदर में हम क्या करें, बादल हैं जा पाएंगे, नहीं जा पाएंगे उस समय एक्सपर्ट की राय थी कि तारीख बदल दें क्या।’
पीएम मोदी ने कहा, ‘उस समय मेरे मन में दो विचार आए। एक सीक्रेसी… अभी तक सब सीक्रेट था। सीक्रेसी में कुछ ढील हुई तो हम कुछ कर ही नहीं सकते। दूसरी बात मैंने नहीं मैं ऐसा व्यक्ति नहीं हू जो इन सब विज्ञान को जानता हूं लेकिन मैंने कहा इतना क्लाउड है, बारिश हो रही है तो एक बेनीफिट है। क्या हम राडार से बच सकते हैं। मैंने कहा ये मेरी सोच है कि बादलों से फायदा भी हो सकता है। सब उलझन में थे क्या करें। फिर अल्टीमेटली मैंने कहा ओके, जाइए। फिर चल पड़े।’

ऐसे उड़ा मजाकः एआईएमआईएम प्रमुख ओवैसी ने कहा, ‘सर @PMOIndia आप तो गजब के एक्सपर्ट हैं, सर रिक्वेस्ट है चौकीदार हटा दीजिए और एयर चीफ मार्शल और प्रधान… क्या टॉनिक पीता है आपके बातों में हर डिपार्टमेंट का फॉम्यूला है सिवाय रोजगार, अर्थव्यवस्था, औद्योगिक वृद्धि, किसानों की समस्याएं।’

वहीं, सीपीएम के सीताराम येचुरी ने कहा कि पीएम का बयान एयर फोर्स का अपमान है। पीएम का यह बयान अज्ञानता वाला और गैरपेशेवर है। जिन तथ्यों की पीएम बात कर रहे हैं यह अपने आप में राष्ट्र विरोधी है। कोई भी देशभक्त ऐसा नहीं करेगा।

कांग्रेस के प्रवक्ता सलमान सोज ने कहा कि लगता है किसी ने पीएम को राडार की कार्यप्रणाली के बारे में नहीं बताया। यदि ऐसा है तो राष्ट्रीय सुरक्षा के लिए यह बहुत गंभीर मामला है। यह हंसने की बात नहीं है।

कैसे काम करता है राडारः राडार विभिन्न तरह के ऑब्जेक्ट्स को इलेक्ट्रोमैगनेटिक सेंसर के जरिये पता लगाता, उसको ट्रैक करता है और उसकी पहचान करता है। इसे ऑब्जेक्ट की तरफ इलेक्ट्रोमैग्नेटिक एनर्जी ट्रांसमिट कर ऑपरेट किया जाता है। इस ऑब्जेक्ट को टार्गेट कहा जाता है।

राडार अन्य ऑप्टिकल और इंफ्रारेड डिवास की तुलना में टार्गेट को प्रतिकूल मौसम में उसकी रेंज, दूरी और सटीकता के साथ पता लगाता है।

Next Stories
1 अफसर ने मांगा था IPL का कम्प्लीमेंटरी पास, पीएम मोदी ने डेप्युटेशन रद्द कर भेज दिया वापस
2 पीएम मोदी और उनके मंत्रियों ने 5 साल में विदेशी, घरेलू दौरों पर खर्च किए 393 करोड़ रुपये, RTI में खुलासा
3 VIDEO: गए थे प्रदर्शन करने, आपस में ही हाथापाई पर उतर आए कांग्रेस नेता
आज का राशिफल
X