ताज़ा खबर
 

राष्ट्रपति चुनाव में उम्मीदवार होने की बात पर सुषमा स्वराज बोलीं- ये सब अफवाह है

विदेशमंत्री सुषमा स्वराज ने आज इन रिपोर्टों का खंडन करते हुए उसे ''अफवाह'' बताया कि वह राष्ट्रपति पद के चुनाव में एक दावेदार हैं।

Author June 17, 2017 9:18 PM
विदेश मंत्री सुषमा स्वराज। (फाइल फोटो)

भारतीय जनता पार्टी (भाजपा) के नेतृत्व वाले राष्ट्रीय जनतांत्रिक गठबंधन (राजग) की तरफ से राष्ट्रपति पद के लिए मजबूत उम्मीदवार मानी जा रहीं विदेश मंत्री सुषमा स्वराज ने अपनी उम्मीदवारी की खबरों को अफवाह करार दिया है। भाजपा अध्यक्ष अमित शाह ने शिवसेना प्रमुख उद्धव ठाकरे से मुलाकात के एक दिन पहले कहा कि सभी नामों पर चर्चा होगी। शिवसेना ने राष्ट्रीय स्वयंसेवक संघ (आरएसएस) के सरसंघचालक मोहन भागवत या कृषि-वैज्ञानिक एम.एस.स्वामीनाथन को राष्ट्रपति पद का उम्मीदवार बनाने की मांग की है। विदेश मंत्रालय के एक कार्यक्रम से अलग सुषमा ने संवाददाताओं से मीडिया की उस रपट को अफवाह करार दिया, जिसमें उन्हें राष्ट्रपति पद का उम्मीदवार बताया जा रहा है।

उन्होंने कहा, “ये सब अफवाह है। मैं विदेश मंत्री हूं और आप मुझसे कुछ ऐसा पूछ रहे हैं, जो कि पार्टी का अंदरूनी मामला है।” नरेंद्र मोदी की सरकार के तीन साल पूरे होने के मौके पर मुंबई में एक प्रेस वार्ता में शाह ने कहा, “हम अपने और राजग के घटकों के बीच विभिन्न नामों पर चर्चा और विचार कर रहे हैं। भाजपा सभी पार्टियों के साथ सर्वसम्मति तथा परामर्श में विश्वास रखती है।” शिवसेना द्वारा सुझाए गए आरएसएस प्रमुख मोहन भागवत और कृषि वैज्ञानिक एम.एस. स्वामीनाथन के नामों पर उन्होंने आश्वासन दिया कि कोई भी फैसला लेने से पूर्व सभी नामों पर विचार किया जाएगा और चर्चा की जाएगी।

उन्होंने चुटकी ली, “अगर आपके मन में कोई नाम है तो मुझे बताएं। हम उस पर भी विचार करेंगे।” विपक्ष की यह शिकायत की सत्ता पक्ष की तरफ से उन्हें कोई नाम नहीं मिला, शाह ने कहा, “अगर हम उनके समक्ष किसी का नाम रखेंगे, तो वे कहेंगे कि इस पर पहले ही फैसला कर लिया गया है, फिर इन बैठकों का क्या मतलब है..।”

शाह रविवार सुबह मुंबई में उद्धव ठाकरे से मुलाकात करने वाले हैं और राष्ट्रपति पद के उम्मीदवार सहित कई मुद्दों पर चर्चा करेंगे। केंद्र तथा राज्य में भाजपा का समर्थन करने वाली शिवसेना की कई मुद्दों पर भाजपा से ठनी हुई है और वह लगातार अपने भगवा साझेदार पर हमले कर रही है। पार्टी ने पिछले दो राष्ट्रपति चुनाव से भाजपा के साथ मतदान नहीं किया है।

Hindi News से जुड़े अपडेट और व्‍यूज लगातार हासिल करने के लिए हमारे साथ फेसबुक पेज और ट्विटर हैंडल के साथ गूगल प्लस पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News App