ताज़ा खबर
 

राष्ट्रपति ने मनोनीत किए राज्यसभा में 4 सांसद, मोदी सरकार को कराएंगे ‘बैतरणी पार’?

मानसून सत्र से पहले इन चारों मनोनयन को काफी अहम माना जा रहा है क्योंकि राज्यसभा में बीजेपी के पास बहुमत नहीं है, जबकि सरकार को मानसून सत्र में संसद से करीब दर्जन भर अहम विधेयकों को पास कराने की चुनौती है।

राष्ट्रपति रामनाथ कोविंद और प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी। (फाइल फोटो- पीआईबी)

राष्ट्रपति रामनाथ कोविंद ने शनिवार (14 जुलाई) को चार लोगों को राज्यसभा के लिए मनोनीत किया है। मनोनीत होने वालों में दिल्ली यूनिवर्सिटी के प्रोफेसर, लेखक और टीवी चैनलों पर संघ और बीजेपी की पैरवी करने वाले डॉ. राकेश सिन्हा, मशहूर मूर्तिकार-शिल्पकार पद्म विभूषण रघुनाथ महापात्रा, मशहूर शास्त्रीय नृत्यांगना सोनल मान सिंह और उत्तर प्रदेश से बीजेपी के पूर्व दलित सांसद और किसान नेता राम सकल सिंह शामिल हैं। राष्ट्रपति ने ये मनोनयन कला, संस्कृति, शिक्षा और सामाजिक कार्य कोटे से की हैं। राष्ट्रपति ने ये मनोनयन प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी की सलाह पर की है। क्रिकेटर सचिन तेंदुलकर, बॉलीवुड अभिनेत्रा रेखा, बिजनेस वुमेन अनु आगा और पूर्व एटॉर्नी जनरल के परासरन के रिटायरमेंट से ये सीटें खाली हुई थीं।

मानसून सत्र से पहले इन चारों मनोनयन को काफी अहम माना जा रहा है क्योंकि राज्यसभा में बीजेपी के पास बहुमत नहीं है, जबकि सरकार को मानसून सत्र में संसद से करीब दर्जन भर अहम विधेयकों को पास कराने की चुनौती है। बता दें कि अगले हफ्ते 18 जुलाई से संसद का मानसून सत्र शुरू होने जा रहा है। इस दौरान सरकार को सबसे पहले उप सभापति के चुनाव में विपक्षी एकता का सामना करना होगा।  मौजूदा उप सभापति पी जे कूरियन का कार्यकाल 30 जून को समाप्त हो चुका है। बीजेपी के पास फिलहाल सदन में 69 है जबकि उसके सहयोगियों के पास मात्र 24 सांसद ही हैं।

राकेश सिन्हा: ये दिल्ली यूनिवर्सिटी के तहत मोतीलाल नेहरू कॉलेज में प्रोफेसर हैं। इसके अलावा दिल्ली स्थित थिंक टैंक ‘इंडिया पॉलिसी फाउंडेशन’ के संस्थापक और निदेशक हैं। ये लेखक और स्तंभकार हैं। इन्हें अक्सर टीवी चैनलों पर होने वाले डिबेट में संघ और बीजेपी की पैरवी करते हुए देखा जाता है। मौजूदा समय में ये इंडियन काउंसिल ऑफ सोशल साइंस रिसर्च के सदस्य भी हैं।

रघुनाथ महापात्रा: महापात्र मशहूर मूर्तिकार और शिल्पकार हैं। इन्हें पद्म श्री, पद्म भूषण और पद्म विभूषण अलंकरण मिल चुका है। पारंपरिक स्थापत्य और धरोहरों के संरक्षण में इनका महत्वपूर्ण योगदान रहा है। उन्होंने श्री जगन्नाथ मंदिर, पुरी के सौदर्यीकरण कार्य में हिस्सा लिया। उनके प्रसिद्ध कार्यो में छह फुट लम्बे भगवान सूर्य की संसद के सेंट्रल हाल में स्थित प्रतिमा और पेरिस में बुद्ध मंदिर में लकड़ी से बने बुद्ध हैं।

राम सकल सिंह: उत्तर प्रदेश के राम सकल सिंह ने दलित समुदाय के कल्याण एवं बेहतरी के लिये काम किया है। एक किसान नेता के रूप में उन्होंने किसानों, श्रमिकों के कल्याण के लिये काम किया। वे तीन बार सांसद रहे और उत्तर प्रदेश के राबर्ट्सगंज का प्रतिनिधित्व किया था ।

सोनल मान सिंह: ये मशहूर भरतनाट्यम और ओडिसी नृत्यांगना हैं। छह दशकों से इन्होंने इस क्षेत्र में योगदान दिया है।

Hindi News से जुड़े अपडेट और व्‍यूज लगातार हासिल करने के लिए हमारे साथ फेसबुक पेज और ट्विटर हैंडल के साथ गूगल प्लस पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News App