ताज़ा खबर
 

संसद में भाषण दे रहे थे राष्ट्रपति राम नाथ कोविंद, राहुल गांधी देख रहे थे मोबाइल, बाद में कहा- राफेल पर मेरा स्टैंड वहीं

संसद के केंद्रीय कक्ष में राष्ट्रपति के अभिभाषण के दौरान कांग्रेस के राष्ट्रीय अध्यक्ष राहुल गांधी मोबाइल पर कुछ देर व्यस्त दिखाई दिए। इस दौरान राष्ट्रपति ने सरकार की प्राथमिकताओं को बारे में बात रखी।

संसद में भाषण के दौरान मोबाइल पर कुछ देखते हुए राहुल गांधी। (फोटोः वीडियो स्क्रीनशॉट)

संसद केंद्रीय कक्ष में राष्ट्रपति राम नाथ कोविंद के अभिभाषण के दौरान कांग्रेस अध्यक्ष राहुल गांधी मोबाइल पर कुछ समय के लिए व्यस्त दिखाई दिए। राहुल गांधी पहली पंक्ति में यूपीए चेयरपर्सन सोनिया गांधी के साथ बैठे थे।

वहीं, राष्ट्रपति के अभिभाषण के बाद कांग्रेस अध्यक्ष ने इस मुद्दे पर अपनी प्रतिक्रिया दी। राहुल ने कहा कि राफेल के मामले को लेकर मेरा स्टैंड वहीं है। राहुल ने कहा कि राफेल की फाइलें चोरी हुई हैं। वहीं, यूपीए चेयरपर्सन सोनिया गांधी ने राष्ट्रपति के अभिभाषण पर टिप्पणी देने से इनकार कर दिया।

इससे पहले राष्ट्रपति ने  हाल में संपन्न लोकसभा चुनाव के नतीजों को ‘भारत की विकास यात्रा जारी रखने के लिए जनादेश’ बताया।  उन्होंने कहा कि सरकार एक मजबूत, सुरक्षित और समावेशी भारत बनाने की दिशा में आगे बढ़ रही है।

17वीं लोकसभा के पहले सत्र में संसद के दोनों सदनों की संयुक्त बैठक को ऐतिहासिक केन्द्रीय कक्ष में संबोधित करते हुए राष्ट्रपति ने कहा,’लोकसभा के इतिहास में सबसे बड़ी संख्या में, 78 महिला सांसदों का चुना जाना नए भारत की तस्वीर प्रस्तुत करता है। इस लोकसभा में लगभग आधे सांसद पहली बार निर्वाचित हुए हैं।’ उन्होंने कहा, ‘‘इस चुनाव में देश की जनता ने बहुत ही स्पष्ट जनादेश दिया है।

2014 की विकास यात्रा को बढ़ाने का जनादेशः राष्ट्रपति ने कहा कि जनता ने सरकार के पहले कार्यकाल के मूल्यांकन के बाद, देशवासियों ने दूसरी बार और भी मजबूत समर्थन दिया है। ऐसा कर देशवासियों ने वर्ष 2014 से चल रही विकास यात्रा को निर्बाध, और तेज गति से आगे बढ़ाने का जनादेश दिया है।’

राष्ट्रपति ने लोकसभा चुनाव संपन्न कराने के लिए चुनाव आयोग को बधाई दी। उन्होंने कहा, ‘देश के 61 करोड़ से अधिक मतदाताओं ने मतदान कर एक नया कीर्तिमान स्थापित किया है और दुनिया में भारत के लोकतंत्र की साख बढ़ाई है।’

महिला सशक्तिकरण सरकार की सर्वोच्च प्राथमिकताः अपने अभिभाषण में राष्ट्रपति ने आधी आबादी की चर्चा करते हुए कहा कि महिला सशक्तिकरण सरकार की सर्वोच्च प्राथमिकता है। इस संबंध में राज्यों के सहयोग से कई कदम उठाए गए हैं। उन्होंने तीन तलाक प्रथा का उल्लेख करते हुए कहा, ‘देश में हर बहन-बेटी के लिए समान अधिकार सुनिश्चित करने हेतु ‘तीन तलाक’ और ‘निकाह-हलाला’ जैसी कुप्रथाओं का उन्मूलन जरूरी है।’

(भाषा से इनपुट के साथ)

Next Stories
1 हिरासत में मौत का मामला: पूर्व आईपीएस अधिकारी संजीव भट्ट को उम्र कैद
2 रिपोर्ट में दावा- कांग्रेस ने किया लोकसभा चुनाव में हार का पोस्टमॉर्टम, सामने आई इस विंग की बड़ी खामी
3 आम आदमी के इलाज के लिए एक दिन में औसतन 3 रुपये खर्च कर रही सरकार! 11000 लोगों पर महज 1 डॉक्टर
ये पढ़ा क्या?
X