ताज़ा खबर
 

राष्ट्रपति चुनाव: सोन‍िया गांधी से म‍िले राजनाथ सिंह और वेंकैया नायडू, कांग्रेस बोली- नाम बताने नहीं, पूछने आए थे

मौजूदा राष्ट्रपति प्रणब मुखर्जी का कार्यकाल 24 जुलाई को पूरा हो रहा है।

पूर्व कांग्रेस अध्यक्ष सोनिया गांधी। (पीटीआई फोटो)

भारत के अगले राष्ट्रपति का सर्वसम्मति से चुनाव करने के लिए भाजपा नेता और केंद्रीय मंत्री राजनाथ सिंह और वेंकैया नायडू ने शुक्रवार (16 जून) को कांग्रेस अध्यक्ष सोनिया गांधी से मुलाकात की। सोनिया और बीजेपी नेताओं के बीच ये मुलाकात करीब 30 मिनट तक चली। बैठक में कांग्रेस नेता गुलाम नबी आजाद और मल्लिकार्जुन खड़गे भी शामिल थे। बीजेपी नेताओं के संग बैठक के बाद आजाद और खड़गे ने मीडिया से कहा कि बीजेपी नेताओं ने राष्ट्रपति पद के लिए किसी उम्मीदवार का नाम नहीं पेश किया। कांग्रेसी नेताओं ने कहा कि बीजेपी नेताओं ने कांग्रेस से ही राष्ट्रपति उम्मीदवार का नाम पूछा।

भारतीय जनता पार्टी के अध्यक्ष अमित शाह ने गैर-बीजेपी दलों से राष्ट्रपति उम्मीदवार को लेकर एकराय बनाने के लिए तीन सदस्यों वाली समिति बनायी थी। इस समिति में गृह मंत्री राजनाथ सिंह , वित्त मंत्री अरुण जेटली और सूचना एवं प्रसारण मंत्री वेंकैया नायडू सदस्य हैं। वित्त अरुण जेटली दक्षिण कोरिया के दौरे पर होने के कारण सोनिया से मुलाकात करने नहीं जा सके। कांग्रेस नेता मल्लिकार्जुन खड़गे ने बीजेपी नेताओं के सोनिया गांधी से मुलाकात से पहले मीडिया से कहा था कि पार्टी बीजेपी द्वारा प्रस्ताव को देखने के बाद ही इस पर टिप्पणी करेगी।

मौजूदा राष्ट्रपति प्रणब मुखर्जी का कार्यकाल जुलाई को पूरा हो रहा है। अगले राष्ट्रपति के लिए चुनाव 17 को होंगे। नतीजे 20 जुलाई को आएंगे। चुनाव आयोग ने 14 जून को राष्ट्रपति चुनाव की अधिसूचना जारी की। 28 जून तक राष्ट्रपति पद के लिए पर्चा दाखिल किया जा सकता है। दो जुलाई तक नाम वापस लिया जा सकता है।

राष्ट्रपति चुनाव की बात सुनने और देखने में जितनी आसान लगती है, असल में यह उतनी ही टेढ़ी खीर है। देश की सबसे ताकतवर कुर्सी के लिए जनता मतदान नहीं करती। जी हां, राष्ट्रपति को सीधे तौर पर लोग खुद नहीं चुन सकते। राष्ट्रपति चुनाव की प्रक्रिया में विधायक और सांसद वोट देते हैं। ऐसे गिने जाते हैं उनके मत।

सत्ताधारी बीजेपी गठबंधन या विपक्षी कांग्रेस गठबंधन ने अभी तक राष्ट्रपति पद के लिए अपने उम्मीदवार का नाम घोषित नहीं किया है। जहां बीजेपी की तरफ से झारखंड की मौजूदा राज्यपाल द्रौपदी मुर्मू, विदेश मंत्री सुषमा स्वराज, लोक सभा अध्यक्ष सुमित्रा महाजन समेत कई नामों को लेकर अटकलें लगाई जा रही हैं। वहीं कांग्रेस की तरफ से महात्मा गांधी के पोते गोपाल कृष्ण गांधी एवं अमर्त्य सेन इत्यादि के राष्ट्रपति उम्मीदवार बनाए जाने को लेकर अनुमान जताए जा रहे हैं।

राष्ट्रपति चुनाव 2017 बेहद करीब है। चुनाव को लेकर राजनीतिक दलों में सुगबुगाहट तेज हो गई है। नए राष्ट्रपति के नाम को लेकर सभी बैठकें और विचार-विमर्श में जुटे हैं। तो आइए जानते हैं कि इस बार के चुनाव में दिख सकती है कुछ इस तरह की तस्वीर।

s://twitter.com/ANI_news/status/875594151881981952

 

 

वीडियो- पीएम नरेंद्र मोदी ने अपने निकट सहयोगियों को भी नहीं दी छूट

Hindi News से जुड़े अपडेट और व्‍यूज लगातार हासिल करने के लिए हमारे साथ फेसबुक पेज और ट्विटर हैंडल के साथ गूगल प्लस पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News App