प्रशांत किशोर के कम्प्यूटर में 300 लोकसभा सीटों का पूरा डेटा, पीएम भी नहीं कर पाते नजरअंदाज

किशोर ने हाल ही में कांग्रेस के पूर्व अध्यक्ष राहुल गांधी और सोनिया गांधी से मुलाकात की थी। जिसके बाद से ही उनके कांग्रेस में शामिल होने की अटकलें लगाई जा रही हैं। किशोर के पास 300 संसदीय निर्वाचन क्षेत्रों का कंप्यूटराइज़्ड डेटा है।

Prashant kishor, Poll strategist Prashant Kishor, prashant kishor met rahul gandhi, prashant kishor meets rahul gandhi, prashant kishor meeting rahul, Prashant Kishore may Join Congress, Poll strategist Prashant Kishore, pm modi cabinet reshuffle, up elections, yogi adityanath, sarbananda sonowal, राहुल गांधी से मिले प्रशांत किशोर, कांग्रेस में शामिल हो सकते हैं प्रशांत किशोर, चुनावी रणनीतिकार प्रशांत किशोर, राहुल गांधी और प्रशांत किशोर के मिलने के मायने, प्रशांत किशोर, jansatta
प्रशांत किशोर के पास 300 संसदीय निर्वाचन क्षेत्रों का कंप्यूटराइज़्ड डेटा है। (express file photo)

चुनाव रणनीतिकार प्रशांत किशोर को लेकर सियासी गलियारों में चर्चाओं का माहौल जारी है। किशोर ने हाल ही में कांग्रेस के पूर्व अध्यक्ष राहुल गांधी और सोनिया गांधी से मुलाकात की थी। जिसके बाद से ही उनके कांग्रेस में शामिल होने की अटकलें लगाई जा रही हैं।

90 फीसद से अधिक सफलता हासिल करने वाले प्रशांत किशोर के कम्प्यूटर में 300 लोकसभा सीटों का पूरा डेटा है। ‘द इंडियन एक्सप्रेस’ के कॉलम इनसाइड ट्रक में कुमी कपूर ने लिखा राहुल गांधी और प्रियंका वाड्रा के साथ प्रशांत किशोर की मुलाकात, में सोनिया गांधी वीडियो कॉल के माध्यम से जुड़ी थी। इस मुलाक़ात के बाद राजनीतिक खिलाड़ी के रूप में किशोर का कद और बढ़ गया है। किशोर की गांधी परिवार के साथ बैठक में चर्चा कथित तौर पर पंजाब और यूपी चुनाव या कांग्रेस में शामिल होने के बारे में नहीं थी।”

यह मुलाक़ात अगले साल राष्ट्रपति चुनाव के लिए एक व्यापक राजनीतिक मोर्चे का प्रस्ताव था। दिलचस्प बात यह है कि किशोर के ज़्यादातर विपक्षी दलों से अच्छे रिश्ते है। इसके अलावा वे पीएम मोदी से भी मिलते रहते हैं। उनके पास आठ राज्यों के लगभग 300 संसदीय निर्वाचन क्षेत्रों का कंप्यूटराइज़्ड डेटा है।

मीडिया रिपोर्ट्स के मुताबिक अब चर्चा है कि पीके 2024 लोकसभा चुनावों में कांग्रेस की चुनावी रणनीति तैयार करने में एक बड़ी भूमिका निभा सकते हैं। अटकलें तो यहां तक लगाई जा रही हैं कि प्रशांत किशोर इस बार कांग्रेस के लिए केवल रणनीति ही नहीं बनाएंगे, बल्कि उसमें शामिल होकर किसी महत्वपूर्ण पद पर जिम्मेदारी भी संभाल सकते हैं।

रिपोर्ट्स की मानें तो कांग्रेस में होने वाले बदलाव के क्रम में राहुल गांधी को लोकसभा में विपक्ष का नेता बनाया जा सकता है, जबकि अधीर रंजन चौधरी को राहुल वाली जिम्मेदारी सौंपी जा सकती है। इसके साथ ही सोनिया गांधी कांग्रेस के स्थायी अध्यक्ष बनाई जा सकती हैं।

पढें राष्ट्रीय समाचार (National News). हिंदी समाचार (Hindi News) के लिए डाउनलोड करें Hindi News App. ताजा खबरों (Latest News) के लिए फेसबुक ट्विटर टेलीग्राम पर जुड़ें।

अपडेट