ताज़ा खबर
 

पुराने साथियों ने दिल्ली दंगों को लेकर केजरीवाल पर साधा निशाना, आशुतोष बोले- अब वह सिर्फ राजनेता हैं, जिसके लिए वोट अहम

प्रशांत किशोर ने लिखा "केजरीवाल अब आदर्श नहीं रह गए हैं, जो सही चीजों के लिए लड़ता था; जो राजनीति को बदलने के लिए राजनीति में उतरा था। लेकिन राजनीति ने ही उन्हें बदल दिया है।"

Arvind kejriwal, BJP, Delhi, CAA, BJPदिल्ली के मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल। (फाइल फोटो)

दिल्ली दंगों को लेकर भाजपा सरकार आलोचकों के निशाने पर है। वहीं दिल्ली की सत्ता पर काबिज आम आदमी पार्टी को भी इस मुद्दे पर निशाना बनाया जा रहा है। यहां तक कि आम आदमी पार्टी में अरविंद केजरीवाल के पुराने सहयोगी रहे लोगों ने भी उनके खिलाफ मोर्चा खोल दिया है।

प्रशांत भूषण ने अपने एक ट्वीट में केजरीवाल पर निशाना साधते हुए एक लेख में लिखी बातों को उद्धत किया “केजरीवाल अब आदर्श नहीं रह गए हैं, जो सही चीजों के लिए लड़ता था; जो राजनीति को बदलने के लिए राजनीति में उतरा था। लेकिन राजनीति ने ही उन्हें बदल दिया है। हैरानी की बात नहीं है कि दिल्ली दंगों के दौरान वह दिखाई नहीं दिए और ना ही न्याय के लिए खड़े हुए। अब वह सिर्फ राजनेता हैं, जिसके लिए वोट अहम हैं।”

यह लेख अरविंद केजरीवाल के पूर्व सहयोगी और वरिष्ठ पत्रकार आशुतोष ने लिखा है। आशुतोष ने अपने लेख में लिखा कि केजरीवाल को दिल्ली का सीएम होने के नाते हिंसा प्रभावित इलाकों में जाना चाहिए था। इससे स्थानीय लोगों को भरोसा मिलता, लेकिन उन्होंने घर बैठना उचित समझा।

आशुतोष ने लिखा कि केजरीवाल ने दंगों को लेकर केन्द्र सरकार के खिलाफ कोई बयानबाजी भी नहीं की। कन्हैया कुमार के खिलाफ देशद्रोह का मुकदमा चलाने की इजाजत देने के लिए भी आशुतोष ने केजरीवाल की आलोचना की।

कुमार विश्वास भी दिल्ली हिंसा को लेकर अरविंद केजरीवाल को निशाने पर ले चुके हैं। बीते दिनों कुमार विश्वास ने केजरीवाल के एक पुराने ट्वीट को रिट्वीट किया, जिसमें केजरीवाल ने दिल्ली में रेप की घटनाओं को लेकर तत्कालीन सीएम शीला दीक्षित को ‘हेल्पलेस सीएम’ बताया था।

कुमार विश्वास तो केजरीवाल के खिलाफ खासे मुखर रहे हैं। बीते दिसंबर में जामिया में हुई हिंसा के बाद कुमार विश्वास ने एक ट्वीट कर परोक्ष रूप से केजरीवाल की आलोचना की थी। कुमार विश्वास ने ट्वीट करते हुए केजरीवाल पर सत्ता के लिए देश, सेना, जनता, सिद्धांत, बच्चे, मां-बाप को भी दांव पर लगाने का आरोप लगाया था।

Hindi News के लिए हमारे साथ फेसबुक, ट्विटर, लिंक्डइन, टेलीग्राम पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News AppOnline game में रुचि है तो यहां क्‍लिक कर सकते हैं।

Next Stories