ताज़ा खबर
 

प्रकाश अंबेडकर ने चैनल के संपादक को दी गाली, बोले- 6 महीने में सरकार बदल जाएगी

प्रकाश अंबेडकर कहते हैं- उससे कहो कि इडियटनेस जो है वो बंद करे। सरकार छह महीने के बाद में नहीं है। हम इनकी @##...## मार सकते हैं। हम आपके साथ सबकुछ कर सकते हैं।

प्रकाश अंबेडकर

संविधान निर्माता डॉक्टर भीमरामजी अंबेडकर के पोते प्रकाश अंबेडकर ने एक न्यूज़ चैनल के संपादक को खुलेआम गालियां दी है। इस गाली-गलौच का एक वीडियो भी सामने आया है। इसमें दिख रहा है कि प्रकाश अंबेडकर एक चैनल के संपादक को पहले धमकी दे रहे हैं और फिर बेहद ही अभ्रद्र भाषा का इस्तेमाल करने लगते हैं। प्रकाश अंबेडकर कहते हैं- उससे कहो कि इडियटनेस जो है वो बंद करे। सरकार छह महीने के बाद में नहीं है। हम इनकी @##…## मार सकते हैं। हम आपके साथ सबकुछ कर सकते हैं। ये मत कहिए उससे कि यह सरकार चलेगी पांच साल के लिए। मैंने कहा ना आपको उससे कहिए की इलेक्शन होने दो उसके बाद में मिलते हैं। उसको बोल देना कि किसके पीछे लगे हो वो याद नहीं है तुमको। उसे कह देना कि हमलोग भी उसके पीछे लग सकते हैं’।

कहा जा रहा है कि एक न्यूज चैनल ने कुछ समय पहले भीमा कोरेगांव में हुई हिंसा को लेकर एक रिपोर्ट दिखाई थी। इस रिपोर्ट में कहा गया था कि इस हिंसा को भड़काने में कुछ कांग्रेसी नेता शामिल हो सकते हैं। इसी खबर को चैनल पर दिखाए जाने के बाद से प्रकाश अंबेडकर बुरी तरह से नाराज हो गए थे और उन्होंने टाइम्स नाउ के संपादक आनंद नरीसीमन को खुलेआम धमकी दी है।

न्यूज चैनल ‘टाइम्स नाउ’ ने अपनी एक एक्सक्लूसिव रिपोर्ट में माओवादियों द्वारा रोना विल्सन को लिखे एक ख़त के बारे में विस्तार से दिखलाया है। इस खत में लिखा गया था कि ‘अगला साल 2019 में मोदी के रथ को रोकने के लिए देश में ब्राह्रणों और दलितों के बीच नफरत फैलाने में कांग्रेस नेतृत्व हर कानूनी और आर्थिक सहायता प्रदान करेगा। इस ख़त में जिक्र था कि युवा नेता जिग्नेश मेवाणी, उमर खालिद और प्रकाश अंबेडकर यह तीनों मिलकर पूरे देश में दलित संघर्ष को फैलाने में मदद करेंगे। इस चिट्ठी में एक युवा लड़के की मौत के बारे में भी लिखा गया है जिसके बाद एक एजेंडे के तहत हिंसा फैलाने की बात कही गई है’।

आपको बता दें कि महाराष्ट्र पुलिस ने यह पत्र, लैपटॉप और कुछ मोबाइल रोना विल्सन के घर से बरामद किया है। खत में 2 जनवरी की तारीख दर्ज है। आपको बता दें कि भीमाकोरो गांव हिंसा मामले में पुलिस ने हाल ही में रोना विल्सन, सुरेंद्र, सुधीर धावले, प्रोफेसर शोमा सेन और महेश राउत को गिरफ्तार किया। पुलिस को शक है इनका माओवादियों से कनेक्शन हो सकता है।

Hindi News से जुड़े अपडेट और व्‍यूज लगातार हासिल करने के लिए हमारे साथ फेसबुक पेज और ट्विटर हैंडल के साथ गूगल प्लस पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News App