योगी सरकार के मंत्री के घर पर लगा प्रीपेड मीटर, बैलेंस खत्म होते ही कट जाएगी बिजली

उत्तर प्रदेश में विभिन्न सरकारी विभागों और आवासों के 13000 करोड़ रुपये का बिजली बिल बकाया है।

उत्तर प्रदेश के ऊर्जा मंत्री श्रीकांत शर्मा। (फाइल फोटो सोर्स: द इंडियन एक्सप्रेस)

उत्तर प्रदेश में योगी सरकार के बिजली मंत्री श्रीकांत शर्मा ने शुक्रवार को मंत्रियों और सरकारी अधिकारियों के आवास में प्रीपेड बिजली मीटर लगाने के अभियान की शुरुआत की। इस अभियान के तहत श्रीकांत शर्मा ने अपने आधिकारिक कालिदास मार्ग स्थित आवास पर भी 25 केवी क्षमता वाला प्रीपेड मीटर लगवाया। प्रीपेड मीटर की वजह से पहले से भरा गया बैलेंस खत्म होते ही घर में बिजली की सप्लाई अपने आप डिस्कनेक्ट हो जाएगी।

पत्रकारों से बातचीत में शर्मा ने कहा कि यह कदम राजनेताओं और अधिकारियों के बारे में लोगों के बीच बैठी उस धारणा को दूर भगाने के लिए है, जिसके तहत माना जाता है कि ये लोग बिजला की बकाया धनराशि का भुगतान नहीं करते हैं। गौरतल है कि राजनेताओं, मंत्रियों और अधिकारियों के आवासों में प्रीपेड मीटर लगाने का फैसला 29 अक्टूबर को ऊर्जा विभाग ने लिया था।

मीडिया रिपोर्ट्स के मुताबिक ऊर्जा विभाग के द्वारा उत्तर प्रदेश में प्रमुख लोगों के घरों के लिए लगभग एक लाख प्रीपेड मीटर खरीदे जाएंगे। श्रीकांत शर्मा ने बताया कि वह लोगों से अपील कर रहे हैं कि बिजली बचाने और बिजली का सही ढंग से इस्तेमाल करने के लिए प्रीपेड मीटर का इस्तेमाल करें। दरअसल, यह फैसला त्वरित रूप से इसलिए भी लिया गया है, क्योंकि विभिन्न सरकारी विभागों और घरों के लगभग 13,000 रुपये का बिल बकाया है।

एनटीडीवी के मुताबिक श्रीकांत शर्मा ने बकाया धनराशि के संदर्भ में कहा कहा है, “इन बकाया राशि के भुगतान के लिए किश्तों का विकल्प दिया जाएगा। जैसे ही प्रीपेड मीटर मुहैया होंगे, उन्हें सरकारी कार्यालयों और आवासों में स्थापित किया जाएगा।” मंत्री के मुताबिक सभी 75 जिलों में बिजली चोरी रोकने के लिए एक डेडिकेटेड पुलिस स्टेशन स्थापित किए जा रहे हैं। इसे लेकर 68 पुलिस स्टेशन पहले ही स्थापित किए जा चुके हैं।

पढें राष्ट्रीय समाचार (National News). हिंदी समाचार (Hindi News) के लिए डाउनलोड करें Hindi News App. ताजा खबरों (Latest News) के लिए फेसबुक ट्विटर टेलीग्राम पर जुड़ें।