ताज़ा खबर
 

BHU में फिर बवालः ‘हिंदी विरोधी वीसी कर रहे सौतेला व्यवहार, JNU वालों पर है विशेष कृपा’, पोस्टर वायरल

पोस्टर में नियुक्ति प्रक्रिया में भ्रष्टाचार और अनियमितता का आरोप लगाते हुए जेएनयू पर विशेष कृपा किए जाने का भी आरोप लगाया है। साथ ही यह भी लिखा है कि महामना की गरिमा और बीएचयू की अस्मिता से दुर्व्यवहार किया जा रहा है।

बीएचयू वीसी के खिलाफ लगे पोस्टर वायरल हुए (फोटो-एएनआई)

बनारस हिंदू यूनिवर्सिटी (BHU) में कथित तौर पर हिंदी भाषियों से भेदभाव का मामला गर्माता जा रहा है। वाराणसी में कई जगहों पर ऐसे पोस्टर देखे गए हैं जिनमें BHU के वाइस चांसलर को हिंदी विरोधी करार देते हुए उनके इस्तीफे की मांग की गई है। एएनआई पर ऐसी कुछ तस्वीरें सामने आई हैं। हाल ही में असिस्टेंट प्रोफेसर के पदों पर भर्ती के लिए इंटरव्यू के दौरान बीएचयू प्रशासन ने कथित तौर पर उन कैंडिडेंट्स का इंटरव्यू नहीं लिया था, जिन्होंने हिंदी को बातचीत की भाषा बताया था।

पोस्टर में लिखी हैं ये बातेंः पोस्टर में बीएचयू के वीसी राकेश भटनागर को संबोधित करते हुए कुछ सवाल पूछे हैं। इस्तीफा मांगने वालों ने पूछा है, ‘काशी हिंदू विश्वविद्यालय में हिंदी के साथ सौतेला व्यवहार क्यों? हिंदी भाषी होने के चलते इंटरव्यू देने आए लोगों का अपमान क्यों?’ विरोध करने वालों ने इसे संवैधानिक मूल्यों का उल्लंघन और मौलिक अधिकारों का हनन करार देते हुए विश्वविद्यालय में राजभाषा प्रकोष्ठ की जरूरत पर भी सवाल उठा दिए।

‘जेएनयू पर विशेष कृपा क्यों?’: पोस्टर में नियुक्ति प्रक्रिया में भ्रष्टाचार और अनियमितता का आरोप लगाते हुए जेएनयू पर विशेष कृपा किए जाने का भी आरोप लगाया है। साथ ही यह भी लिखा है कि महामना की गरिमा और बीएचयू की अस्मिता से दुर्व्यवहार किया जा रहा है।

Hindi News Live Hindi Samachar 17 January 2020: पढ़ें आज की बड़ी खबरें

‘पोस्टर लगाने वाले नकारात्मक सोच के’: मीडिया रिपोर्ट्स के मुताबिक बीएचयू के जनसूचना अधिकारी राजेश सिंह ने पोस्टर लगाने वालों को नकारात्मक सोच का करार दिया। उन्होंने दावा किया है कि इंटरव्यू की पूरी प्रक्रिया पारदर्शिता के साथ हुई है, इसमें किसी को आपत्ति नहीं होनी चाहिए। प्रशासन को ऐसे लोगों से निपटना चाहिए।

Hindi News से जुड़े अपडेट और व्‍यूज लगातार हासिल करने के लिए हमारे साथ फेसबुक पेज और ट्विटर हैंडल के साथ लिंक्डइन पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News App

Next Stories
1 2012 दिल्ली गैंगरेप केसः राष्ट्रपति रामनाथ कोविंद ने खारिज की दोषी की दया याचिका
2 CAA के खिलाफ पंजाब विधानसभा में पारित हुआ प्रस्ताव, केरल के बाद ऐसा करने वाला दूसरा राज्य
3 DSP देविंदर सिंह पर बोले राहुल गांधी- आतंकी को चुप कराने को सौंपा गया NIA को केस, जांच एजेंसी प्रमुख भी एक मोदी ही हैं
ये पढ़ा क्या?
X
Testing git commit