ताज़ा खबर
 

ISIS के हमले का खतरा, बीएसएफ ने कहा- लश्‍कर के साथ कश्‍मीर में कर सकता है वारदात

मोदी के पीएम बनने के बाद पाकिस्‍तान की ओर से फायरिंग में सौ फीसदी बढ़ोत्‍तरी हुई है। घुसपैठ की कोशिशें भी 45 गुना तक बढ़ गई हैं।

जम्‍मू | Updated: November 26, 2015 7:38 PM
जम्‍मू-कश्‍मीर के अखनूर सेक्‍टर के धार गांव में इंडिया और पाकिस्‍तान के बॉर्डर पर गश्‍त करता भारतीय सेना का जवान। (AP Photo/Channi Anand)

बॉर्डर सिक्‍युरिटी फोर्स (बीएसएफ) ने इस बात की आशंका जताई है कि जम्‍मू-कश्‍मीर में इस्‍लामिक स्‍टेट (ISIS) और लश्‍कर-ए-तैयबा साथ मिलकर हमले कर सकते हैं। बीएसएफ जम्‍मू फ्रंटियर्स के आईजी राकेश शर्मा ने कहा, ”हाल ही में हमें इस तरह की खुफिया जानकारी मिली है। इस वजह से हमने चौकसी बढ़ा दी है।” बता दें कि मोदी के पीएम बनने के बाद पाकिस्‍तान की ओर से फायरिंग में सौ फीसदी बढ़ोत्‍तरी हुई है। घुसपैठ की कोशिशें भी 45 गुना तक बढ़ गई हैं। सिक्‍युरिटी एजेंसियों को ऐसा लगता है कि इंटरनेशनल बॉर्डर और लाइन ऑफ कंट्रोल से सटे पाकिस्‍तान के इलाकों में ठिकाना बना चुके आतंकियों की इस्‍लामिक स्‍टेट मदद कर सकता है।

बीएसएफ अधिकारी ने माना कि उन्‍हें अभी तक इस बात की कोई पुख्‍ता खुफिया जानकारी नहीं मिली कि आर्इएसआईएस पाकिस्‍तानी आतंकियों में पैठ बना रहा है। हालांकि, उन्‍होंने इस आशंका को खारिज भी नहीं किया। उन्‍होंने कहा, ”हम बेहद सतर्कता से इस बात पर नजर रखे हुए हैं कि पूरी दुनिया में क्‍या हो रहा है। आतं‍की किसी भी जगह पर कुछ भी कर सकते हैं। हाल ही में आईएसआईएस की ओर से दुनिया भर में किए गए हमलों ने हमारी चिंता बढ़ाई है। हमने पर्याप्‍त कदम उठाए हैं। हमने अपनी सैन्‍य टुकड़ि‍यों और कमांडर्स को बेहद सर्तक रहने को कहा है। हमने उन्‍हें कहा है कि वे अपने इलाके में बदल रहे हालात पर नजर रखें। हम सीमा से सटे इलाकों में रात-दिन सभी तरह की संदिग्‍ध गतिविधियों पर नजर रख रहे हैं। और तो और, इंटरनेशनल बॉर्डर के करीब किसी तरह की संदिग्‍ध गतिविधि होने पर हम पाकिस्‍तान को भी फोन करके उनके इलाके में हो रही इस बारे में जानकारी देते हैं। हम उन्‍हें यह सुनिश्‍चित करने के लिए कहते हैं कि घुसपैठ की कोशिश न हो। ” शर्मा के मुताबिक, पाक सेना और रेंजर्स की शह पाकर लश्‍कर चीफ हाफिज सईद भी इंटरनेशनल बॉर्डर से सटे इलाकों में आतंकियों को हमले करने के लिए उकसा रहा है। शर्मा के मुताबिक, पाकिस्‍तान की मदद के बिना हाफिज सईद ऐसे खुलकर काम नहीं कर सकता।

Read Also: 

जमीन के अंदर से पूरे शहर में ISIS ने फैला रखा था नेटवर्क, देखिए 40 रास्‍तों वाली सुरंगों की तस्‍वीरें 

जानिए, भारतीय आतंकियों को धोखे से कैसे फिदायीन बना देता है ISIS, क्‍यों दिखाया जाता है जिन्‍न का डर? 

भारतीय आतंकियों को दोयम दर्जे का मानता है ISIS, शादी में भी अरब कमांडर्स को देता है तरजीह

Next Stories
1 26/11 की बरसी पर पाकिस्‍तान के साथ श्रीलंका में क्रिकेट सीरीज को हरी झंडी, टि्वटर पर फूटा लोगों का गुस्‍सा
2 सोनिया का एनडीए सरकार पर वार, कहा-संविधान को न मानने वाले ही जप रहे हैं इसका नाम
3 संसद के शीतकालीन सत्र के पहले दिन पहली बार हुईं ये पांच बातें
ये पढ़ा क्या?
X