ताज़ा खबर
 

महाराष्ट्र में सरकार बनने के दो सप्ताह बाद विभागों का बंटवारा, शिवसेना को गृह, एनसीपी को वित्त और कांग्रेस को मिला राजस्व विभाग

राज्य सरकार में मंत्री और शिवसेना नेता एकनाथ शिंदे महाराष्ट्र के गृह मंत्री होंगे। गृह मंत्रालय के अलावा एकनाथ शिंदे शहरी विकास, पर्यावरण, पीडब्लूडी, पर्यटन और संसदीय कार्यों की भी जिम्मेदारी निभाएंगे।

Author Edited By नितिन गौतम मुंबई | Updated: December 12, 2019 6:49 PM
महाराष्ट्र सरकार में हुआ विभागों का बंटवारा। (पीटीआई फोटो)

महाराष्ट्र में सरकार गठन के दो हफ्तों के बाद आज यानि कि गुरूवार को विभागों का बंटवारा हो गया। शिवसेना-एनसीपी और कांग्रेस के बीच विभागों के बंटवारे को लेकर बीते कई दिनों से जारी बातचीत के बाद आपसी सहमति बन गई है। इस सहमति के तहत गृह मंत्रालय और शहरी विकास मंत्रालय शिवसेना, वित्त और आवास मंत्रालय एनसीपी और राजस्व विभाग कांग्रेस के खाते में गया है।

राज्य सरकार में मंत्री और शिवसेना नेता एकनाथ शिंदे महाराष्ट्र के गृह मंत्री होंगे। गृह मंत्रालय के अलावा एकनाथ शिंदे शहरी विकास, पर्यावरण, पीडब्लूडी, पर्यटन और संसदीय कार्यों की भी जिम्मेदारी निभाएंगे। इनके अलावा शिवसेना नेता सुभाष देसाई को उद्यम, उच्च और तकनीकी शिक्षा, खेल और युवा मामलों के साथ ही रोजगार विभाग दिया गया है।

एनसीपी नेता छगन भुजबल ग्रामीण विकास मंत्रालय सामाजिक विकास, जल संसाधन और उत्पाद शुल्क विभाग की जिम्मेदारी संभालेंगे। अन्य एनसीपी नेता जयंत पाटिल महाराष्ट्र के वित्त मंत्री होंगे। वित्त मंत्रालय के साथ ही जयंत पाटिल आवासीय, फूड सप्लाई और श्रम विभाग का कामकाज भी संभालेंगे।

वहीं कांग्रेस कोटे से सरकार में मंत्री बने बालासाहेब थोराट को राजस्व, शिक्षा विभाग, पशुपालन, मतस्य पालन विभाग का जिम्मा सौंपा गया है। कांग्रेस के ही कोटे से दूसरे मंत्री बनाए गए नितिन राउत को पीडब्लूडी, आदिवासी विकास, ओबीसी विकास, महिला एवं बाल विकास मंत्रालय के साथ राहत और पुनर्विकास मंत्रालय की जिम्मेदारी सौंपी गई है।

बता दें कि इन सभी छः नेताओं ने उद्धव ठाकरे के साथ ही मंत्री पद की शपथ ली थी। लेकिन इन नेताओं को विभागों का बंटवारा नहीं हुआ था। आज गठबंधन की तीनों पार्टियों शिवसेना-कांग्रेस और एनसीपी के बीच सहमति बनने के बाद मंत्रियों के बीच विभागों का बंटवारा कर दिया गया है।

उल्लेखनीय है कि महाराष्ट्र विधानसभा चुनावों में भाजपा और शिवसेना ने गठबंधन कर चुनाव लड़ा था। दोनों पार्टियों को बहुमत भी मिला, लेकिन सीएम पद साझा करने को लेकर दोनों पार्टियों में सहमति नहीं बन सकी, जिसके बाद शिवसेना ने एनसीपी और कांग्रेस के साथ मिलकर महा विकास अघाड़ी सरकार बना ली। 28 नवंबर को उद्धव ठाकरे ने महाराष्ट्र के सीएम के तौर पर शपथ ली थी। खबर के अनुसार, मंगलवार को उद्धव ठाकरे और एनसीपी चीफ शरद पवार के बीच विभागों के बंटवारे को लेकर बातचीत हुई थी। इस मीटिंग में कांग्रेस के वरिष्ठ नेता बालासाहेब थोराट भी मौजूद रहे।

Hindi News से जुड़े अपडेट और व्‍यूज लगातार हासिल करने के लिए हमारे साथ फेसबुक पेज और ट्विटर हैंडल के साथ लिंक्डइन पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News App

Next Stories
1 पूर्वोत्तर में उबाल, असम में कर्फ्यू के बीच आगजनी और गोलीबारी, पढ़ें- CAB से जुड़े हर अपडेट
2 राम मंदिर बनने का रास्ता साफ, सुप्रीम कोर्ट ने खारिज की पुनर्विचार याचिकाएं
3 सपा सरकार के बिगड़ैल बच्चे अब कर रहे अपराध, मुलायम ने कहा था बच्चों से गलती हो जाती है; योगी के मंत्री बोले
ये पढ़ा क्या?
X