ताज़ा खबर
 

सरकार का दावा- पीएम के अभ‍ियान के चलते देश में 38 से 89 फीसदी हो गया स्‍वच्‍छता लेवल

केन्द्र सरकार ने स्वच्छ भारत अभियान की कामयाबी के हवाले से भारत में स्वच्छता का स्तर 38 प्रतिशत से बढ़कर 89 प्रतिशत हो जाने का दावा किया है।

Author नई दिल्ली | August 6, 2018 6:29 PM

केन्द्र सरकार ने स्वच्छ भारत अभियान की कामयाबी के हवाले से भारत में स्वच्छता का स्तर 38 प्रतिशत से बढ़कर 89 प्रतिशत हो जाने का दावा किया है। केन्द्रीय ग्रामीण विकास मंत्री नरेन्द्र सिंह तोमर ने आज राज्यसभा में प्रश्नकाल के दौरान बताया ‘‘हाल ही में एक रिपोर्ट आयी है उसमें स्वच्छ भारत अभियान के माध्यम से भारत में स्वच्छता का प्रतिशत जो कभी 38 हुआ करता था अब वह 89 प्रतिशत हो गया है। इसके कारण लगभग तीन लाख बच्चे मृत्यु के खतरे से बच सके हैं।’’ सपा के रवि प्रकाश वर्मा ने संयुक्त राष्ट्र विकास कार्यक्रम (यूएनडीपी) की एक रिपोर्ट के हवाले से पूछा था कि ग्रामीण क्षेत्रों में स्वच्छ भारत अभियान के तहत शौचालय निर्माण में खामी की वजह से गंदगी जनित बीमारियों के प्रभाव में बच्चों के आने की स्थिति से निपटने के लिये क्या कदम उठाये गये है। तोमर ने कहा कि यूएनडीपी की उक्त रिपोर्ट 2014-15 में आयी थी।

इसके बाद स्वच्छ भारत अभियान की कामयाबी का जिक्र करते हुये उन्होंने कहा कि स्वच्छता का स्तर बढ़ने के बीच गंदगी जनित बीमारियों से बच्चों की मौत का फिलहाल कोई मामला मंत्रालय के संज्ञान में नहीं आया है। तोमर ने शौचालय निर्माण की तकनीक में बदलाव से जुड़े पूरक प्रश्न के जवाब में कहा कि इस बारे में गठित माशेलकर समिति ने सेप्टिक टैंक और सोख्ता टैंक सहित आठ तकनीक पद्धति से टैंक बनाने को मंजूरी दी है। उन्होंने स्पष्ट किया कि राज्य सरकारें इनमें से कोई भी तकनीक अपना सकती हैं।

शौचालय निर्माण की राशि के रूप में 12 हजार रुपये की मात्रा में बढ़ोतरी के पूरक प्रश्न पर तोमर ने स्पष्ट किया कि यह निर्माण राशि नहीं है, बल्कि प्रोत्साहन राशि है जिससे लोग शौचालय निर्माण के लिये प्रेरित हों। उन्होंने योजना के अब तक के परिणाम को सराहनीय बताते हुये कहा कि अब तक देश में 19 राज्य, 421 जिले, 4129 ब्लॉक, 180945 ग्राम पंचायतें और 409442 गांव खुले में शौच की समस्या से मुक्त (ओडीएफ) घोषित कर दिये गये हैं।

Hindi News से जुड़े अपडेट और व्‍यूज लगातार हासिल करने के लिए हमारे साथ फेसबुक पेज और ट्विटर हैंडल के साथ लिंक्डइन पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News App