ताज़ा खबर
 

10 दिन में पेट्रोल से भी महंगा हुआ प्याज: सियासत तेज, कांग्रेस बोली- क्या कर रही सरकार?

राजधानी में मंगलवार को कृषि भवन के बाहर लोग अपने दफ्तर का काम छोड़ सरकारी प्याज खरीदने के लिए लंबी लाइन में लगे नजर आए। सरकारी उपक्रम एनसीसीएफ की गाड़ी से प्याज की बिक्री शुरू होने से लगभग 1.30 घंटे पहले ही वे कतार लगाकर वहां प्याज लेने पहुंच गए थे।

Onion, Onion Rates, Petrol, Diesel, Food Inflation, Inflation, Congress, BJP, AAP, Delhi, Politics, India News, Breaking News, Latest News, Hindi News, National Newsतस्वीर का इस्तेमाल सिर्फ प्रस्तुतिकरण के लिए किया गया है। (फोटोः Freepik)

प्याज के दाम दिन-ब-दिन बढ़ते ही जा रहे हैं। आलम यह है कि बीते 10 दिन में देश के कई हिस्सों में यह पेट्रोल से भी महंगा हो गया है। ऐसे में प्याज के मुद्दे पर सियासत भी तेज हो चली है। देश की राजधानी नई दिल्ली में इसी को लेकर मुख्य विपक्षी दल कांग्रेस और केंद्र में सत्तारूढ़ भारतीय जनता पार्टी (बीजेपी) ने मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल के नेतृत्व वाली आम आदमी पार्टी (आप) सरकार पर जुबानी निशाना साधा है।

कांग्रेसी नेता शर्मिष्ठा मुखर्जी ने कहा है, “आज प्याज के दाम आसमान छू रहे हैं। फूड इन्फ्लेशन (खाद्य सामग्री में महंगाई) कम करने के लिए सरकार क्या कर रही है? पेट्रोल-डीजल और अन्य चीजों के दाम बढ़ना लोगों के रोजमर्रा के जीवन को प्रभावित कर रही है। ये अच्छी बात है।”

इसी बीच, बीजेपी प्रवक्ता नलिन कोहली भी बोले- त्यौहारी मौसम आने वाला है। ऐसी स्थिति में लोग परेशान होंगे। दिल्ली सरकार आखिर क्या कर रही है? उसे अपना दायित्व निभाना होगा।

उधर, मंगलवार को राजधानी में कृषि भवन के बाहर लोग अपने दफ्तर का काम छोड़ सरकारी प्याज खरीदने के लिए लंबी लाइन में लगे नजर आए। सरकारी उपक्रम एनसीसीएफ की गाड़ी से प्याज की बिक्री शुरू होने से लगभग 1.30 घंटे पहले ही वे कतार लगाकर वहां प्याज लेने पहुंच गए थे।

हालांकि, प्याज के बढ़े दाम को लेकर सीएम केजरीवाल ने कहा है कि उनकी सरकार दिल्ली में मोबाइल वैन के जरिए 24 रुपए प्रति किलो प्याज बेचेगी, जिससे लोगों को थोड़ा राहत मिलेगी।

सरकार व्यापारियों पर स्टॉक रखने की सीमा लगाने पर कर सकती है विचारः खाद्य और उपभोक्ता मामले रामविलास पासवान ने मंगलवार को कहा कि अगर प्याज की खुदरा कीमतें अधिक बनी रहीं तो केंद्र सरकार प्याज व्यापारियों पर इसके स्टॉक रखने की सीमा तय करने के बारे में विचार करेगी। उन्होंने कहा कि व्यापारियों के स्टॉक रखने की सीमा को तय करने के लिए सरकार कुछ समय तक कीमत की स्थिति का इंतजार करेगी क्योंकि सरकार किसानों के हित के लिए भी समान रूप से चिंतित है।

कृषि मंत्री नरेंद्र सिंह तोमर ने आश्वस्त किया है कि अगले कुछ दिनों में प्याज की कीमतें कम होना शुरु हो जाएंगी क्योंकि नाफेड जैसी एजेंसी के माध्यम से घरेलू बाजार में आपूर्ति की स्थिति में सुधार लाया जा रहा है। उपभोक्ताओं को राहत देने के लिए, केंद्रीय एजेंसियों नेफेड और एनसीसीएफ बफर स्टॉक से लिये गये प्याज 22-23 रुपये किलो के हिसाब से बेच रहे हैं, जबकि मदर डेयरी के सफल स्टोर राष्ट्रीय राजधानी में 23.90 रुपये प्रति किलो के हिसाब से प्याज बेच रहे हैं।

व्यापारिक आंकड़ों से पता चला है कि सीमित आपूर्ति के कारण राजधानी में प्याज की खुदरा कीमत 70-80 रुपये प्रति किलोग्राम के बीच चल रही हैं। कीमत की यही स्थिति देश के अन्य हिस्सों में भी है। पासवान ने संवाददाताओं से कहा, ‘‘अभी तक हमने आपूर्ति को बढ़ाने और प्याज की कीमतों को नियंत्रित करने के लिए बेहतर संभव उपाय किए हैं। अगर मौजूदा अधिक कीमत की स्थिति बनी रहती है, तो हमें स्टॉक रखने की सीमा तय करने जैसे अन्य विकल्पों के बारे में सोचना होगा।’’

Hindi News के लिए हमारे साथ फेसबुक, ट्विटर, लिंक्डइन, टेलीग्राम पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News AppOnline game में रुचि है तो यहां क्‍लिक कर सकते हैं।

Next Stories
1 शिलान्‍यास के लिए जा रहे थे सीएम नीतीश कुमार, दिखाए गए काले झंडे, फेंकी काली स्‍याही
2 कोर्ट ने कहा- मां-बाप की देखभाल हर बच्चे का जिम्मा, ड्यूटी का बंटवारा नहीं हो सकता
3 SC ने सोशल मीडिया पर फैलते ‘जहर’ को लेकर मांगे सुझाव, जज बोले, ‘फीचर फोन पर लौटना चाहता हूं’
यह पढ़ा क्या?
X