ताज़ा खबर
 

बेटा बचाओ- विकास यादव से विकास बराला तक

हरियाणा में आज प्रदेश भाजपा अध्यक्ष सुभाष बराला के बेटे विकास बराला का एक लड़की से छेड़छाड़ और पीछा करने का मामला सुर्खियों में है। इसी हरियाणा के नेता विनोद शर्मा के बेटे मनु शर्मा का मामला भी चर्चित हुआ था। इसमें आखिरकार अदालत ने उसे सजा दी। आज भी ऐसी घटनाएं घट रही हैं और राजनीतिक रसूख और लीपापोती का तरीका अपनाया जा रहा है। देशभर में नेतापुत्रों के कारनामों पर नज
Author August 9, 2017 04:47 am
चंडीगढ़ में आईएएस अफसर की बेटी की कार का पीछा करने का आरोपी विकास बराला।

देशभर में नेतापुत्रों के मामले बढ़ते जा रहे हैं। नेताओं के इन लाडलों पर छेड़छाड़ से लेकर कत्ल तक के मामले हैं लेकिन हर जगह नेता यही बात कहते हैं कि लड़के तो लड़के हैं, इनसे गलती हो जाती हैं और इस तरह मामले को खत्म कर देते हैं। लेकिन जरूरत है कि इस बुराई को शुरू में ही दबा देने की नीति अपनाते हुए पहले ही मामले में सख्त कार्रवाई करने की। हरियाणा में आज प्रदेश भाजपा अध्यक्ष सुभाष बराला के बेटे विकास बराला का एक लड़की से छेड़छाड़ और पीछा करने का मामला सुर्खियों में है। इसी हरियाणा के नेता विनोद शर्मा के बेटे मनु शर्मा का मामला भी चर्चित हुआ था। इसमें आखिरकार अदालत ने उसे सजा दी। आज भी ऐसी घटनाएं घट रही हैं और राजनीतिक रसूख और लीपापोती का तरीका अपनाया जा रहा है। देशभर में नेतापुत्रों के कारनामों पर नजर-

मनु शर्मा

कांग्रेस के पूर्व सदस्य और हरियाणा जन चेतना पार्टी के संस्थापक विनोद शर्मा के बेटे को मॉडल जेसिका लाल हत्याकांड में उम्र कैद की सजा मिली है। 29 अप्रैल 1999 को महरौली में कुतुब कोलोनेड रेस्तरां में सोशलाइट बीना रमानी ने पार्टी दी थी। इसमें राजनीतिक विनोद शर्मा का बेटा सिद्धार्थ वशिष्ठ उर्फ मनु शर्मा अपने दोस्तों के साथ वहां पहुंचा। रात के दो बज रहे थे। तभी मनु शर्मा ने जेसिका लाल से शराब की मांग की। शराब देने का वक्त खत्म हो चुका था लिहाजा जेसिका ने मना कर दिया। इस पर तिलमिलाए मनु शर्मा ने पिस्तौल निकाली। पहली गोली हवा में दागी और दूसरी जेसिका के सिर पर। इस हत्याकांड में निचली अदालत से आरोपी बरी हो गया था लेकिन सात साल चली सुनवाई के बाद दिसंबर 2006 में हाई कोर्ट ने उसे दोषी माना और बाद में सुप्रीम कोर्ट ने अप्रैल 2010 में मनु शर्मा को उम्रकैद की सजा सही ठहराया।

रॉकी यादव

जद एकी से निलंबित महिला नेता मनोरमा देवी के बेटे रॉकी यादव पर रोडरेज में आदित्य सचदेवा नाम के युवक की हत्या का आरोप है। 7 मई 2016 को 12वीं कक्षा के छात्र आदित्य सचदेवा की गोली मारकर हत्या हुई थी। यह घटना गया जिले के रामपुर पुलिस थाने के तहत सरयू तालाब के करीब हुई थी। इस मामले में रॉकी यादव के पिता बिंदी यादव और उनके अंगरक्षक भी पकड़े गए थे। एक समाचार एजंसी के मुताबकि घटना के वक्त रॉकी के साथ उसकी मां, अंगरक्षक राजेश कुमार और उसके रिश्ते का भाई तेनी यादव भी साथ थे। बाद में हाई कोर्ट ने रॉकी यादव को जमानत दे दी थी। इसके बाद बिहार सरकार ने उसके खिलाफ सुप्रीम कोर्ट जाने का फैसला किया। सरकार का पक्ष सुनने के बाद सुप्रीम कोर्ट ने इस जमानत को हाई कोर्ट की तरफ से हुई गलती मानते हुए रोक लगा दी।

सुशील

मार्च 2016 में आंध्र प्रदेश के मंत्री रावेला किशोर बाबू के बेटे और उसके ड्राइवर को 20 साल की महिला शिक्षक से छेड़छाड़ करने के मामले में हैदराबाद में गिरफ्तार किया गया था। एक समाचार एजंसी के मुताबिक आरोप था कि आंध्र के समाज कल्याण मंत्री का बेटा सुशील और चालक एम रमेश ने अपनी कार से पीड़िता का पीछा किया, भद्दी टिप्पणियां कीं और उसे अपनी कार में खींचने की कोशिश की थी। सुशील का दावा था कि वह बेकसूर है और उसके खिलाफ मामला राजनीति से प्रेरित है। उसके पिता का कहना था कि वह इस मामले में हस्तक्षेप नहीं करेंगे। शिकायत में कहा गया था कि महिला शिक्षक स्कूल जा रही थी और उसका पीछा जिस कार से किया गया, उसमें विधायक का स्टीकर चिपका हुआ था।

विकास यादव

यूपी के बाहुबली नेता डीपी यादव का बेटा विकास यादव नीतीश कटारा हत्या मामले में सजा काट रहा है। नीतीश कटारा की 2002 में हत्या कर दी गई थी। डीपी यादव की बेटी भारती से कटारा की दोस्ती थी। बताया जाता है कि विकास यादव को यह दोस्ती नापसंद थी और उसने विशाल व सुखदेव के साथ मिल कटारा की हत्या कर दी। नीतीश कटारा हत्याकांड में सुप्रीम कोर्ट ने विकास यादव को 25 साल की सजा सुनाई वहीं, उसके सहयोगी सुखदेव पहलवान को भी 20 साल की सजा काटनी होगी। हाई कोर्ट ने अपने फैसले में कहा था कि विकास और विशाल को हत्या में 25 और सबूत नष्ट करने में पांच साल की सजा अलग-अलग काटनी होगी। सुप्रीम कोर्ट ने सोमवार को इसमें थोड़ी राहत देते हुए कहा था कि दोनों सजाएं साथ-साथ चलेंगी। हाई कोर्ट ने कहा था कि दोनों दोषियों को कम से कम 30 साल की सजा काटनी होगी। वहीं, दोषियों कहना था कि उम्रकैद की सजा में 14 साल सजा काटने के बाद सरकार सजा में छूट दे सकती है और 14 साल की सीमा के पार किसी तरह का कैप लगाना हाई कोर्ट के अधिकार में नहीं। वे इस बात को लेकर सुप्रीम कोर्ट गए। हालांकि, सुप्रीम कोर्ट ने राहत नहीं दी। सुप्रीम कोर्ट के इस रुख के बाद अब विकास को 25 साल जबकि सुखदेव को 20 की पूरी सजा काटनी होगी।

जैमिन पटेल

गुजरात के उपमुख्यमंत्री नितिन पटेल के पुत्र को इस साल मई में कतर एअरवेज की फ्लाइट में चढ़ने से इसलिए रोक दिया गया था क्योंकि जैमिन ने शराब पी रखी थी और विमान कर्मियों से बहस की थी। समाचार एजंसी के हवाले से आई खबरों में कहा गया था कि 30 साल की जैमिन की हालत ऐसी थी कि उससे चला भी नहीं जा रहा था। जैमिन ने विमान कर्मियों के साथ सहयोग से इनकार कर दिया था। इस मामले में उसके पिता ने कहा कि यह उन्हें बदनाम करने की साजिश है और उन्होंने यह भी कहा कि उनके बेटे की तरफ से कुछ भी गलत नहीं हुआ है। उन्होंने कहा कि उनका बेटा, पत्नी और पुत्री छुट्टी मनाने जा रहे थे और बेटे की तबीयत कुछ ठीक नहीं थी।

साधु सिंह

एक अखबार की खबर के मुताबिक पंजाब अकाली दल के एक नेता के लड़के साधु सिंह को 23-24 जुलाई को 17 साल की एक लड़की के अपहरण के आरोप में एक गांव से गिरफ्तार किया गया था। लड़की की मां ने पुलिस को शिकायत में कहा था कि उसकी बेटी एक हफ्ते से लापता है। किसी ने लड़की की मां को बताया कि उसे साधु ने अगवा कर लिया है। उसने इसकी खबर पुलिस को दी। पुलिस का कहना है कि आरोपी नेतापुत्र लड़की से शादी करना चाहता था।

Hindi News से जुड़े अपडेट और व्‍यूज लगातार हासिल करने के लिए हमारे साथ फेसबुक पेज और ट्विटर हैंडल के साथ गूगल प्लस पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News App

  1. No Comments.