ताज़ा खबर
 

मणिपुर में पॉलिटिकल साइंस पेपर में भाजपा का चुनाव चिह्न बनाने का सवाल, राष्ट्र निर्माण को लेकर नेहरू के बारे नकारात्मक बातें भी पूछीं

विपक्षी दल ने आरोप लगाया कि परीक्षा के जरिए छात्रों को नेहरु की नकारात्मक छवि पेश करने के लिए प्रोत्साहित किया गया।

तस्वीर का इस्तेमाल केवल प्रतीकात्मक रूप से किया गया है।

मणिपुर में कक्षा 12 के राजनीति विज्ञान के पेपर में छात्रों से एक सवाल पूछने पर विवाद पैदा हो गया है। टीओआई में छपी एक खबर के मुताबिक परीक्षा में छात्रों से भारतीय जनता पार्टी (भाजपा) के चुनाव चिन्ह (कमल) का चित्र बनाने को कहा गया। बोर्ड की परीक्षा में छात्रों से राष्ट्र निर्माण के लिए देश के पहले प्रधानमंत्री जवाहरलाल नेहरू के दृष्टीकोण से जुड़ी नकारात्मक बातें लिखने को भी कहीं गईं। प्रदेश में विपक्षी पार्टी कांग्रेस ने मणिपुर उच्च माध्यमिक शिक्षा परिषद पर भाजपा को बढ़ावा देने की कोशिश करने का आरोप लगाया है।

विपक्षी दल ने आरोप लगाया कि परीक्षा के जरिए छात्रों को नेहरु की नकारात्मक छवि पेश करने के लिए प्रोत्साहित किया गया। मणिपुर प्रदेश कांग्रेस कमिटी (PCC) के प्रवक्ता जयकिशन ने कहा, ‘सवाल छात्रों के बीच एक निश्चित राजनीतिक मानसिकता को स्थापित करने के प्रयास का हिस्सा थे।’

वहीं भाजपा प्रदेश महासचिव एन निम्बस सिंह ने कहा कि छात्रों से ‘राष्ट्र निर्माण के लिए नेहरू के दृष्टिकोण के नकारात्मक लक्षणों’ के बारे में पूछना ‘प्रासंगिक’ था क्योंकि वह देश के पहले पीएम थे। सिंह ने कहा चूंकि नेहरू ने भारत के निर्माण में भूमिका निभाई, इसलिए उनके नेतृत्व में सिस्टम में नकारात्मकता के साथ-साथ सकारात्मकता भी हो सकती थी।

मामले में सीओएचएसईएम चेयरमैन एल महेंद्र सिंह ने कहा, ‘मैंने मामले में परीक्षा नियंत्रक से बात की। उन्होंने बताया कि सवाल देश में पार्टियों के चैप्टर से लिया गया था, जोकि राजनीति विज्ञान के पाठ्यक्रम का हिस्सा है।’ इसी बीच मणिपुर विश्वविद्यालय शिक्षक संघ (MUTA) की अध्यक्ष रंजीत सिंह ने कहा, ‘इस तरह के सवाल नहीं पूछे जाने चाहिए थे। पेपर के लिए सवाल सेट करने वाला अगर इस तरह का पेपर तैयार करता है तो मॉडरेटर को उन्हें अलग रखना चाहिए था।’

सीपीआई के राष्ट्रीय कार्यकारिणी सदस्य और पूर्व विधायक मोरंगतेम नारा ने कहा, ‘इस तरह से सवालों का सेट करने का तरीका केवल राजीतिक सिद्धातों को दर्शाता है।’

Hindi News से जुड़े अपडेट और व्‍यूज लगातार हासिल करने के लिए हमारे साथ फेसबुक पेज और ट्विटर हैंडल के साथ लिंक्डइन पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News App। जनसत्‍ता टेलीग्राम पर भी है, जुड़ने के ल‍िए क्‍ल‍िक करें।

Next Stories
1 शाहीन बाग, जाफराबाद में सीएए के खिलाफ प्रदर्शन के पीछे पाकिस्तान का षड्यंत्र, बोले गिरिराज सिंह
2 Aaj Ki Baat- 24 feb | अमेरिकी राष्ट्रपति की भारत यात्रा,दिग्विजय और सिंधिया की होगी मुलाकात हर खास खबर Jansatta के साथ
3 गाजियाबाद में व्यक्ति को गले में चेन बांध कर पीटा, कुत्ते की तरह भौंकने को किया मजबूर, पुलिस पर कार्रवाई नहीं करने का आरोप