ताज़ा खबर
 

दैनिक भास्कर, भारत समाचार चैनल पर छापेमारी को लेकर बरसा विपक्ष, कहा- इतना ही डरते हो तो कुर्सी पर क्यों…?

मीडिया ग्रुप दैनिक भास्कर और भारत चैनल के दफ्तरों पर इनकम टैक्स की छापेमारी के बाद मोदी सरकार के खिलाफ विपक्ष लामबंद होता दिखाई दे रहा है।

दैनिक भास्कर समूह के कई दफ्तरों पर IT की छापेमारी। Photo Source- Jansatta Online

मीडिया ग्रुप दैनिक भास्कर और भारत समाचार चैनल के दफ्तरों पर इनकम टैक्स की छापेमारी के बाद मोदी सरकार के खिलाफ विपक्ष लामबंद होता दिखाई दे रहा है। कांग्रेस से लेकर आम आदमी पार्टी तक ने इस मीडिया को डराने का प्रयास करार दिया है। इस मामले की आंच की गर्माहट सोशल मीडिया पर भी महसूस की जा रही है। जहां तमाम बड़े पत्रकार व बुद्धिजीवी इस पर सवाल खड़े कर रहे हैं।

दिल्ली के मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल ने इसे मीडिया को डराने का प्रयास करार देते हुए बीजेपी के खिलाफ आक्रामक रुख अख्तियार करते हुए कहा कि उनका संदेश साफ़ है, जो भाजपा सरकार के खिलाफ बोलेगा, उसे बख्शेंगे नहीं। उन्होंने कहा कि ऐसी सोच बेहद ख़तरनाक है। सभी को इसके खिलाफ आवाज उठानी चाहिए।

वहीं यूथ कांग्रेस के नेशनल प्रेसिडेंट श्रीनिवास बीवी ने इसे मोदी शाह के आयकर विभाग का छापा करार देते हुए कहा कि इतना ही डरते हो तो कुर्सी पर क्यों बैठे हो।

इसके अलावा राजस्थान के मुख्यमंत्री अशोक गहलोत ने इस छापेमारी को केंद्र द्वारा मीडिया को दबाने का प्रयास बताते हुए कहा कि यह सत्तारूढ़ भाजपा की फासीवादी मानसिकता का परिचायक है। उन्होंने कहा कि मोदी सरकार अपनी रत्तीभर आलोचना भी बर्दाश्त नहीं कर सकती है। यह भाजपा की फासीवादी मानसिकता है जो लोकतंत्र में सच्चाई का आइना देखना भी पसंद नहीं करती है। उन्होंने कहा कि ऐसी कार्रवाई कर मोदी सरकार मीडिया को दबाकर संदेश देना चाहती है कि यदि गोदी मीडिया नहीं बनेंगे तो आवाज कुचल दी जाएगी।

राष्ट्रीय जनता दल ने छापेमारी की निंदा करते हुए कहा कि राज्य और केंद्र सरकार की सच्चाई और नाकामियां दिखाने के लिए दैनिक भास्कर अखबार के कई ठिकाने पर इनकम टैक्स छापेमारी कर रहा है। सत्ता शीर्ष पर बैठे तानाशाह अंदर से बहुत डरपोक है। उन्होंने कहा कि दैनिक भास्कर के ख़िलाफ प्रतिशोधात्मक कारवाई की हम निंदा करते है।

ममता बनर्जी ने इस छापेमारी को लोकतंत्र को कुचलने का प्रयास करते हुए कहा कि पत्रकारों और मीडिया घरानों पर हमला लोकतंत्र को कुचलने का एक और क्रूर प्रयास है। दैनिक भास्कर की पीठ थपथपाते हुए उन्होंने कहा कि सरकार की इस प्रतिशोधात्मक कार्रवाई की निंदा करती हूं, जोकि सत्य को दबाने की एक कोशिश है।

उल्लेखनीय है कि आयकर विभाग ने टैक्स चोरी के आरोप में मीडिया समूह दैनिक भास्कर और टीवी चैनल, भारत समाचार के कई शहरों में स्थित दफ्तरों पर बृहस्पतिवार को छापे मारे हैं। छापेमारी की यह कार्रवाई ऐसे समय में हो रही है जब एक तरफ सरकार पेगासस मामले को लेकर घिरती हुई दिखाई दे रही है। विपक्ष पेगासस को लेकर घेराव कर ही रहा था कि मीडिया समूहों पर हुई छापेमारी ने उनके तेवरों को और तल्ख कर दिया है।

Next Stories
1 जब धीरूभाई को पड़ा था दिल का दौरा, कहानी बताते हुए भावुक हो गए थे मुकेश अंबानी
2 जब प्रशांत किशोर ने बताया था राहुल गांधी के साथ मतभेदों का कारण, कार्यप्रणाली पर भी उठाया था सवाल
3 अमित शाह के नाम पर मंत्री बनवाने का झांसा देकर धन उगाही करने वाले चार गिरफ्तार
ये पढ़ा क्या?
X