ताज़ा खबर
 

पंजाब: 3 कृषि कानूनों के खिलाफ प्रदर्शन कर रहे कांग्रेस नेताओं पर पुलिस ने की पानी की बौछार, महिलाओं से भी धक्का-मुक्की

आज आल इंडिया कांग्रेस कमेटी के आह्वान पर पंजाब कांग्रेस ने राजभवन घेरने का कार्यक्रम रखा था। हालाँकि पुलिस के रोके जाने के बाद पंजाब कांग्रेस के कार्यकर्ता राजभवन तक नहीं पहुँच सके। ज्ञात हो कि पंजाब में कांग्रेस की ही सरकार है।

protest , chandigarh , punajbचंडीगढ़ में कृषि कानूनों के खिलाफ प्रदर्शन कर रहे कांग्रेस कार्यकर्ताओं पर पानी की बौछार (फोटो – PTI)

पंजाब में तीन कृषि क़ानूनों के खिलाफ विरोध कर रहे कांग्रेस नेताओं पर पुलिस ने पानी की बौछार की है। इस दौरान महिलाओं के साथ धक्का मुक्की भी की गयी। राजभवन का घेराव करने निकले कांग्रेस के नेताओं को पहले ही बैरिकेड लगाकर रोक दिया गया। आज आल इंडिया कांग्रेस कमेटी के आह्वान पर पंजाब कांग्रेस ने राजभवन घेरने का कार्यक्रम रखा था। हालाँकि पुलिस के रोके जाने के बाद पंजाब कांग्रेस के कार्यकर्ता राजभवन तक नहीं पहुँच सके। ज्ञात हो कि पंजाब में कांग्रेस की ही सरकार है।

इस मार्च की अगुवाई कर रहे कांग्रेस नेता और पूर्व मंत्री पवन बंसल ने मौजूद पुलिस अधिकारियों से कहा कि हमें राजभवन जाने दिया जाए। हम राजभवन जाकर वहां शांतिपूर्वक धरना देंगे और कोई भी तोड़ फोड़ नहीं करेंगे। पवन बंसल ने कहा कि हम किसानों के साथ हैं और किसी भी कीमत पर देश से संविधान को खत्म नहीं होने देंगे।

यह प्रदर्शन मार्च चंडीगढ़ के कांग्रेस भवन से राजभवन के बीच रखा गया था। मार्च में कांग्रेस कार्यकर्ताओं को संबोधित करते हुए प्रदेश अध्यक्ष सुनील जाखड़ ने कहा कि जिस प्रकार से कोरोना को हटाने के लिए वैक्सीन की जरुरत है उसी प्रकार से केंद्र सरकार को हटाने के लिए सशक्त लोकतंत्र की जरुरत है। 

केंद्र की भाजपा सरकार द्वारा पारित किये गए तीनों कृषि कानून के खिलाफ पिछले 51 दिन से देश भर के किसान दिल्ली से सटे अलग अलग सीमाओं पर धरना प्रदर्शन कर हैं। किसानों और सरकार के बीच जारी गतिरोध को खत्म करने के लिए 8 दौर की बातचीत हो चुकी है। लेकिन अभी तक कोई समाधान नहीं निकला है। किसान तीनों बिलों को वापस लेने की मांग पर अड़े हुए हैं। इसी बीच सुप्रीम कोर्ट ने समाधान के लिए एक कमेटी भी गठित की थी। लेकिन किसानों के भारी विरोध को देखते हुए कमेटी के सदस्य भूपिंदर सिंह मान ने समिति से इस्तीफ़ा दे दिया।

आज शुक्रवार को किसान संगठनों और केंद्र सरकार के बीच 9वें दौर की बैठक चल रही है। केंद्र सरकार की तरफ से इस बैठक में केंद्रीय कृषि मंत्री नरेन्द्र सिंह तोमर और केंद्रीय मंत्री पीयूष गोयल भी मौजूद हैं। बैठक में जाने से पहले कृषि मंत्री नरेंद्र सिंह तोमर ने मीडिया से बात करते हुए कहा कि भारत सरकार उच्चतम न्यायालय के फैसले का स्वागत करती है। इसलिए उच्चतम न्यायालय की बनाई गयी समिति जब सरकार को बुलाएगी तो हम अपना पक्ष जरुर रखेंगे।

Next Stories
1 सरकार और किसान संगठनों के बीच नौवें दौर की बैठक भी रही बेनतीजा, 19 जनवरी को अगली वार्ता
2 बंगालः कोरोना से भी खतरनाक है BJP, सत्ता में आई तो मुसलमानों की उल्टी गिनती शुरू हो जाएगी- बोलीं TMC की नुसरत, अमित मालवीय ने यूं किया पलटवार
3 13 महीने तक लड़की को कैद कर कई लोगों ने किया रेप, 5 महीने की गर्भवती नाबालिग कई बार बिकी
ये पढ़ा क्या?
X