ताज़ा खबर
 

त्रयंबकेश्वर मंदिर में घुसने की कोशिश कर रहीं महिलाओं के साथ बदसलूकी, पुलिस ने 200 पर किया केस दर्ज

जिन लोगों के खिलाफ मामला दर्ज किया गया है, उनमें त्रयंबकेश्वर मंदिर नगर परिषद के पूर्व अध्यक्ष अनघ फड़के शामिल हैं।
Author नासिक | April 20, 2016 20:11 pm
त्रयंबकेश्वर देवस्थान ट्रस्ट ने हाल ही में भगवान शिव मंदिर के गर्भगृह में महिलाओं को प्रतिदिन एक घंटे के लिए प्रवेश की अनुमति दी है। (file photo)

प्रसिद्ध त्रयंबकेश्वर मंदिर में महिलाओं के एक समूह के साथ उस समय स्थानीय लोगों के एक समूह ने कथित रूप से दुर्व्यवहार किया जब वे मंदिर के गर्भगृह में प्रवेश करने का प्रयास कर रही थीं। इसके बाद पुलिस ने करीब 200 लोगों के खिलाफ मामला दर्ज किया है। पुलिस ने बताया कि जिन लोगों के खिलाफ मामला दर्ज किया गया है, उनमें त्रयंबकेश्वर मंदिर नगर परिषद के पूर्व अध्यक्ष अनघ फड़के शामिल हैं।

पुणे स्थित स्वराज्य संगठन अध्यक्ष वनिता गुट्टे ने संवाददाताओं से कहा कि मंदिर के गर्भगृह में प्रवेश के लिए वह अपनी महिला कार्यकर्ताओं के साथ सुबह पांच बजे से ही खडी थीं। उन्होंने कहा कि हमने इसके लिए वहां के ड्रेस कोड का भी पालन किया। उन्होंने कहा कि गर्भगृह में प्रवेश सुबह छह बजे से सात बजे तक सीमित है। यह समय मंदिर ट्रस्ट ने निर्धारित किया है। कुछ स्थानीय पुजारी और महिलाएं कतार में हम लोगों से आगे खडी हो गयीं और हमें गर्भगृह में प्रवेश करने से रोकने का प्रयास किया। उन लोगों ने हमारे साथ दुर्व्यवहार भी किया।

इसके बाद कार्यकर्ताओं ने पुजारियों और महिलाओं के खिलाफ पुलिस में शिकायत दर्ज करायी। त्रयंबकेश्वर पुलिस स्टेशन के निरीक्षक एच पी कोल्हे ने कहा कि 200 लोगों के खिलाफ आईपीसी की विभिन्न धाराओं के तहत मामला दर्ज किया गया है। इनमें धारा 354 (शील भंग के इरादे से महिलाओं पर हमला) 341  (अवैध रोक) 504 (शांति बाधित करने के इरादे से जानबूझकर अपमानित करना) आदि शामिल हैं।
उन्होंने कहा कि पुलिस सीसीटीवी फुटेज देखेगी और इस संबंध में कार्रवाई करेगी। त्रयंबकेश्वर देवस्थान ट्रस्ट ने हाल ही में भगवान शिव मंदिर के गर्भगृह में महिलाओं को प्रतिदिन एक घंटे के लिए प्रवेश की अनुमति दी है। लेकिन इसके लिए कपड़ों के संबंध में शर्तें भी रखी गयी हैं।

Hindi News से जुड़े अपडेट और व्‍यूज लगातार हासिल करने के लिए हमारे साथ फेसबुक पेज और ट्विटर हैंडल के साथ गूगल प्लस पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News App

  1. No Comments.