ताज़ा खबर
 

अर्बन नक्‍सल विवाद: ‘ए‍क था टाइगर’ में रॉ चीफ का रोल करने वाले एक्‍टर के खिलाफ शिकायत

अमरुतेश ने कहा कि कोई प्रतिबंधित संगठन का बैनर लेकर उसे सपोर्ट कैसे कर सकता है? बेंगलुरु की हलसुरु गेट पुलिस मामले की जांच कर रही है।

मशहूर फिल्म अभिनेता और नाटककार गिरीश कर्नाड। (express photo)

शुक्रवार को फिल्म अभिनेता और मशहूर नाटककार गिरीश कर्नाड के खिलाफ पुलिस में शिकायत दर्ज करायी गई है। यह शिकायत अर्बन नक्सल का समर्थन करने के आरोप में एक वकील द्वारा दर्ज करायी गई है। एक था टाइगर फिल्म में रॉ चीफ का किरदार निभाने वाले गिरीश कर्नाड 5 सितंबर को पत्रकार-कार्यकर्ता गौरी लंकेश की मृत्यु की पहली बरसी पर विरोध स्वरुप Mee Too Urban Naxal (मैं भी अर्बन नक्सल) लिखा हुआ प्लेकार्ड लेकर पहुंचे थे। इसी के चलते बेंगलुरु के एक वकील अमरुतेश एनपी ने गिरीश कर्नाड के खिलाफ पुलिस में शिकायत दर्ज करायी है। अपनी शिकायत में वकील अमरुतेश एनपी ने लिखा है कि “अर्बन नक्सली, वो लोग हैं, जो देश के खिलाफ विद्रोह करते हैं। इसलिए गिरीश कर्नाड को तुरंत गिरफ्तार किया जाना चाहिए।”

वकील का कहना है कि ‘नक्सलवाद का समर्थन करने वाला प्लेकार्ड पकड़कर कर्नाड नक्सलियों का समर्थन और हिंसा, अपराध को बढ़ावा दे रहे हैं।’ पीटीआई से बातचीत में अमरुतेश ने कहा कि कोई प्रतिबंधित संगठन का बैनर लेकर उसे सपोर्ट कैसे कर सकता है? बेंगलुरु की हलसुरु गेट पुलिस मामले की जांच कर रही है। बता दें कि गौरी लंकेश की मौत की पहली बरसी के कार्यक्रम में उनके घर पर गिरीश कर्नाड समेत बड़ी संख्या में मानवाधिकार और सामाजिक कार्यकर्ता पहुंचे थे। बता दें कि गौरी लंकेश की पिछले साल कुछ लोगों ने गोली मारकर हत्या कर दी थी। इस दौरान कार्यक्रम में शामिल होने वाले लोगों ने माओवादियों से संबंध के आरोप में नजरबंद किए गए 5 कार्यकर्ताओं के मुद्दे पर भी अपनी नाराजगी जाहिर की और इसका विरोध किया।

HOT DEALS
  • BRANDSDADDY BD MAGIC Plus 16 GB (Black)
    ₹ 16199 MRP ₹ 16999 -5%
    ₹1620 Cashback
  • Honor 7X Blue 64GB memory
    ₹ 16010 MRP ₹ 16999 -6%
    ₹0 Cashback

बता दें कि पुणे पुलिस ने बीती 29 अगस्त को देशभर में छापेमारी कर 5 लोगों को गिरफ्तार किया था। ये गिरफ्तारी भीमा कोरेगांव हिंसा के संबंध में की गईँ थी। गिरफ्तार किए गए लोगों में वारावरा राव, वेरनॉन गोंजाल्वेस, सुधा भारद्वाज, गौतम नवलखा और अरुण फेरेरा शामिल थे। बाद में सुप्रीम कोर्ट ने गिरफ्तार लोगों को उनके घर में नजरबंद करने का आदेश दिया था। इससे पहले जून में भी पुणे पुलिस ने रोना विल्सन, सुरेंद्र गाडलिंग, सुधीर धावले, शोमा सेन, महेश राउत और राना जैकब को भीमा कोरेगांव हिंसा से संबंधों के आरोप में गिरफ्तार किया था। बाद में पुलिस जांच के दौरान विल्सन के लैपटॉप से पुलिस को राजीव गांधी की तरह पीएम मोदी की हत्या की साजिश रचने के संबंध में एक पत्र भी हासिल हुआ था। गौरतलब है कि श्रीराम सेना और हिंदू जन जाग्रति समिति ने भी गिरीश कर्नाड के खिलाफ पुलिस में शिकायत दर्ज करायी है और उनके खिलाफ कानूनी कारवाई करने की मांग की है।

Hindi News से जुड़े अपडेट और व्‍यूज लगातार हासिल करने के लिए हमारे साथ फेसबुक पेज और ट्विटर हैंडल के साथ गूगल प्लस पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News App