BJP विधायक और पार्टी कार्यकर्ता गिरफ्तार, महिला पुलिस सब इंस्पेक्टर से दुर्व्यवहार का आरोप

वाघमरे साल 2009 से पहले भाजपा में शामिल हुए तुमसर से साल 2014 में भाजपा टिकट पर विधानसभा चुनाव जीता। इससे पहले वो शिवसेना और एनसीपी से जुड़े रहे।

crime
तस्वीर का इस्तेमाल केवल प्रतीकात्मक रूप से किया गया है।

महाराष्ट्र में भंडारा शहर की पुलिस ने तुमसर से भाजपा विधायक चरण वाघमरे और पार्टी तुमसर यूनिट अध्यक्ष अनिल जिभक्ते को गिरफ्तार किया है। दोनों नेताओं पर इस महीने एक सार्वजनिक कार्यक्रम में महिला पुलिस सब-इंस्पेक्टर संग दुर्व्यवहार का आरोप है। गिरफ्तारी के विरोध में दोनों नेताओं के समर्थकों ने रविवार को तुमसर में बंद बुलाया है

तुमसर पुलिस इस्पेक्टर मनोज सिदम ने बताया, ‘वाघमरे और जिभक्ते के खिलाफ ड्यूटी के वक्त सरकारी अधिकारी संग दुर्व्यवहार करने के चलते आईपीसी की विभिन्न धाराओं के तहत केस दर्ज किया गया है।’ पुलिस के मुताबिक घटना 16 सितंबर के दिन उस वक्त घटी जब एक कार्यक्रम में तुमसर के मजदूरी को सुरक्षा उपकरण वितरित किया जा रहे थे। सिदम ने बताया, ‘हमने पुलिस अधिकारी द्वारा आरोपियों के खिलाफ शिकायत दर्ज कराने के बाद मामले में बारीकी से जांच की। जांच में आरोपों की पुष्टि होने के बाद दो नेताओं को गिरफ्तार किया गया।’ भाजपा नेताओं की गिरफ्तार के बाद स्थानीय अदालत ने उन्हें दस अक्टूबर तक न्यायिक हिरासत में भेज दिया गया।

इसी बीच अपना नाम सार्वजनिक ना करने की शर्त पर भाजपा के एक वरिष्ठ नेता ने बताया कि वाघमरे पार्टी की आंतरिक राजनीति के शिकार है। कुछ नेताओं ने उन्हें सक्रिय राजनीति से बाहर करने चाहते हैं। नेता ने बताया, ‘वाघमरे ने जमानत नहीं लेने का निर्णय लिया है और वह तब तक जेल में ही रहेगी जब तक बाइज्जत बरी नहीं हो जाते।’

जानना चाहिए कि भाजपा नेता पर दुर्व्यवहार का आरोप लगाने वाली महिला सब इंस्पेक्टर ने मामले में एफआईआर दर्ज कराई और उनकी गिरफ्तारी की मांग की। हालांकि पुलिस ने तब उन्हें गिरफ्तार नहीं किया था। वहीं विधायक ने कहा कि उन्हें आगामी विधानसभा चुनाव की परवाह नहीं है और तब तक जेल से बाहर नहीं आएंगे जब तक निर्दोष साबित नहीं हो जाते।

भाजपा जिला अध्यक्ष प्रदीप पडोले ने कहा, ‘वाघमरे का दावा है कि उन्होंने कोई अपराध नहीं किया। मगर जब से महिला पुलिस अधिकारी ने उनपर आरोप लगाए हैं हमें कानून को अपना काम करने देना होगा। हमें नहीं पता कि सच्चाई क्या है मगर वाघमरे ने कोई अपराध नहीं किया है तो वो निर्दोष बाहर आएंगे।’

उल्लेखनीय है कि वाघमरे साल 2009 से पहले भाजपा में शामिल हुए तुमसर से साल 2014 में भाजपा टिकट पर विधानसभा चुनाव जीता। इससे पहले वो शिवसेना और एनसीपी से जुड़े रहे।

पढें राष्ट्रीय समाचार (National News). हिंदी समाचार (Hindi News) के लिए डाउनलोड करें Hindi News App. ताजा खबरों (Latest News) के लिए फेसबुक ट्विटर टेलीग्राम पर जुड़ें।

अपडेट