ताज़ा खबर
 

सीएम बिप्‍लब देब के खिलाफ न्‍यूज शेयर की, युवक को अरेस्‍ट कर ले गई पुलिस

त्रिपुरा के सीएम बिप्लब कुमार देब के खिलाफ स्थानीय न्यूज वेबसाइट पर प्रकाशित खबर को फेसबुक पर पोस्ट करने के आरोप में एक युवक को गिरफ्तार किया गया। हालांकि, बाद में कोर्ट ने उसे जमानत दे दी।

Author November 26, 2018 11:50 AM
त्रिपुरा के मुख्यमंत्री बिप्लब देब (एक्सप्रेस अर्काइव फोटो)

देबराज देब

पश्चिमी त्रिपुरा के गांधीग्राम इलाके में रहने वाले एक युवक को पुलिस ने शनिवार (24 नवंबर) की रात उसके घर से गिरफ्तार कर लिया। युवक के ऊपर राज्य के मुख्यमंत्री बिप्लब कुमार देब के खिलाफ स्थानीय न्यूज वेबसाइट पर प्रकाशित खबर को फेसबुक पर पोस्ट करने का आरोप है। एडीजी स्मृति रंजन दास ने कहा, “दीपक देबनाथ, जिसकी उम्र 32 साल है, को न्यू कैपिटल कांप्लेक्स पुलिस थाने के अधिकारियों की टीम द्वारा उसके घर से गिरफ्तार किया गया है।” देबनाथ गांधीग्राम क्षेत्र के राजनगर गांव का रहने वाला है, जो कि त्रिपुरा की राजधानी अगरतल्ला से करीब 7 किलोमीटर दूर है। यह गिरफ्तारी उसी क्षेत्र के रहने वाले एक स्थानीय द्वारा पुलिस में शिकायत के बाद की गई है।

शिकायतकर्ता काजल देय ने देबनाथ पर सोशल मीडिया के माध्यम से अफवाह फैलाने का आरोप लगाया है। हालांकि, कोर्ट में पेशी के बाद देबनाथ को 30 हजारा रुपये के सिक्योरिटी बांड पर जमानत दे दी गई। इंडियन एक्सप्रेस डॉट कॉम से बात करते हुए देबनाथ के वकील भास्कर देबबर्मा ने कहा कि उनके क्लाइंट ने स्थानीय न्यूज वेबसाइट पर पब्लिश खबर जिसमें ‘बिप्लब देब के बांग्लादेशी’ होने का दावा किया गया था, को शेयर किया। वकील ने कहा, “एक स्थानीय न्यूज वेबसाइट पर न्यूज पब्लिश किया गया था। यदि मेरे क्लाइंट ने इसे फेसबुक पेज पर शेयर किया तो वह कैसे दोषी है?”

इससे पहले, 22 अक्टूबर को राजीब देय नामक व्यक्ति पर कथित तौर पर मुख्यमंत्री बिप्लब कुमार देब को लेकर एक आपत्तिजनक पोस्ट बनाने के मामले में शिकायत दर्ज करवाई गई थी। वहीं, 21 अगस्त को राज्य के पूर्व मुख्यमंत्री मानिक सरकार और रोज वैली ग्रुप के चेयरमैन गौतम कुंडू के फोटोशॉप्ड तस्वीरें फेसबुक पर अपलोड की गई थी। इस तस्वीर के साथ लिखा हुआ था, “अगरतल्ला की गलियों में भिखारियों की पकड़ में दो चोर।” इसके माध्यम से चिट फंड घोटाले में सरकार के हाथ होने के आरोप का इशारा किया गया था। उसी फेसबुक यूजर ने सरकार और प्रदेश कांग्रेस अध्यक्ष बिराजित सिन्हा पर पॉलिटिकल मर्डर में हाथ होने का आरोप लगाते हुए फोटाशॉप्ड तस्वीर सोशल मीडिया पर अपलोड किया था। हालांकि, पुलिस न तो उस यूजर को पकड़ पाई और न गिरफ्तार कर सकी।

Hindi News से जुड़े अपडेट और व्‍यूज लगातार हासिल करने के लिए हमारे साथ फेसबुक पेज और ट्विटर हैंडल के साथ गूगल प्लस पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News App