ताज़ा खबर
 

कुमार विश्वास को मिला संदेश, सोनू सूद की तरह देखना चाहती है जनता, जवाब दिया- चमचे तोड़ना चाहते हैं मनोबल

कुमार विश्वास का समर्थन करते हुए एक यूजर ने कहा, "खड़े रहने का सबसे ज्यादा मजा तब है, जब पूरी दुनिया झुकाने में लगी हो। सर आपका कार्य बेहद प्रशंसनीय है, आपका सेवा भाव सर्वोपरि है इस मुश्किल समय में।"

Edited By कीर्तिवर्धन मिश्र नई दिल्ली | Updated: May 12, 2021 12:13 PM
कुमार विश्वास (फोटोसोर्स- इंडियन एक्सप्रेस)

भारत में कोरोनावायरस संक्रमण की रफ्तार तेजी से बढ़ती जा रही है। इस बीच लोगों की मदद के लिए सिलेब्रिटी से लेकर आम जनता भी आगे आ रही है। कवि डॉक्टर कुमार विश्वास भी ऐसे समाजसेवियों में शामिल हैं, जो लगातार अपने ट्विटर हैंडल से पीड़ित लोगों की मदद के लिए आवाज उठा रहे हैं। हालांकि, इस संकट के समय में भी कुछ लोग उन्हें ट्रोल करने की कोशिश में जुट गए हैं। अब कुमार विश्वास ने खुद ऐसे ही एक ट्रोल को जवाब दिया है।

ट्रोल से मिला कुमार विश्वास को संदेश: कवि कुमार विश्वास ने सोशल मीडिया पर एक स्क्रीनशॉट शेयर किया है। इसमें एक व्यक्ति उनसे फ्रंटलाइन पर न रहने के लिए सवाल करता है। कुमार विश्वास ने इस व्यक्ति की पहचान नहीं उजागर की है। संदेश में लिखा है, “आशा है आप सकुशल होंगे…आप एक्टिव नहीं दिखे तो ये ख्याल आया…वैसे आपको अभी सोनू सूद की तरह फ्रंटलाइन पर देखना चाह रही थी…लोगों के दिल के और भी करीब हो जाते आप…शेष परमात्मा कुशल करें।”

कुमार विश्वास ने दिया ट्रोल को जवाब?: इस संदेश पर कुमार विश्वास ने लिखा, ““तुम्हारी बज़्म से बाहर भी एक दुनिया है, मेरे हुज़ूर बड़ा जुर्म है ये बेख़बरी।” असफल नेता और उनके चमचे अलग-अलग भेष में आकर आपका मनोबल इसलिए तोड़ना चाह रहे है ताकि परेशान जनता उनकी सरकारों से सवाल न पूछ सके।पर टीम कुमार विश्वास हम न मैदान छोड़ेंगे न पीठ दिखाएँगे। लड़ेंगे जीतेंगे।”

ट्विटर यूजर्स ने की विश्वास के काम की तारीफ: कुमार विश्वास को ट्रोल करने की इस कोशिश पर ट्विटर यूजर्स उनके समर्थन में आ गए। विकास कुमार झा नाम के यूजर ने कहा, “तेज आंधी में अंधेरों के सितम सहते रहे, रात को फिर भी चिरागों से शिकायत कुछ है। कुमार विश्वास सर आप अपना सर्वश्रेष्ठ कर रहे हैं। पूरा देश आपके साथ है।”

एक और यूजर @SanjayK94528136 ने कहा, “जो नेता दिन रात काम कर रहे, वे बाहर मीडिया में बकवास नही कर रहे क्योंकि इस समय उनके पास वक़्त नही है लेकिन कुछ तो दिन रात ही बकवास कर रहे और अपनी हर गलती, निकम्मेपन के लिए केन्द्र को कोष रहे। अरे नेताओं, अभी जान बच लो, चुनाव में गाली देने की आदत एस्प लोगों को है ही, खूब देना!!”

यूजर माधव झा ने कहा, “किसी रोज़ जब इतिहास दुनिया के सबसे बड़े दुश्मन का ज़िक्र करेगा तो उसके ख़िलाफ़ खड़े सबसे बड़े योद्धाओं में आप भी होंगे सर। जब सरकारें चुप थीं। बड़े लोग अपनी अपनी तिजोरियों की ओर पीठ कर बालकनी से तमाशा देख रहे थे तब आप लोगों की हलक में सांसे फूंक रहे थे।” एक और यूजर शिव कुमार ने कहा, “खड़े रहने का सबसे ज्यादा मजा तब है, जब पूरी दुनिया झुकाने में लगी हो। सर आपका कार्य बेहद प्रशंसनीय है, आपका सेवा भाव सर्वोपरि है इस मुश्किल समय में।”

Next Stories
1 बहती लाशें देख आस्था आहत नहीं हो रही? कुछ तो कहिए, पीएम की तारीफ ही कर दीजिए- रवीश कुमार ने किया तंज, लोग कर रहे ऐसे कमेंट्स
2 सकारात्मक बातें करने पर ज़ोर देंगी मोदी सरकार और बीजेपी, डेली बुलेटिन में भी कोविड टेस्ट पॉज़िटिव के बजाय निगेटिव की संख्या बताने पर विचार
3 Coronavirus India HIGHLIGHTS: लगातार चौथे दिन कोरोना के 4 लाख से कम केस, पर मौतों का आंकड़ा चार हजार के ऊपर, फिर बढ़े उपचाराधीन मरीज
यह पढ़ा क्या?
X