ताज़ा खबर
 

ब्रिटिश जेल में बंद नीरव मोदी ने जज से मांगा लैपटॉप, कहा- पढ़ना है भारत सरकार के 5000 पन्नों का आरोप

कोर्ट ने कहा कि मामले से जुड़े दस्तावेजों के लिए वह जो कर सकते हैं उसे जरूर करेंगे। नीरव ने वीडियो कॉन्फ्रेसिंग के जरिए कोर्ट में पेशी दी।

पीएनबी धोखाधड़ी और धनशोधन के मामले में भगोड़े हीरा कारोबारी नीरव मोदी। (Photo: ANI)

PNB Scam: ब्रिटिश जेल में बंद 13000 करोड़ रुपये के पंजाब नेशनल बैंक (पीएनबी) घोटाले के आरोपी हीरा कारोबारी नीरव मोदी ने लैपटॉप की मांग की है। नीरव ने प्रत्यर्पण मामले की सुनवाई कर रही वेस्टमिंस्टर मजिस्ट्रेट कोर्ट से कहा कि उन्हें भारत सरकार द्वारा लगाए 5000 पन्नों के आरोपों को पढ़ना है इसलिए उन्हें लैपटॉप मुहैया कराया जाए। नीरव ने कहा कि उन्हें लैपटॉप में इंटरनेट कनेक्शन नहीं चाहिए। इस पर कोर्ट ने कहा कि मामले से जुड़े दस्तावेजों के लिए वह जो कर सकते हैं उसे जरूर करेंगे। नीरव ने वीडियो कॉन्फ्रेसिंग के जरिए कोर्ट में पेशी दी।

सुनवाई के दौरान कोर्ट ने नीरव की रिमांड को 25 जुलाई तक के लिए बढ़ा दिया। बता दें कि नीरव की चार बार जमानत अर्जी खारिज हो चुकी है। कोर्ट को लगता है कि यह हीरा कारोबारी ब्रिटेन से भाग सकता है। व आखिरी बार 12 जून को यूके हाईकोर्ट ने जमानत की अपील नामंजूर की थी। भारत की प्रत्यर्पण अपील पर 19 मार्च की नीरव की लंदन में गिरफ्तारी हुई थी। 48 साल का नीरव 13000 करोड़ रुपये के पंजाब नेशनल बैंक घोटाले और मनी लॉन्ड्रिंग के मामले में मार्च में गिरफ्तारी के बाद से लंदन की वंड्सवर्थ जेल मे कैद है।

4 बैंकों खातों में जमा 60 लाख डॉलर सीज: नीरव मोदी और उसकी बहन पूर्वी मोदी के स्विट्जरलैंड स्थित चार बैंक खातों को सीज कर दिया गया है। इन बैंक खातों में जमा 60 लाख डॉलर जमा है, जिनकी अब वह निकासी नहीं कर सकता। स्विट्जरलैंड सरकार की तरफ से यह कार्रवाई प्रवर्तन निदेशालय (ईडी) के आग्रह के बाद की गई है।

मालूम हो कि एक सप्ताह के भीतर पीएनबी घोटाले में यह दूसरी बड़ी सफलता है। इससे पहले भारत के दबाव के बाद एंटीगुआ सरकार इस मामले में हीरा कारोबारी मेहुल चोकसी की नागरिकता रद्द कर उसे सौंपने को तैयार हो गई थी।

Next Stories
1 ‘2 बार मारी थी गोली, पीछे से सिर में फिर सामने से आंख पर’, 6 साल बाद बोला दाभोलकर हत्याकांड का आरोपी
2 बम की धमकी: एयर इंडिया विमान की लंदन में इमरजेंसी लैंडिंग, ब्रिटिश फाइटर जेट्स ने दी सुरक्षा
3 चीन के खिलाफ भारत की मदद चाहते हैं अमेरिकी राष्ट्रपति ट्रंप! ट्रेड वॉर से अटक सकती है बात
यह पढ़ा क्या?
X